वाम दल

जदयू नेता केसी त्यागी. (फोटो द वायर)

बिहार: मतगणना पूरी होने से पहले बोले जदयू प्रवक्ता- तेजस्‍वी ने नहीं, प्राकृतिक आपदा ने हराया

मतगणना के रुझानों में महागठबंधन को बढ़त मिलने के बाद जदयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता केसी त्यागी ने एक टीवी चैनल से बात करते हुए कहा कि न तो ब्रांड नीतीश गायब हुआ है और न ही तेजस्‍वी यादव स्‍थापित हुए हैं.

Shaikpura: Bihar Chief Minister Nitish Kumar waves at a gathering during an election meeting, in Shaikpura, Thursday, Oct. 15, 2020. (PTI Photo)(PTI15-10-2020 000194B)

बिहार विधानसभा चुनाव के पहले चरण के 1,065 प्रत्याशियों में से 153 करोड़पति

बिहार विधानसभा चुनाव राउंडअप: सत्तारूढ़ राजग के 60 और विपक्षी महागठबंधन के 58 फ़ीसदी उम्मीदवार करोड़पति हैं. योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कांग्रेस और राजद जाति-धर्म और परिवार की राजनीति करते हैं. सचिन पायलट ने कहा कि बिहार में कांग्रेस-राजद की सरकार बनेगी. शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि वह राजनीति को अलविदा नहीं कह रहे. चिराग पासवान ने वोटकटवा कहने पर भाजपा नेताओं की आलोचना की.

New Delhi: Rashtriya Janata Dal (RJD) leader Tejashwi Yadav during a press conference at the party office in New Delhi on Saturday, Aug 11, 2018. (PTI Photo/Ravi Choudhary)(PTI8_11_2018_000084B)

नीतीश कुमार ने चिराग पासवान के साथ अन्याय किया: तेजस्वी यादव

बिहार विधानसभा चुनाव राउंडअप: राजद नेता तेजस्वी यादव के 10 लाख नौकरियां देने के वादे पर तंज़ करते हुए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि कुछ लोग बिना ज्ञान के ही नौकरियां देने का वादा कर रहे हैं. चिराग पासवान ने कहा कि जदयू से अधिक सीटें जीतेगी लोजपा. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बिहार चुनाव के लिए कांग्रेस का ‘थीम सॉन्ग’ जारी किया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और चिराग पासवान. (फाइल फोटो: पीटीआई)

चिराग पासवान ने कहा- प्रधानमंत्री गठबंधन धर्म निभाएं, मैं उन्हें धर्मसंकट में नहीं डालना चाहता

बिहार विधानसभा चुनाव राउंडअप: कांग्रेस से चुनाव मैदान में उतरे शत्रुघ्न सिन्हा के बेटे लव सिन्हा ने कहा पिता की हार का बदला लेने के लिए चुनाव नहीं लड़ रहा. राजद ने धांधली की आशंका जताते हुए चुनाव आयोग को ज्ञापन सौंपा. पी. चिदंबरम द्वारा धारा 370 की बहाली के संबंध में दिए बयान पर भाजपा ने कांग्रेस पर बोला हमला.

(फोटो: द वायर)

विशेष राज्य का दर्जा मिलने पर ही बिहार को बेरोज़गारी और ग़रीबी से छुटकारा मिलेगा: केसी त्यागी

साक्षात्कार: बिहार विधानसभा चुनाव से पहले बनते-बिगड़ते राजनीतिक गठजोड़ के बीच जदयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता केसी त्यागी का दावा है कि एनडीए दोबारा सत्ता में आ रही है और नीतीश कुमार ही मुख्यमंत्री बनेंगे. उनसे विशाल जायसवाल की बातचीत.

बिहार चुनाव के लिए संकल्पपत्र जारी करते राजद नेता तेजस्वी यादव (दाएं) और कांग्रेस महासचिव रणदीप सुरजेवाला (मध्य). (फोटो: पीटीआई)

बिहार चुनाव: महागठबंधन ने संकल्प-पत्र जारी किया, भाजपा ने लोजपा को वोटकटवा क़रार दिया

बिहार में उद्योग न लगने के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के तर्क पर राजद नेता तेजस्वी यादव ने साधा निशाना. नीतीश कुमार ने कहा है कि ​पिछले 15 सालों में बिहार में स्थितियां बदली हैं.

नीतीश कुमार और अमित शाह के साथ रामविलास पासवान और चिराग पासवान. (फाइल फोटो: पीटीआई)

बिहार: ‘मोदी से कोई बैर नहीं, नीतीश तेरी ख़ैर नहीं’ वाली लोजपा की रणनीति कितनी कारगर होगी

चिराग पासवान के नेतृत्व वाली लोजपा ने बिहार चुनाव में एनडीए गठबंधन से अलग होकर चुनाव लड़ने का फ़ैसला किया है. राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि यह भाजपा के अंदरखाने का गणित है, जहां वह सत्ता की चाभी नीतीश कुमार से छीनकर अपने पास रखना चाहती है.

(बाएं से दाएं) चिराग पासवान, राम विलास पासवान, अमित शाह, नीतीश कुमार. (फोटो: ट्विटर/@irvpaswan)

बिहार: जदयू के ख़िलाफ़ उम्मीदवार उतारेगी लोजपा, चुनाव बाद भाजपा को देगी समर्थन

चिराग पासवान के नेतृत्व वाली लोक जनशक्ति पार्टी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में बिहार विधानसभा चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया. लोजपा ने कहा कि पार्टी चाहती है कि भाजपा राज्य में भविष्य की सरकार का नेतृत्व करे और उसके विधायक इस उद्देश्य के लिए काम करेंगे.

(फोटो: पीटीआई)

सुप्रीम कोर्ट ने श्रमिकों के काम के घंटे बढ़ाने वाले गुजरात सरकार के आदेश को ख़ारिज किया

गुजरात सरकार द्वारा 17 अप्रैल 2020 को जारी उस अधिसूचना को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई थी, जिसके तहत मज़दूरों के कई अधिकारों को रद्द कर दिया गया था. कोर्ट ने कहा कि महामारी का हवाला देकर मज़दूरों के सम्मान और उनके अधिकारों के लिए बने क़ानूनों को ख़त्म नहीं किया जा सकता.

बिहार चुनाव की तारीखों की घोषणा करते मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा. (फोटो: पीटीआई)

बिहार: 28 अक्टूबर से तीन चरणों में होंगे विधानसभा चुनाव, मतगणना 10 नवंबर को

नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली बिहार की 243 सदस्यीय विधानसभा का वर्तमान कार्यकाल 29 नवंबर को ख़त्म हो रहा है. चुनाव के लिए तीन चरणों में 28 अक्टूबर, 03 और 07 नवंबर को मतदान होगा. चुनाव कार्यक्रम की घोषणा के साथ ही राज्य में चुनाव आचार संहिता लागू हो गई है.

(फोटो: रॉयटर्स)

महामारी के बीच श्रम सुधार के नाम पर लाए गए तीन क़ानूनों का विरोध क्यों हो रहा है

मोदी सरकार द्वारा लाए गए नए श्रम क़ानूनों में जहां एक ओर सामाजिक सुरक्षा के दायरे में ऐसे विभिन्न कामगारों को लाया गया है, जो अब तक इसमें नहीं थे, वहीं दूसरी ओर हड़ताल के नियम कड़े किए गए हैं. साथ ही नियोक्ता को बिना सरकारी मंज़ूरी के कामगारों को नौकरी देने और छंटनी के लिए अधिक छूट दी गई है.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार. (फोटो: पीटीआई)

क्या कोरोना के दौर में बिहार में चुनाव कराना लोगों की ज़िंदगी से खिलवाड़ करना नहीं है

यह सही है कि समय पर चुनाव करवाना चुनाव आयोग की ज़िम्मेदारी है, मगर जिस राज्य में महामारी का आलम ये हो कि मुख्यमंत्री ही तीन महीने बाहर न निकलें, वहां सात करोड़ मतदाताओं के साथ एक माह तक चुनाव प्रक्रिया चलाना बीमारी के जोखिम को और बढ़ा सकता है.

Patna: Bihar Chief Minister Nitish Kumar adjusts the turban during 'Virat Chhatra Sanagam', in Patna, Thursday, Oct 11, 2018. (PTI Photo) (PTI10_11_2018_000050B)

बिहार चुनाव: विपक्षी दलों ने चुनाव आयोग से वर्चुअल प्रचार अभियान पर रोक लगाने की मांग की

विपक्षी दलों ने सत्तारूढ भाजपा-जदयू गठबंधन द्वारा ज़ोर-शोर से की जा रहीं वर्चुअल रैलियों के ख़िलाफ़ चुनाव आयोग से गुहार लगाते हुए कहा है कि बिहार विधानसभा चुनाव पूरी तरह से डिजिटल माध्यम से नहीं हो सकता है. डिजिटल अभियान पर किए जाने वाले ख़र्च की सीमा तय की जानी चाहिए.

राजद के तेजस्वी यादव, लेफ्ट के कन्हैया कुमार और कांग्रेस के मदन मोहन झा. (फोटो: पीटीआई/रॉयटर्स/ट्विटर)

बिहार चुनाव: कांग्रेस, वाम, राजद और नागरिक संगठनों का साथ आना वक़्त की ज़रूरत है

देश के आम नागरिक, गैर-दलीय राजनीतिक कार्यकर्ता, कांग्रेस सहित सामाजिक न्याय के पक्षधर क्षेत्रीय दल और वाम दल सभी चाहते हैं कि मिलकर संघर्ष किया जाए. वे इस बात के लिए तैयार हैं कि भाजपा की विखंडनकारी और तानाशाही प्रवृतियों के ख़िलाफ़ यह लड़ाई चुनावी मोर्चे के साथ राष्ट्र-निर्माण के लिए भी हो.

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

आईएलओ ने प्रधानमंत्री से की अपील, कहा- भारत की अंतरराष्ट्रीय श्रम प्रतिबद्धताओं को बरकरार रखें

देश के 10 केंद्रीय मजदूर संगठनों ने आईएलओ को पत्र लिखकर गुजारिश की थी कि वे विभिन्न राज्यों में श्रम कानूनों में हो रहे बदलावों को लेकर हस्तक्षेप करें और श्रमिकों की सुरक्षा को सुनिश्चित करें.