BMC

मोहाली एयरपोर्ट पर सुरक्षाकर्मियों से घिरी अभिनेत्री कंगना रनौत. (फोटो: पीटीआई)

सुशांत-कंगना का सुर्ख़ियों में बने रहना मीडिया की छद्म जनमत निर्माण की बढ़ती ताक़त की बानगी है

मीडिया के पास कुछ हद तक जनमत निर्माण की ताक़त हमेशा से थी, मगर उसकी एक सीमा थी, उनके द्वारा उठाए मुद्दे में कुछ दम होना ज़रूरी होता था. आज हाल यह है कि मीडिया में भारत-चीन सीमा विवाद से ज़्यादा तवज्जो कंगना रनौत विवाद को दी जा रही है.

अभिनेत्री कंगना रनौत के बंगले में अवैध परिवर्तनों को ढहाने के लिए लगाया गया बुल्डोजर. (फोटो: पीटीआई)

2016 से 2019 के बीच बीएमसी ने अवैध निर्माण की सिर्फ़ 10.47 फीसदी शिकायतों में कार्रवाई की

आरटीआई के तहत प्राप्त की गई जानकारी से पता चला था कि एक मार्च 2016 से लेकर आठ जुलाई 2019 के बीच बीएमसी को अवैध निर्माण की कुल 94,851 शिकायतें प्राप्त हुई थीं, लेकिन उस समय तक इसमें से सिर्फ़ 5,461 मामलों में ही कार्रवाई की गई थी.

(फोटोः पीटीआई)

मुंबई: बीते एक महीने में बहुमंज़िला इमारतों में कोविड के मामलों में 108 फ़ीसदी का इज़ाफा

बीएमसी के आंकड़ों के मुताबिक, बीते लगभग एक महीने में झुग्गियों और भीड़भाड़ वाले इलाकों में कोरोना के मामलों में 60 फ़ीसदी बढ़त हुई है. एक अधिकारी के अनुसार बड़ी इमारतों में लोगों ने अब सख़्ती बरतनी बंद कर दी है और बाहरी लोग आ-जा रहे हैं.

New Delhi: A view of a newly created COVID-19 care facility with over 10,000 beds at Radha Soami Beas, in New Delhi, Friday, June 26, 2020. A team of over 1,000 doctors, nurses and paramedic staff of the ITBP and other paramilitary forces have been earmarked to work at the facility. (PTI Photo)(PTI26-06-2020 000211B)

कोरोना वायरस फैलने के बाद से मुंबई में 15 लाख से अधिक लोग क्वारंटीन में रहे: बीएमसी

बीएमसी ने कहा है कि इनमें से 5.34 लाख लोगों की पहचान उच्च जोख़िम वाले संपर्क के रूप में की गई है. साथ ही यह भी बताया गया कि अब तक कुल 13.28 लाख लोग 14 दिन का क्वारंटीन पूरा कर चुके हैं.

(फोटो: पीटीआई)

मुंबई: कोविड मरीज़ से ज़्यादा पैसे वसूलने पर नानावती अस्पताल के ख़िलाफ़ मामला दर्ज

मई महीने में एक कोरोना संक्रमित महिला की नानावती अस्पताल में 13 दिनों तक भर्ती रहने के बाद मौत हो गई थी. इसके बिल को लेकर महिला के परिजनों की शिकायत के बाद बीएमसी ने अस्पताल के ख़िलाफ़ एफआईआर दर्ज करवाई है.

बॉम्बे हाईकोर्ट (फोटो: पीटीआई)

लॉकडाउन के दौरान रेहड़ी वालों के लिए भी नीति बनाए सरकारः बॉम्बे हाईकोर्ट

बॉम्बे हाईकोर्ट में दायर एक जनहित याचिका में कहा गया है कि होटलों और रेस्तरां को संचालन की मंज़ूरी दी गई है, इसलिए वित्तीय परेशानियों से जूझ रहे सड़क पर सामान आदि बेचने वालों को भी काम करने की अनुमति दी जानी चाहिए.

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

मुंबई में 347 संक्रमित लोगों की मौत को बीएमसी ने ग़ैर-कोविड-19 मौतों की श्रेणी में रखा: रिपोर्ट

अतिरिक्त नगर निगम आयुक्त सुरेश काकानी ने कहा कि हम केवल मौत को लेकर बनी समिति की राय का ही अनुसरण कर रहे हैं. उन्होंने हमें बताया कि ये मौतें अन्य स्वास्थ्य संबंधी कारणों से हुई हैं. हमने इस बारे में राज्य सरकार को पत्र लिखा है और इन मौतों पर उनकी सलाह मांगी है.

(फोटोः पीटीआई)

मुंबईः कोरोना से मौतों के आंकड़ों में गड़बड़ी, 451 मामले दर्ज ही नहीं हुए

महाराष्ट्र में कोरोना से 4,128 लोगों की मौत हो चुकी है, जिसमें मुंबई में 2,250 लोगों लोगों ने जान गंवाई है. आईसीएमआर के पोर्टल पर दर्ज आंकड़ों का राज्य सरकार के आंकड़ों से मिलान करने पर सामने आया कि कोविड से हुई कुछ मौतों का रिकॉर्ड दर्ज ही नहीं हुआ है.

(फोटो: पीटीआई)

मुंबईः बीएमसी के डिप्टी कमिश्नर की कोविड-19 से मौत

बृहन्मुंबई महानगरपालिका के डिप्टी कमिश्नर शिरीष दीक्षित में कोरोना के लक्षण नहीं थे, इसलिए उन्हें घर पर इलाज दिया जा रहा था. नौ जून तक बीएमसी के कुल 55 लोगों की कोरोना वायरस से मौत हो चुकी है.

प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो: पीटीआई)

मुंबईः धारावी में कोरोना संक्रमित 75 फीसदी लोग स्वास्थ्य और जरूरी सेवाओं से जुड़े कर्मचारी

बीएमसी का कहना है कि धारावी में कोरोना संक्रमित इन 75 फीसदी लोगों की उम्र 21 से 60 साल के बीच है. 20 मई तक धारावी में कोरोना के 1,360 मामले दर्ज हुए. इनमें से 525 को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया जबकि 56 लोगों की मौत चुकी है.

बॉम्बे हाईकोर्ट (फोटो: पीटीआई)

बॉम्बे हाईकोर्ट ने कहा, ग़ैर कोरोना रोगियों के इलाज के लिए हुए इंतज़ाम का ब्योरा दे सरकार

वकील और सामाजिक कार्यकर्ताओं द्वारा दायर याचिका में कहा गया है कि महाराष्ट्र के नगर निकाय अधिकारियों के पास ग़ैर कोरोना रोगियों के लिए कोई विस्तृत कार्य योजना नहीं है और कई लोग इलाज के अभाव में पहले ही जान गंवा चुके हैं.

Mumbai: Municipal Corporation (BMC) worker sprays disinfectant inside a Brihanmumbai Electricity Supply and Transport (BEST) bus, during the nationwide lockdown in the wake of the coronavirus pandemic, at Borivali in Mumbai, Wednesday, April 8, 2020. (PTI Photo) (PTI08-04-2020 000218B)

बीएमसी का ग़ैर-ज़रूरी सेवाओं के स्टाफ को निर्देश, 50 फीसदी उपस्थिति न होने पर कटेगा वेतन

कर्मचारी यूनियन का कहना है कि कोरोना वायरस के संक्रमण के डर और यातायात के सीमित साधनों के चलते बहुत से कर्मचारी काम पर नहीं आ रहे हैं.

Bengaluru: A medical student during a demonstration protest to show solidarity with their counterparts against the assault in Kolkata, in Bengaluru, Friday, June 14, 2019. (PTI Photo/Shailendra Bhojak)

कोराना संक्रमित मरीज़ की मौत के बाद मुंबई के एक अस्पताल के मेडिकल कर्मचारियों ने किया प्रदर्शन

मुंबई में ब्रांदा स्थित बीएमसी के एक अस्पताल के मेडिकल स्टाफ ने ख़ुद को पृथक करने की मांग की है, क्योंकि उनमें से कुछ मृतक महिला के सीधे संपर्क में आए थे. उनका आरोप है कि अस्पताल प्रबंधन में महिला के संक्रमित होने को लेकर उन्हें अंधेरे में रखा.

कोच्चि में कोरोना वायरस से बचाव के लिए एक रेलवे स्टेशन से मास्क लगाकर निकलता छात्रों का समूह. (फोटो: रॉयटर्स)

कोरोना लॉकडाउन: उत्तर प्रदेश, दिल्ली, मुंबई सहित कई शहरों में घर से बाहर मास्क लगाना अनिवार्य

कुछ समय पहले विश्व स्वास्थ्य संगठन के साथ केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने भी कहा किया था कि स्वस्थ्य लोगों को मास्क लगाने की जरूरत नहीं है. उन्होंने कहा था कि लोगों को तब तक मास्क पहनने की जरूरत नहीं है, जब तक वो बीमार न हों या किसी बीमार की देखभाल न कर रहे हों.