स्वच्छता अभियान

The Prime Minister, Shri Narendra Modi offers flower petals at Mahatma Gandhi bust, at the Sabarmati Ashram, in Ahmedabad, Gujarat on June 29, 2017.

क्या प्रधानमंत्री मोदी गांधी के विचारों की हत्या कर रहे हैं?

गांधी के विचार उनकी मृत्यु के बाद भी संघ की कट्टरता की विचारधारा के आड़े आते रहे, इसलिए अपने पहले कार्यकाल में ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गांधी के सारे मूल्यों को ताक में रखकर उनके चश्मे को स्वच्छता अभियान का प्रतीक बनाकर उन्हें स्वच्छता तक सीमित करने का अभियान शुरू कर दिया था.

Bhopal: BJP candidate Sadhvi Pragya Singh Thakur addresses a party workers meeting for Lok Sabha polls, in Bhopal, Thursday, April 18, 2019. (PTI Photo) (PTI4_18_2019_000241B)

हम नाली, शौचालय साफ कराने के लिए सांसद नहीं बने हैं: प्रज्ञा ठाकुर

मध्य प्रदेश के सीहोर में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए भाजपा सांसद ने कहा कि हम नाली साफ करवाने के लिए नहीं बने हैं. हम आपका शौचालय साफ करने के लिए बिल्कुल नहीं बनाए गए हैं. हम जिस काम के लिए बनाए गए हैं, वो काम हम ईमानदारी से करेंगे.

स्वच्छ भारत मिशन (फोटो: swachhbharatmission.gov.in)

स्वच्छ भारत: शौचालयों के अपशिष्ट निस्तारण का इंतज़ाम न होने से भूजल दूषित होने का ख़तरा

रिपोर्ट के मुताबिक भारत में लगभग 14.4 करोड़ घरेलू शौचालयों के 72 करोड़ लोगों के इस्तेमाल से प्रतिदिन औसतन एक लाख टन अपशिष्ट निकलता है. इसके उचित निस्तारण के इंतजाम नहीं होने पर अपशिष्ट से जमीन और भूजल के दूषित होने का खतरा है.

abhishek manu singhvi

भाजपा ने सार्वजनिक विमर्श की गरिमा को गिराया है: कांग्रेस

कांग्रेस ने प्रधानमंत्री को बताया सीरियल एब्यूजर, कहा- प्रधानमंत्री अपशब्दों का प्रयोग करते हैं और उनके मंत्री ताली बजाते हैं. भाजपा बोली, मोदी विपक्षी हमलों के पीड़ित.

(फोटो: पीटीआई)

विवेकानंद ने कहा था- क्या खाएं, क्या नहीं खाएं, यह हमारी संस्कृति का हिस्सा नहीं: मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि देश में वंदे मातरम कहने का सबसे पहला हक़ सफाई कार्य करने वालों को है.

नर्मदा सेवा यात्रा समापन समारोह में शिरकत करते प्रधानमंत्री मोदी और मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान. (फोटो: पीआईबी)

मोदी की सभा में भीड़ जुटाने के लिए इस्तेमाल हुआ ‘स्वच्छता अभियान’ का पैसा

कांग्रेस का आरोप है कि अमरकंटक में आयोजित नर्मदा सेवा यात्रा के लिए मध्य प्रदेश सरकार ने सरकारी ख़जाना लुटाकर प्रधानमंत्री की सभा के लिए बटोरी भीड़.