सांप्रदायिक बयानबाजी

योगी आदित्यनाथ और मायावती.(फोटो: पीटीआई)

योगी आदित्यनाथ पर तीन दिन और मायावती पर दो दिन के लिए चुनाव प्रचार करने पर प्रतिबंध

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और बसपा प्रमुख मायावती द्वारा चुनाव प्रचार के दौरान सांप्रदायिकता से जुड़े बयान की शिकायतों पर चुनाव आयोग ने संज्ञान लिया है. योगी ने ‘अली’ और ‘बजरंग बली’ से जुड़ा बयान दिया था, जबकि मायावती ने मुस्लिम मतदाताओं से एक पार्टी विशेष को वोट नहीं देने की अपील की थी.

(फोटो: पीटीआई)

चुनावों में सांप्रदायिक बयानबाज़ी रोकने की शक्ति नहीं है हमारे पास: चुनाव आयोग

सुप्रीम कोर्ट में आयोग ने कहा कि हम सिर्फ नोटिस जारी करके जवाब मांग सकते हैं. हमें किसी पार्टी के पहचान को रद्द करने या उम्मीदवार को अयोग्य ठहराने का अधिकार नहीं है.

गुजरात में वोट डालने के बाद नरेंद्र मोदी. (फोटो: ट्विटर/नरेंद्र मोदी)

मोदी के आचार संहिता उल्लंघन पर विपक्ष ने चुनाव आयोग को घेरा, रोड शो जांच के दायरे में

विपक्षी दलों ने चुनाव आयोग पर लगाया भाजपा की कठपुतली के रूप में काम करने का आरोप, भाजपा का पलटवार, राहुल बोले- विश्वसनीयता के संकट से गुज़र रहे हैं मोदी.