सीवान

पेंटिंग: शबनम गिल

जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष चंद्रशेखर की हत्या के दोषियों की उम्रक़ैद की सज़ा बरक़रार

दो बार जेएनयू छात्रसंघ के अध्यक्ष रहे चंद्रशेखर की 31 मार्च 1997 को बिहार के सीवान शहर में एक जनसभा को संबोधित करने के दौरान हत्या कर दी गई थी.

मोहम्मद शहाबुद्दीन के बेटे यूसुफ. (फोटो साभार: एएनआई)

बिहार से पूर्व सांसद शहाबुद्दीन के भतीजे की गोली मारकर हत्या

हत्या के बाद से बिहार के सीवान शहर में तनाव. पुलिस ने एहतियात के तौर पर अतिरिक्त सुरक्षाबलों की तैनाती की. अपराधियों की पहचान और हत्या के कारणों का अभी पता नहीं चल सका है.

बिहार के पूर्व सांसद शहाबुद्दीन और पत्रकार राजदेव रंजन. (फोटो: पीटीआई)

पत्रकार राजदेव रंजन हत्याकांड: पूर्व सांसद शहाबुद्दीन व अन्य छह आरोपियों के विरुद्ध आरोप तय

सीबीआई की चार्जशीट के अनुसार, दिसंबर 2014 में एक स्थानीय अख़बार में ख़बर के कारण पूर्व सांसद शहाबुद्दीन ने पत्रकार राजदेव रंजन की हत्या की साज़िश रची थी.

564378_417603028287330_1938121132_n

चंद्रशेखर की हत्या करने वाली बंदूक ‘धर्मनिरपेक्ष’ थी

चंद्रशेखर ने कहा था, ‘हां, मेरी व्यक्तिगत महत्वाकांक्षा है- भगत सिंह की तरह जीवन, चे ग्वेरा की तरह मौत.’ उनके दोस्त कहते हैं कि चंदू ने अपना वायदा पूरा किया.