वेतन भुगतान

पवन हंस हेलीकॉप्टर. (फोटो: रॉयटर्स)

जेट और किंगफिशर के बाद पवन हंस पर आर्थिक संकट, कर्मचारियों को नहीं मिला वेतन

हेलीकॉप्टर सेवा देने वाली सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी पवन हंस के प्रबंधन ने कहा कि वित्त वर्ष 2018-2019 में कंपनी की आर्थिक हालत काफी ख़राब हो गई है और कंपनी 89 करोड़ रुपये का घाटा झेल रही है.

raghubar das twitter

‘चौकीदार’ रघुबर दास के झारखंड में 10,000 चौकीदारों को चार महीने से नहीं मिला वेतन

नियम के मुताबिक हर एक चौकीदार एक थाना के तहत 10 गांवों की निगरानी करता है. प्रत्येक चौकीदार को 20,000 रुपये का वेतन मिलता है.