सेवादल-कांग्रेस

इलाहाबाद में कांग्रेस सेवादल के सदस्यों के साथ जवाहरलाल नेहरू. (साभार: विकीपीडिया)

कभी जिससे अंग्रेज़ डरा करते थे, कांग्रेस का वह सेवादल अपनी आख़िरी सांसें गिन रहा है

ऐसे समय में जब कांग्रेस रास्ता खोज रही है, उसे अपने संगठन की ओर देखना चाहिए और उस लोकतांत्रिक प्रक्रिया को बहाल करना चाहिए, जिसे 1969 के बाद लगातार ख़त्म किया जाता रहा है.