यूपी पुलिस

(फोटो साभार: ट्विटर/यूपी पुलिस)

उत्तर प्रदेश: हिरासत में मौत, पुलिस और स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप पर हत्या का मुक़दमा दर्ज

उत्तर प्रदेश के अमेठी ज़िले के पीपरपुर क्षेत्र में एक बैंक कर्मचारी से 26 लाख रुपये लूटे जाने के मामले में पूछताछ के मक़सद से हिरासत में लिए गए एक व्यक्ति की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी. अमेठी ज़िलाधिकारी ने बताया कि मामले की मजिस्ट्रेट और विभागीय जांच के आदेश दिए गए हैं.

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

महाराष्ट्र: हिरासत में युवक की मौत, पांच पुलिसकर्मियों को निलंबित किया गया

उत्तर प्रदेश के अमेठी में भी हिरासत में मौत का मामला सामने आया. परिजन ने पुलिस पर ज़हर खिलाने का आरोप लगाया. बैंक कर्मचारी से 26 लाख रुपये की लूट के मामले में पुलिस ने हिरासत में लिया था.

इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह. (फोटो: पीटीआई)

बुलंदशहर हिंसा: इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या के आरोपी की मूर्ति लगाई गई

बुलंदशहर में तीन दिसंबर 2018 को कथित गोकशी को लेकर भड़की हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या कर दी गई थी. हिंसा में सुमित की भी मौत हो गई थी, जिसे बाद में पुलिस ने सुबोध कुमार सिंह की हत्या का आरोपी बनाया था.

विधायक कुलदीप सिंह सेंगर. (फोटो साभार: फेसबुक)

उन्नाव बलात्कार पीड़िता दुर्घटना: सीबीआई ने कुलदीप सेंगर के ख़िलाफ़ हत्या का आरोप हटाया

सीबीआई ने शुक्रवार को दिल्ली की अदालत को बताया कि उन्नाव बलात्कार पीड़िता का 2017 में कथित रूप से अपहरण करने के बाद तीन लोगों ने अलग-अलग जगहों पर ले जाकर नौ दिन तक उसका बलात्कार किया और उस समय वह नाबालिग थी.

पुष्पेंद्र यादव. (फोटो साभार: ट्विटर)

यूपी: एनकाउंटर का आरोप लगा परिवार का शव लेने से इनकार, पुलिस ने युवक का अंतिम संस्कार किया

उत्तर प्रदेश के झांसी का मामला. मृतक के परिजनों ने कहा कि युवक की हत्या की गई. सपा ने यूपी पुलिस पर लगाया फर्जी एनकाउंटर का आरोप. झांसी पुलिस ने युवक द्वारा बालू अवैध खनन में शामिल होने का दावा किया गया है.

Muzaffarnagar

यूपी: गैंगरेप पीड़िता ने की आत्महत्या, कथित तौर पर केस वापस लेने का दबाव बना रहे थे आरोपी

मुज़फ़्फ़रनगर ज़िले के बेहड़ी गांव की 24 वर्षीय सामूहिक बलात्कार पीड़िता से क़रीब एक साल पहले तीन लोगों ने बलात्कार किया था और तब से आरोपी ज़मानत पर हैं. आत्महत्या करने से पहले पीड़िता ने अपने हाथ पर आरोपियों के नाम लिखे थे.

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

उत्तर प्रदेशः किसान की जेल में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत, तहसीलदार को पद से हटाया गया

उत्तर प्रदेश के बदायूं ज़िले का मामला. ​परिजनों का आरोप है कि जेल में किसान को प्रताड़ित किया गया, जिससे उनकी मौत हो गई. कथित तौर पर बिजली चोरी का जुर्माना न चुका पाने पर किसान को जेल में डाल दिया गया था.

विधायक कुलदीप सिंह सेंगर. (फोटो साभार: फेसबुक)

सेंगर द्वारा कथित बलात्कार के बाद उन्नाव पीड़िता से तीन लोगों ने किया था गैंगरेप: सीबीआई

सीबीआई द्वारा दायर ताजा चार्जशीट के मुताबिक, इन तीनों आरोपियों ने भाजपा के निष्कासित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर द्वारा उन्नाव पीड़िता का बलात्कार किए जाने के लगभग हफ्ते भर बाद पीड़िता से बलात्कार किया था.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ उत्तर प्रदेश पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह. (फोटो साभार: ट्विटर)

यूपी में रह रहे अवैध बांग्लादेशी और विदेशी नागरिकों की पहचान के लिए अभियान चलाए पुलिस: डीजीपी

हाल ही में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने असम एनआरसी की तारीफ़ करते हुए कहा था कि असम में इसका कार्यान्वयन उत्तर प्रदेश के लिए उदाहरण का काम करेगा. उनके अनुभव का इस्तेमाल करते हुए हम इसे यहां चरणबद्ध रूप में शुरू कर सकते हैं.

प्रतीकात्मक तस्वीर.

उन्नाव रेप पीड़िता को दिल्ली में नहीं मिल रहा किराए का घर

उन्नाव बलात्कार पीड़िता के वकील ने दिल्ली की एक अदालत को बताया कि मकान मालिक मामले की वजह से किराए पर घर देने के लिए तैयार नहीं हैं. इसके बाद अदालत ने दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष को परिवार को दिल्ली में आवास उपलब्ध कराने के लिए कहा.

Lucknow: BJP MLA from Unnao Kuldip Singh Sengar, accused in a rape case, surrounded by media persons outside the office of the Senior Superintendent of Police in Lucknow on Wednesday night. PTI Photo by Nand Kumar(PTI4_12_2018_000001B)

उन्नाव रेप पीड़िता एम्स से डिस्चार्ज, सड़क हादसे की जांच के लिए सीबीआई को मिला दो हफ्ते का समय

बीते 28 जुलाई को उत्तर प्रदेश में रायबरेली के पास सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल उन्नाव रेप पीड़िता को मंगलवार देर शाम एम्स से छुट्टी दे दी गई. सुरक्षा कारणों से अदालत ने पीड़िता और उसके परिवार को दिल्ली में ही रहने का आदेश दिया. इस मामले में भाजपा से निष्कासित किए गए विधायक कुलदीप सिंह सेंगर आरोपी हैं.

Lucknow: BJP MLA from Unnao Kuldip Singh Sengar, accused in a rape case, surrounded by media persons outside the office of the Senior Superintendent of Police in Lucknow on Wednesday night. PTI Photo by Nand Kumar(PTI4_12_2018_000001B)

उन्नाव रेप: कोर्ट ने यूपी सरकार से पूछा, पीड़िता की सुरक्षा के लिए क्या क़दम उठाए गए

दिल्ली की एक अदालत ने उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव को एक हफ्ते के भीतर एक रिपोर्ट दाख़िल कर बलात्कार पीड़िता, उसकी मां, दो बहनों और भाई को सुरक्षित स्थान पर भेजने के लिए उठाए जाने वाले क़दमों के बारे में बताने को कहा है.

Uttar Pradesh Police Atrocity

उत्तर प्रदेश: बाइक के काग़ज़ात न दिखा पाने पर युवक को बेरहमी से पीटा, दो पुलिसकर्मी निलंबित

उत्तर प्रदेश के सिद्धार्थनगर ज़िले का मामला. युवक की शिकायत के बाद सब इंस्पेक्टर वीरेंद्र मिश्र और हेड कॉन्स्टेबल महेंद्र प्रसाद के ख़िलाफ़ एफआईआर दर्ज की गई है.

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

उत्तर प्रदेश की जेलों में बंद करीब 300 कश्मीरी अन्य कैदियों से अलग बैरकों में रखे गए

जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा खत्म किए जाने के बाद हिरासत में लिए गए घाटी के 285 लोगों को उत्तर प्रदेश की विभिन्न जेलों में रखा गया है. आगरा के केंद्रीय कारागार के 1933 कैदियों में 85 कश्मीर घाटी से लाए गए कैदी हैं. हालांकि, आगरा के केंद्रीय कारागार की कुल स्वीकृत क्षमता केवल 1,350 है.

Sambhal

पश्चिम उत्तर प्रदेश: बच्चा चोरी की अफ़वाह ज़ोरों पर, भीड़ ने दो भाइयों को पीटा, एक की मौत

उत्तर प्रदेश के सम्भल ज़िले में दो भाई अपने बीमार भतीजे का इलाज कराने जा रहे थे, जब भीड़ ने उन पर हमला कर दिया. इसमें एक भाई की मौत हो गई. पुलिस ने बताया कि बच्चा चोरी की अफ़वाह फैलाने के आरोप में तकरीबन 44 लोगों को अलग-अलग घटनाओं में गिरफ़्तार किया गया है.

एंटी रोमियो स्क्वॉड रेड कार्ड. (फोटो साभार: सोशल मीडिया)

नोएडा पुलिस महिलाओं से छेड़छाड़ करने वालों को जारी करेगी रेड कार्ड

नोएडा पुलिस इस पहल के तहत स्कूलों और कॉलेजों में फीडबैक फॉर्म का वितरण करेगी, जिसमें महिलाओं से सुझाव मांगे जाएंगे कि वह उन क्षेत्रों के बारे में बताएं, जहां एंटी रोमियो स्क्वाड की जरूरत है.

Prashant Kanojia

‘अभिव्यक्ति की आज़ादी संविधान ने दी है, किसी राजनीतिक दल ने नहीं’

वीडियो: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर कथित आपत्तिजनक पोस्ट लिखने के कारण गिरफ़्तार हुए पत्रकार प्रशांत कनौजिया से सृष्टि श्रीवास्तव की बातचीत.

वीडियो ग्रैब. (फोटो साभार: एएनआई)

यूपी: शामली में पत्रकार की पिटाई मामले में चार जीआरपी कर्मियों पर मामला दर्ज

शामली में मंगलवार की रात पटरी से उतरी मालगाड़ी पर स्टोरी करने गए न्यूज 24 के पत्रकार अमित शर्मा की जीआरपी जवानों ने गाली देते हुए पिटाई कर दी थी. सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि वे इस मामले पर रिपोर्ट तलब करेंगे.

फोटो: द वायर

संपादकीय: अभिव्यक्ति पर अंकुश

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ख़िलाफ़ कथित आपत्तिजनक टिप्पणियों के लिए हुई गिरफ़्तारियां विभिन्न राज्यों की सरकारों द्वारा आम लोगों की आवाज़ दबाने के लिए क़ानून के दुरुपयोग के पैटर्न का ही हिस्सा है.

वीडियो ग्रैब. (फोटो साभार: एएनआई)

यूपी: ट्रेन हादसे को कवर करने गए पत्रकार को जीआरपी कर्मियों ने पीटा, एसएचओ समेत दो सस्पेंड

मामला शामली शहर के धीमानपुरा फाटक के पास का है. पटरी से उतरी मालगाड़ी पर स्टोरी करने गए न्यूज 24 के पत्रकार अमित शर्मा की जीआरपी पुलिसवालों ने गाली देते हुए पिटाई कर दी. पिटाई करने के आरोपी जीआरपी एसएचओ राकेश कुमार और कॉन्‍स्‍टेबल संजय पवार को सस्‍पेंड कर दिया गया है.

कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी (फोटो: कुमारस्वामी फेसबुक)

कर्नाटक: मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी को गाली देने के आरोप में दो लोग गिरफ़्तार

सोशल मीडिया पर अपलोड किए गए एक वीडियो में दो युवक कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी और उनके परिवार को कथित तौर पर गाली देते हुए नज़र आए थे.

(फोटो: पीटीआई)

उत्तर प्रदेश: मेरठ में पुलिस ने थाने के अंदर ट्रांसजेंडरों पर किया लाठीचार्ज

यह घटना मेरठ के लाल कुर्ती पुलिस स्टेशन की है. अधिकारियों का दावा है कि यह कार्रवाई तब की गई जब उन्होंने लोगों से मिले उपहार को बांटने को लेकर दूसरे समूह के साथ झगड़ा शुरू कर दिया.

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी. (फोटो: पीटीआई)

मेरे ख़िलाफ़ दुष्प्रचार कर रहे पत्रकारों पर कार्रवाई हो तो चैनलों में स्टाफ कम हो जाएगा: राहुल

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के ख़िलाफ़ कथित आपत्तिजनक टिप्पणियों को लेकर तीन पत्रकारों को गिरफ़्तार करने पर राहुल गांधी ने कहा कि योगी आदित्यनाथ मूर्खतापूर्ण व्यवहार कर रहे हैं. पत्रकारों को तत्काल रिहा किया जाए.

Media Bol 10 06

मीडिया बोल: पत्रकारों की गिरफ़्तारी, यूपी पुलिस की योगी-शैली

मीडिया बोल की इस कड़ी में उर्मिलेश उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ख़िलाफ़ कथित आपत्तिजनक कंटेट प्रसारित करने को लेकर तीन पत्रकारों की गिरफ़्तारी पर वकील विराग गुप्ता और प्रेस क्लब ऑफ इंडिया के अध्यक्ष अनंत बागाईतकर से चर्चा कर रहे हैं.

प्रशांत कनौजिया.

योगी के ख़िलाफ़ पोस्ट के आरोप में गिरफ़्तार पत्रकार को तुरंत रिहा करने का आदेश

स्वतंत्र पत्रकार प्रशांत कनौजिया को रिहा करने का आदेश देते हुए सुप्रीम कोर्ट ने कहा, ‘नागरिक की स्वतंत्रता पवित्र है और इससे समझौता नहीं किया जा सकता है. इसे संविधान द्वारा सुनिश्चित किया गया है और इसका उल्लंघन नहीं किया जा सकता है.’

Yogi Adityanath PTI

योगी के ख़िलाफ़ आपत्तिजनक पोस्ट को लेकर तीन दिन में पांच लोग गिरफ़्तार

हालिया गिरफ़्तारी उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से हुई है. यहां पर पीर मोहम्मद और राम प्रसाद नाम नाम के दो लोगों को गिरफ़्तार किया गया है.

प्रशांत कनौजिया.

योगी के ख़िलाफ़ टिप्पणी: पत्रकार की गिरफ़्तारी पर मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई

जस्टिस इंदिरा बनर्जी और जस्टिस अजय रस्तोगी की पीठ स्वतंत्र पत्रकार प्रशांत कनौजिया की पत्नी जगीशा अरोड़ा द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई करेगी.

New Delhi: Uttar Pradesh Chief Minister Yogi Adityanath addresses on the second day of the two-day BJP National Convention, at Ramlila Ground in New Delhi, Saturday, Jan 12, 2019. (PTI Photo/Kamal Kishore)(PTI1_12_2019_000148B)

योगी के ख़िलाफ़ कथित आपत्तिजनक पोस्ट: पत्रकारों की गिरफ़्तारी की पत्रकार संगठनों ने की निंदा

उत्तर प्रदेश पुलिस ने शनिवार को तीन पत्रकारों प्रशांत कनौजिया, इशिका सिंह और अनुज शुक्ला को गिरफ़्तार किया है.

Moradabad: Uttar Pradesh Chief Minister Yogi Adityanath attends a function at Dr BR Ambedkar Police Academy, in Moradabad on Monday, July 9, 2018. (PTI Photo) (PTI7_9_2018_000114B)

योगी के ख़िलाफ़ कथित आपत्तिजनक कंटेंट प्रसारित करने वाले टीवी चैनल हेड, संपादक गिरफ़्तार

उत्तर प्रदेश के नोएडा स्थित ‘नेशन लाइव’ न्यूज चैनल ने एक परिचर्चा आयोजित की थी, जिसमें एक महिला द्वारा मुख्यमंत्री आदित्यनाथ पर लगाए गए कथित अपमानजनक आरोपों पर चर्चा की गई थी. एक राजनीतिक दल की शिकायत पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने चैनल की हेड इशिका सिंह और उसके संपादक अनुज शुक्ला को गिरफ़्तार कर लिया.

प्रशांत कनौजिया.

योगी आदित्यनाथ को लेकर कथित आपत्तिजनक पोस्ट लिखने पर पत्रकार गिरफ़्तार

द वायर में काम कर चुके पत्रकार प्रशांत कनौजिया को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ख़िलाफ़ कथित आपत्तिजनक पोस्ट लिखने के चलते यूपी पुलिस द्वारा शनिवार सुबह दिल्ली में उनके घर से गिरफ़्तार किया गया है. हालांकि, यूपी पुलिस गिरफ़्तारी से इनकार कर रही है.

Moradabad: Uttar Pradesh Chief Minister Yogi Adityanath attends a function at Dr BR Ambedkar Police Academy, in Moradabad on Monday, July 9, 2018. (PTI Photo) (PTI7_9_2018_000114B)

सामूहिक बलात्कार और आत्मदाह मामला: यूपी सरकार और डीजीपी को एनएचआरसी का नोटिस

उत्तर प्रदेश के हापुड़ ज़िले में कथित तौर पर सामूहिक बलात्कार के बाद पुलिस द्वारा कार्रवाई न किए जाने पर एक महिला ने आत्मदाह कर लिया था. दिल्ली महिला आयोग ने इस संबंध में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखा था जिसके बाद पुलिस ने गांव के सरपंच सहित 14 लोगों के ख़िलाफ़ ​केस दर्ज किया है.

Hapud

यूपी: गैंगरेप मामले में म​​हिला ने आत्मदाह किया, दिल्ली महिला आयोग की दख़ल के बाद केस दर्ज

दिल्ली महिला आयोग ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लिखा था पत्र. सरपंच सहित 14 लोगों के ख़िलाफ़ केस दर्ज. पुलिस के केस दर्ज न करने पर महिला ने किया आत्मदाह. आरोप है कि महिला को 10 हज़ार रुपये में एक व्यक्ति को बेच दिया गया था, जिसने कई लोगों से क़र्ज़ लिया था. वह महिला को क़र्ज़ देने वालों के यहां घरेलू काम के लिए भेजा करता था, जहां महिला का यौन शोषण किया गया.

गौरव सिंह. (फोटो: फेसबुक)

निलंबित बीएचयू छात्र की कैंपस में गोली मारकर हत्या

23 वर्षीय गौरव सिंह बनारस हिंदू विश्वविद्यालय से मास्टर्स से पढ़ाई कर रहा था. लंका पुलिस ने बुधवार को गौरव के पिता की तहरीर पर बीएचयू चीफ प्रॉक्टर समेत पांच लोगों के खिलाफ नामजद और तीन अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है.

मृतक के परिवार के साथ पुलिस (फोटो: राजा चौधरी)

उत्तर प्रदेश: होलिका दहन की रात मुस्लिम बुज़ुर्ग की हत्या

यह मामला सोनभद्र ज़िले के ओबरा थाना के परसोई गांव का है. पुलिस ने सात लोगों को गिरफ़्तार किया है. ताज़िया रखने के लिए बनाए गए चबूतरे के पास संघ की शाखा चलाने को लेकर था विवाद.

darul uloom deoband wikimedia commons

दारुल उलूम देवबंद का निर्देश, गणतंत्र दिवस पर यात्रा करने से बचें मदरसे के छात्र

दारुल उलूम के प्रभारी ने बताया, ‘दो साल पहले गणतंत्र दिवस के मौके पर पुलिस ने मदरसे के छात्रों को हिरासत में लिया था और मीडिया ने उन्हें आतंकी बता दिया था. हालांकि अगले ही दिन उन्हें छोड़ दिया गया, लेकिन मीडिया ने नहीं बताया कि उसने ग़लत जानकारी चला दी थी. दारुल उलूम नहीं चाहता कि ऐसी कोई घटना दोबारा हो.’

गाज़ीपुर में प्रदर्शन करते लोग. (फोटो साभार: एएनआई)

गाज़ीपुर में प्रधानमंत्री की रैली के बाद प्रदर्शनकारियों के पथराव में एक कॉन्स्टेबल की मौत

पुलिस ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम के कारण राष्ट्रीय निषाद पार्टी के कार्यकर्ता प्रदर्शन कर रहे थे. कार्यक्रम के बाद कार्यकर्ताओं ने कई जगहों पर जाम लगा दिया और रैली से लौट रहे वाहनों पर पथराव करने लगे. पथराव में घायल होने से कॉन्स्टेबल की मौत हो गई.

Hyderabad: AIMIM chief Asaduddin Owaisi addressing the media in Hyderabad on Thursday, Sept 27, 2018. (PTI Photo) (PTI9_27_2018_000211B)

यूपी पुलिस कांवड़ियों पर फूल बरसाती है और मुस्लिमों का नमाज़ पढ़ना शांति में बाधा है: ओवैसी

भाजपा ने कहा कि ओवैसी मानसिक दिवालियेपन का शिकार हैं. उन्हें तथ्यों की जानकारी नहीं है. प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार क़ानून व्यवस्था को सर्वोपरि मानती है और नोएडा पुलिस ने जो कुछ भी किया, ठीक किया.

Gurugram: Muslims offer first Friday namaz during the holy month of Ramadan, in Gurugram, on Friday. (PTI Photo) (PTI5_18_2018_000129B)

नोएडा पुलिस का आदेश, खुले में नमाज़ पढ़ने से कर्मचारियों को रोके कंपनियां

नोएडा पुलिस ने सेक्टर-58 में स्थित कई कंपनियों को नोटिस भेजकर कहा कि अगर कर्मचारी सार्वजनिक स्थलों पर नमाज़ पढ़ते पाए गए तो इसके लिए संस्थान को ज़िम्मेदार ठहराया जाएगा.

Arfa Siddharth Bulandshahr talk

उत्तर प्रदेश में गुंडाराज: इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह को कब मिलेगा इंसाफ़?

उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर में कथित गोकशी के बाद भड़की भीड़ ने इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या कर दी. राज्य में पसरे गुंडाराज पर द वायर के संस्थापक संपादक सिद्धार्थ वरदराजन से चर्चा कर रही हैं आरफ़ा ख़ानम शेरवानी.

इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह. (फोटो: पीटीआई)

सुबोध कुमार सिंह उस राजनीति का शिकार हुए, जो अपने फायदे के लिए ज़हर पैदा करती है

एक ऐसी भीड़ है, जिसे नफ़रत की बातों से प्रोगाम किया जा चुका है. ये हर तरफ खड़ी है, ज़रा सी अफ़वाह की चिंगारी से एक्शन में आ जाती है. किसी को घेर लेती है, मार देती है और इससे हिंसा की जवाबदेही किसी नेता पर नहीं आती.