Bihar Mahagathbandhan

बिहार: रालोसपा का जदयू में विलय, उपेंद्र कुशवाहा बने राष्ट्रीय संसदीय बोर्ड के अध्यक्ष

पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा की राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के जदयू में विलय से पहले ही बीते शुक्रवार को दल में फूट पड़ गई थी और 30 से अधिक राज्य और ज़िला स्तर के पदाधिकारी राष्ट्रीय जनता दल में शामिल हो गए थे.

बिहार: नीतीश सरकार का कैबिनेट विस्तार, शाहनवाज़ हुसैन सहित कुल 17 नए मंत्रियों ने शपथ ली

कैबिनेट विस्तार में भाजपा के नौ सदस्यों के शामिल होने के साथ ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के मंत्रिमंडल में भाजपा के कुल 20 सदस्य हो गए हैं. वहीं, जदयू से आठ अन्य मंत्रियों के शामिल होने के बाद कैबिनेट में उसके सदस्यों की संख्या 12 हो गई है.

भाजपा के सामने कमज़ोर पड़े नीतीश कुमार क्या फिर जनता का विश्वास पा सकेंगे?

जदयू को फिसलने से रोकने में नाकाम रहे नीतीश कुमार क्या इस बार अपने अधूरे वादे पूरे कर पाएंगे या फिर इस पारी में वे भाजपा के एजेंडा के आगे घुटने टेकने को मजबूर होंगे?

बिहार: नीतीश कुमार ने सातवीं बार ली मुख्यमंत्री पद की शपथ, दो उपमुख्यमंत्री बनाए गए

बिहार विधानसभा चुनाव में 125 सीटें हासिल कर बहुमत पाने वाले एनडीए गठबंधन ने 15 सालों तक उपमुख्यमंत्री रहे सुशील मोदी की जगह भाजपा के दो नेताओं- तारकिशोर प्रसाद और रेणु देवी को उपमुख्यमंत्री बनाया है. नीतीश कुमार के साथ कुल 14 मंत्रियों ने शपथ ली है.

बिहार: महागठबंधन की हार पर राजद नेता ने की राहुल गांधी की आलोचना, कांग्रेस का पलटवार

बिहार विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के ख़राब प्रदर्शन पर राजद के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी ने कहा कि गठबंधन के लिए कांग्रेस बाधा की तरह रही, उसने चुनाव 70 सीटों पर लड़ा, लेकिन 70 रैलियां भी नहीं कीं. चुनाव के वक़्त राहुल गांधी पिकनिक मना रहे थे.

बिहार: नीतीश कुमार एनडीए विधायक दल के नेता चुने गए, लगातार चौथी बार बनेंगे मुख्यमंत्री

नीतीश कुमार की अगुवाई में एनडीए ने राज्यपाल फागू चौहान से बिहार में सरकार बनाने का दावा किया है. उपमुख्यमंत्री के तौर पर अभी आधिकारिक तौर पर किसी का नाम नहीं लिया गया है.

बिहार की राजनीति में नीतीश कुमार का कोई विकल्प नहीं है

जदयू को भाजपा से कम सीटें मिलने के बाद नीतीश कुमार के मुख्यमंत्री बनने को लेकर सवाल उठ रहे थे, लेकिन ऐसी राय है कि जनता, ख़ासकर महिलाओं के राजग को चुनने का श्रेय नीतीश कुमार को ही जाता है, ऐसे में उनके नेतृत्व में नई सरकार का बनना अपरिहार्य है.

बिहार: लोजपा को सीटें भले ही नहीं मिली हों, लेकिन उससे जदयू को नुकसान पूरा हुआ है

विधानसभा चुनाव में लोजपा को सिर्फ़ एक सीट पर जीत मिली है लेकिन उसने अपने ‘घोषित लक्ष्य’ के अनुसार जदयू को ख़ासा नुकसान पहुंचाया. नौ सीटों पर लोजपा उम्मीदवार दूसरे स्थान पर रहे हैं और इन सीटों पर उन्होंने जदयू को चुनावी मुक़ाबले से बाहर भी किया.

मीडिया बोल: बिहार चुनाव परिणाम के निहितार्थ

वीडियो: बिहार विधानसभा चुनाव में तमाम एक्जिट पोल्स और अंदाज़े ग़लत साबित हुए. मीडिया बोल की इस कड़ी में उर्मिलेश बिहार के अप्रत्याशित चुनाव परिणाम और राज्य के राजनीतिक भविष्य को लेकर वरिष्ठ पत्रकार अरविंद मोहन और द वायर के पॉलिटिकल अफेयर्स एडिटर अजय आशीर्वाद से चर्चा कर रहे हैं.

बिहार विधानसभा चुनाव: 11 सीटों पर हार-जीत का अंतर एक हज़ार से भी कम रहा

बिहार विधानसभा की 243 सीटों में से 40 सीटों पर बेहद कड़ा मुक़ाबला रहा और इन पर हार जीत का अंतर 3,500 मतों से भी कम रहा. कम मतों से जीत में जदयू-भाजपा-वीआईपी-हम को ज्यादा फायदा हुआ और उन्होंने 21 सीटों पर सफलता प्राप्त की.

बिहार विधानसभा चुनाव: राजग को 125 सीटों के साथ मिला बहुमत, राजद बनी सबसे बड़ी पार्टी

बिहार विधानसभा की 243 सीटों में से राजद के नेतृत्व वाली महागठबंधन को कुल 110 सीटों पर जीत मिली है. राजद ने 75, भाजपा ने 74, जदयू ने 43, कांग्रेस ने 19, भाकपा माले ने 12 और एआईएमआईएम ने 5 सीटों पर जीत दर्ज की है. लोजपा को सिर्फ़ एक सीट ही मिल सकी.

बिहार चुनाव परिणाम: एनडीए को 125 और महागठबंधन को 110 सीटों पर जीत मिली

बिहार में सत्ताधारी राजग में शामिल भाजपा ने 74 सीटों पर, जदयू ने 43 सीटों पर, विकासशील इंसान पार्टी ने 4 सीटों पर और हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा ने 4 सीटों पर जीत दर्ज की है. वहीं, विपक्षी महागठबंधन में शामिल राजद ने 75 सीटों पर, कांग्रेस ने 19 सीटों पर, भाकपा माले ने 12 सीटों पर, भाकपा एवं माकपा ने दो-दो सीटों पर जीत दर्ज की है.

बिहार चुनाव परिणाम: वाम दलों का बेहतर प्रदर्शन, 29 में से 18 सीटों पर आगे

243 सीटों वाले बिहार विधानसभा चुनाव की मतगणना जारी है. ताज़ा आंकड़ों के अनुसार, महागठबंधन के तहत चुनाव लड़ने वाली माकपा और भाकपा तीन-तीन सीटों और भाकपा-माले 12 सीटों पर आगे चल रही है.

बिहार चुनाव का नतीजा जो हो, एनडीए गठबंधन का बिखराव किसी से छिपा नहीं है

मतदान का तीसरा और आखिरी चरण आते-आते नीतीश कुमार, नरेंद्र मोदी और अन्य भाजपा नेताओं के बीच सामंजस्य और तालमेल की कमी बेहद स्पष्ट तौर पर दिखने लगी थी, इसके उलट राजद की अगुवाई वाला गठबंधन कहीं ज़्यादा एकजुट दिखा.

Bulandshahr: An elderly Muslim along with other voters shows his ink-marked finger after casting vote at a polling station at Siyana, during the 2nd phase of Lok Sabha elections, Bulandshahr, Thursday, April 18, 2019. (PTI Photo/Vijay Verma) (PTI4_18_2019_000093B)

बिहार: क्या इस बार के विधानसभा चुनाव में मुस्लिम मतों का विभाजन हुआ है?

इस बार के बिहार विधानसभा चुनाव में मुस्लिम मतदाताओं में नीतीश सरकार द्वारा उनके कल्याण के लिए की गई पहल की बातें थीं, लेकिन महागठबंधन से अलग होने और बीजेपी के साथ सरकार बनाने को अल्पसंख्यक समुदाय में उनके जनादेश के तौहीन की तरह देखा जा रहा था.