वाहन सेक्टर में मंदी

HONDA-PROTEST The Wire

हरियाणा: क्यों पिछले कई दिनों से हड़ताल पर बैठे हैं होंडा कंपनी के हजारों मजदूर

वीडियो: हरियाणा के मानेसर में होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया प्राइवेट लिमिटेड (एचएमएसआई) ने मंदी का हवाला देते हुए 200 से अधिक मजदूरों को नौकरी से हटा दिया. इसे लेकर लगभग 2500 ठेका मजदूर पिछले 15 दिनों से आंदोलन कर रहे हैं.

A man stands on the roof of Maruti Suzuki's plant at Manesar, in Haryana August 21, 2012.  REUTERS/Mansi Thapliyal/Files

मारुति सुजुकी ने लगातार नौवें महीने उत्पादन में कटौती की

मारुति सुजुकी इंडिया ने अक्टूबर में अपने उत्पादन में 20.7 फीसदी की कटौती की है. कंपनी ने इस महीने 1,19,337 वाहनों का उत्पादन किया, जबकि पिछले साल इसी महीने 1,50,497 वाहनों का उत्पादन किया था.

(फोटो साभार: फेसबुक)

हरियाणा: ठेका कर्मचारियों को निकालने के विरोध में होंडा मोटरसाइकिल संयंत्र में हड़ताल

होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया के मानेसर संयंत्र में करीब 2,500 ठेका कर्मचारियों ने मंगलवार को हड़ताल की. ये सभी 400 ठेका कर्मचारियों को संयंत्र से निकाले जाने का विरोध कर रहे थे.

Frankfurt: Cars of the car manufacturer Mercedes are displayed at the IAA Auto Show in Frankfurt, Germany, Tuesday, Sept. 10, 2019. AP/PTI(AP9_10_2019_000097B)

यात्री वाहनों की बिक्री में लगातार 11वें महीने गिरावट, सितंबर में बिक्री क़रीब 24 प्रतिशत घटी

वाहन कंपनियों के संगठन सियाम ने कहा घरेलू बाज़ार में यात्री वाहनों की बिक्री सितंबर महीने में 23.69 प्रतिशत गिरकर 2,23,317 कारों पर आ गई. पिछले साल इसी महीने 2,92,660 यात्री वाहनों की बिक्री हुई थी.

(फोटो: रॉयटर्स)

सितंबर महीने में कारों की बिक्री में बड़ी गिरावट, 17 से 55 फीसदी तक आई कमी

सितंबर महीने में देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया की बिक्री 24.4 फीसदी, महिंद्रा की बिक्री 21 फीसदी, अशोक लेलैंड की बिक्री 55 फीसदी और टोयोटा किर्लोस्कर की बिक्री 17 फीसदी तक घट गई.

A man stands on the roof of Maruti Suzuki's plant at Manesar, in Haryana August 21, 2012.  REUTERS/Mansi Thapliyal/Files

ओला और उबर जैसी सेवाओं का होना आर्थिक मंदी के लिए कोई बड़ा कारण नहीं: मारुति

देश के सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी ने कहा है कि युवा आबादी में ओला, उबर सेवाओं का इस्तेमाल बढ़ना आर्थिक मंदी का कोई ठोस कारण नहीं है बल्कि इसके विपरीत इस संबंध में किसी निष्कर्ष पर पहुंचने के लिए एक विस्तृत अध्ययन किये जाने की आवश्यकता है.

New Delhi: Finance Minister Nirmala Sitharaman addresses a press conference after presenting the Union Budget 2019-20, in New Delhi, Friday, July 5, 2019. (PTI Photo/Manvender Vashist) (PTI7_5_2019_000138B)

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, ऑटो सेक्टर में मंदी के लिए ओला, उबर भी जिम्मेदार

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के 100 दिन पूरे होने पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री पर बीएस6 और लोगों की सोच में आए बदलाव का असर पड़ रहा है, लोग अब गाड़ी खरीदने की बजाय ओला या उबर जैसी कैब सर्विस को तरजीह दे रहे हैं.

(फोटो: रॉयटर्स)

ऑटो क्षेत्र में मंदी से 3000 से अधिक अस्थायी कर्मचारियों की नौकरी गई: मारुति सुजुकी

मारुति सुजुकी के चेयरमैन आरसी भार्गव ने कहा कि सरकार को इस बारे में सकारात्मक कदम उठाने चाहिए. वहीं, ऑटो क्षेत्र में मंदी को देखते हुए टीवीएस समूह ने अपने मैन्युफैक्चरिंग यूनिट को दो दिन और हीरो मोटोकॉर्प ने चार दिन के लिए बंद करने का फैसला किया है.