लोहिया

राम मनोहर लोहिया (जन्म: 23 मार्च 1910 - अवसान: 12 अक्टूबर 1967).

लोहिया को उनके अनुयायियों से कौन बचाए?

समाजवादियों ने उनके समाजवाद का कॉरपोरेटीकरण कर उसे भाई-भतीजावादी पूंजीवाद का सगा बनाकर, उसे अस्मिता, जाति, वंश व परिवार के कॉकटेल में बदल आमजन के लिए वैसे ही निरर्थक कर डाला है, जैसे संकीर्णतावादियों ने गांधी के रामराज्य को.

डॉ. राम मनोहर लोहिया. (जन्म: 23 मार्च 1910 - अवसान: 12 अक्टूबर 1967)

राम मनोहर लोहिया: सच्चे लोकतंत्र की शक्ति सरकारों के उलट-पुलट में बसती है

जन्मदिन विशेष: लोहिया कहते थे कि किसी शख़्सियत का जन्मदिन मनाने या उसकी मूर्ति लगाने से, उसके निधन के 300 साल बाद तक परहेज रखना चाहिए ताकि इतिहास निरपेक्ष होकर यह फैसला कर पाए कि वह इसकी हक़दार थी या नहीं.

indira_cow_calf_symbol

…द्वार खड़ी औरत चिल्लाए, मेरा मरद गया नसबंदी में

चुनावी नारों की भारत की राजनीति में बड़ी भूमिका रही है. जुमलेबाजी के इस दौर में एक निगाह डालते हैं उन नारों पर जो नेता से लेकर जनता के बीच काफी चर्चित रहे.