Bihar Elections

चिराग पासवान. (फोटो: ट्विटर/@iChiragPaswan)

अयोध्या में राम मंदिर की तर्ज पर चिराग पासवान ने बिहार में सीता मंदिर बनवाने का वादा किया

बिहार विधानसभा चुनाव राउंडअप: महागठबंधन के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार तेजस्वी यादव ने कहा कि नीतीश कुमार ऊर्जाविहीन हो चुके हैं. उनकी पकाऊ, थकाऊ, उबाऊ, बासी और घिसी-पिट्टी बातों से जनता पक चुकी है. भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने महागठबंधन को विकास विरोधी क़रार देते हुए कहा कि राजद के स्वभाव में ही अराजकता है.

श्रीनारायण सिंह. (फोटो साभार: फेसबुक)

बिहार: प्रचार के दौरान प्रत्याशी की हत्या, समर्थकों ने एक हमलावर को पीट-पीटकर मार डाला

बिहार के शिवहर विधानसभा क्षेत्र का मामला. मृतक श्रीनारायण सिंह जनता दल राष्ट्रवादी के प्रत्याशी थे. हमले में उनके एक समर्थक की भी मौत हो गई है. पुलिस ने इसे निजी दुश्मनी का मामला बताया है.

Tej IV 24 October.00_42_57_02.Still003

बिहार में बेरोज़गारी से बड़ा कोई आतंक नहीं है: तेजस्वी यादव

वीडियोः बिहार विधानसभा चुनाव के मद्देनज़र महागठबंधन की ओर से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार और राजद नेता तेजस्वी यादव से द वायर की सीनियर एडिटर आरफ़ा ख़ानम शेरवानी की बातचीत.

सुनीता देवी के पैर टखने के पास बेतरतीब तरीके से मुड़ गए हैं.

बिहार: फ्लोराइड से बर्बाद होती पीढ़ियां चुनावी मुद्दा क्यों नहीं है

ग्राउंड रिपोर्ट: गया शहर से 8 किलोमीटर दूर चूड़ी पंचायत के चुड़ामननगर में कमोबेश हर परिवार में कम से कम एक व्यक्ति पानी से मिले फ्लोराइड के चलते शरीर में आई अक्षमता से प्रभावित है. बड़े-बड़े चुनावी वादों के बीच इस क्षेत्र के लोगों को साफ़ पीने के पानी जैसी बुनियादी सुविधा भी मयस्सर नहीं है.

2307 Gondi.00_37_26_13.Still128

मीडिया बोल: बिहार चुनाव में मीडिया का किरदार और कश्मीर टाइम्स की मुसीबत

वीडियोः बिहार विधानसभा चुनाव की गहमागहमी जारी है, वहीं कश्मीर के एक प्रमुख अख़बार के दफ़्तर को प्रशासन द्वारा बिना कारण बताए सील कर दिया गया. मीडिया बोल की इस कड़ी में बिहार टाइम्स के संपादक अजय कुमार और कश्मीर टाइम्स की कार्यकारी संपादक अनुराधा भसीन से उर्मिलेश की बातचीत.

राजद का घोषणापत्र जारी करते तेजस्वी यादव और राजद सांसद मनोज झा व अन्य पार्टी नेता. (फोटो: पीटीआई)

10 लाख नौकरी के वादे के साथ राजद का घोषणा-पत्र जारी, नीतीश ने कहा- नौकरी की बात करना मज़ाक

बिहार विधानसभा चुनाव राउंडअप: राजद की ओर से नौकरी के वादे पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि 15 साल के शासन में बिहार में जंगलराज क़ायम करने वालों का नौकरी और विकास की बात करना मज़ाक है. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भाजपा के मुफ्त कोरोना वैक्सीन के वादे को सही ठहराया. इस बीच भाजपा के बिहार चुनाव प्रभारी देवेंद्र फड़नवीस कोरोना संक्रमित पाए गए.

कोसी की कटान रोकने के लिए लगाए गए पॉर्क्यूपाइन. (सभी फोटो: मनोज सिंह)

बिहार: कोसी में बाढ़ से बचने को बनाए जा रहे तटबंध सभी रहवासियों के लिए ख़ुशी का सबब नहीं हैं

ग्राउंड रिपोर्ट: आज़ादी के बाद कोसी की बाढ़ से राहत दिलाने के नाम पर इसे दो पाटों में क़ैद किया गया था और अब लगातार बनते तटबंधों ने नदी को कई पाटों में बंद कर दिया है. इस बीच सुपौल, सहरसा, मधुबनी ज़िलों के नदी के कटान में आने वाले गांव तटबंध के लाभार्थी और तटबंध के पीड़ितों की श्रेणी में बंट चुके हैं.

बिहार में चुनावी रैली को संबोधित करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी. (फोटो साभार: ट्विटर)

बिहार में रैली के दौरान राजद पर निशाना साधते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, लालटेन के जमाना गईल

बिहार विधानसभा चुनाव राउंडअप: राहुल गांधी ने बिहार में हुई चुनावी रैली में कृषि संबंधी तीन क़ानून, जीएसटी, प्रवासी मज़दूरों का पलायन और नोटबंदी जैसे मुद्दों पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सवाल उठाए. तेजस्वी यादव ने दावा किया कि नौ नवंबर को लालू जी की रिहाई हो रही है और 10 तारीख़ को नीतीश जी की विदाई होगी.

नीतीश कुमार. (फोटो: पीटीआई)

बिहार चुनाव: क्या नीतीश को बलि का बकरा बनाने के लिए भाजपा ने उन्हें सीएम प्रत्याशी बनाया है?

नीतीश कुमार मुख्यमंत्री बनाने के बीजेपी की घोषणा के तीर का पहला लक्ष्य प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कथित अजेय छवि को बरक़रार और हार का ठीकरा उनके सिर फोड़ना है. इसके अलावा चुनाव बाद स्पष्ट बहुमत न मिलने की दशा में नीतीश को किनारे कर एलजेपी के समर्थन और कांग्रेस तथा अन्य गठबंधनों से विधायक तोड़कर बीजेपी के नेतृत्व में अगली सरकार बनाना है.

Patna: Rashtriya Janata Dal (RJD) leader Tejashwi Yadav arrives to attend the ongoing Monsoon session, at Bihar Assembly in Patna on Tuesday, July 24, 2018. (PTI Photo) (PTI7_24_2018_000029B)

बिहार चुनाव: महागठबंधन के चेहरे तेजस्वी यादव क्या नीतीश कुमार के सामने टिक पाएंगे?

2015 में जब जदयू के साथ मिलकर राजद ने बिहार में सरकार बनाई थी तब तेजस्वी यादव महज़ 26 साल की उम्र में उप-मुख्यमंत्री बन गए थे. अगले क़रीब एक साल तक उप-मुख्यमंत्री रहे वही तेजस्वी आज लगभग पांच साल बाद नीतीश के सामने मुख्यमंत्री पद के सबसे बड़े दावेदार बनकर खड़े हैं.

बैजनाथपुर की बंद पड़ी पेपर मिल. (सभी फोटो: मनोज सिंह)

बिहार: बैजनाथपुर की बंद पड़ी पेपर मिल राज्य में औद्योगिकीकरण की बदहाली की मिसाल है

ग्राउंड रिपोर्ट: 70 के दशक में मधेपुरा-सहरसा राष्ट्रीय राजमार्ग पर बैजनाथपुर में काफ़ी उम्मीदों के साथ पेपर मिल बनी थी, पर कभी काम शुरू नहीं हो सका. मिल में रोज़गार पाने की आस में उम्र गुज़ार चुके लोगों की अगली पीढ़ी विभिन्न राज्यों में मज़दूरी कर रही है और मिल खुलने का वादा केवल चुनावी मौसम का मुद्दा बनकर रह गया है.

बिहार चुनाव के लिए भाजपा का घोषणापत्र जारी करतीं वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण व अन्य भाजपा नेता. (फोटो: ट्विटर/@@BJP4Bihar)

बिहार: भाजपा का घोषणा-पत्र में मुफ़्त कोरोना टीके का वादा, विपक्ष ने कहा- बीमारी और डर बेच रहे हैं

बिहार विधानसभा चुनाव राउंडअप: कोरोना वैक्सीन को चुनावी मुद्दा बनाने पर विपक्ष ने भाजपा को घेरा. कांग्रेस ने अपने घोषणा-पत्र में किया 10 लाख नौकरियों और कृषि क़र्ज़माफ़ी का वादा किया. उप-मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी कोरोना वायरस से संक्रमित.

(फोटो: पीटीआई)

बिहार के पहले चरण के चुनाव में उतरे 31 फ़ीसदी प्रत्याशियों के ख़िलाफ़ आपराधिक मामले: एडीआर

बिहार विधानसभा चुनाव राउंडअप: चुनाव आयोग ने मतदान वाले दिन और उससे एक दिन पहले राजनीतिक दलों, प्रत्याशियों तथा अन्य द्वारा अप्रमाणित विज्ञापन प्रकाशित किए जाने पर रोक लगाई. नीतीश कुमार ने लालू पर तंज़ करते हुए कहा कि पत्नी को सीएम बनाने के अलावा महिलाओं के लिए क्या किया. लोजपा का घोषणा पत्र ‘बिहार फ़र्स्‍ट, बिहारी फ़र्स्‍ट’ जारी. दूसरे चरण की 94 सीटों के लिए 1,464 उम्मीदवार मैदान में.

AKI 20 OCtober 2020.00_21_34_24.Still003

तेजस्वी यादव की सभाओं में लाखों की भीड़, हार रहे हैं नीतीश कुमार?

वीडियो: बिहार विधानसभा चुनाव पर द वायर के पोलिटिकल अफेयर्स एडिटर अजय आशीर्वाद और वरिष्ठ पत्रकार मनोज सिंह से द वायर की सीनियर एडिटर आरफ़ा ख़ानम शेरवानी की बातचीत.

पिपराही गांव में नाव से आते-जाते लोग. (सभी फोटो: मनोज सिंह)

‘घर बनवाने के लिए पैसे जुटाए थे लेकिन गांव का हाल देखकर नाव बनवा ली’

ग्राउंड रिपोर्ट: बिहार के सुपौल ज़िले के निर्मली विधानसभा क्षेत्र में कोसी नदी के सिकरहट्टा-मंझारी तटबंध पर बसे पिपराही गांव से गुज़र रही धारा में कम पानी होता था, पर बीते कई सालों से बारह महीने इतना पानी रहता है कि बिना नाव के पार नहीं किया जा सकता है. इस साल मई से सितंबर के बीच यहां पांच बार बाढ़ आ चुकी है.