Captain Amrinder Singh

(फोटो साभार: एएनआई)

पंजाब: अमृतसर के निरंकारी भवन पर ग्रेनेड हमला, तीन लोगों की मौत

घटना में दस लोग घायल हो गए. मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने मृतकों को पांच लाख का मुआवज़ा और घायलों का मुफ़्त इलाज करने का आदेश दिया है. बताया जा रहा है कि धार्मिक सभा के दौरान मोटरसाइकिल से आए लोगों ने भीड़ पर एक ग्रेनेड फेंका और फरार हो गए.

Amritsar: Relatives of victims of train accident mourn at Mass funeral in Amritsar, Saturday, Oct 20, 2018. Officials said at least 60 bodies have been found and many more injured have been admitted to a government hospital after the accident near the site of Dussehra festivities. (PTI Photo) (PTI10_20_2018_000061)

अमृतसर ट्रेन हादसा: स्थानीय लोगों का दावा, घटनास्थल पर 20 वर्षों से होता आ रहा है रावण दहन

लोगों ने दुर्घटनास्थल पर किया प्रदर्शन. आरोप लगाया कि ट्रेन तेज़ गति से निकली और ट्रैक पर लोगों की मौजूदगी के बावजूद चालक ने रफ़्तार कम नहीं की. रेलवे ने कहा कि दशहरा कार्यक्रम की सूचना नहीं दी गई थी, वहीं अमृतसर नगर निगम का कहना है कि कार्यक्रम की अनुमति नहीं दी गई थी.

अमृतसर में हुए ट्रेन हादसे के बाद ग़मगीन परिजन. (फोटो: पीटीआई)

अमृतसर में रावण दहन देख रहे लोगों के ऊपर से गुज़री ट्रेन, 61 लोगों की मौत

अमृतसर के जोड़ा फाटक पर हुआ हादसा. पूर्व विधायक और कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर सिद्धू रावण दहन कार्यक्रम की मुख्य अतिथि थीं. लोगों ने पूर्व विधायक के ख़िलाफ़ नारेबाज़ी की. नवजोत कौर ने कहा कि हादसे की राजनीति करना ठीक नहीं.

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णनवीस. (फोटो: पीटीआई)

भारत के करीब 35% मुख्यमंत्रियों पर आपराधिक मामले, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री शीर्ष स्थान पर

एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) की रिपोर्ट के अनुसार महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस 22 मामलों के साथ पहले स्थान पर हैं और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एक मामले के साथ सबसे कम आपराधिक मामलों वाले मुख्यमंत्री हैं.

कैप्टन अमरिंदर सिंह को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाते पंजाब के राज्यपाल वी पी सिंह बदनोर (फोटो: पीटीआई)

कैप्टन अमरिंदर बने पंजाब के मुख्यमंत्री

राज्यपाल वीपी सिंह बदनौर ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के अलावा नौ कैबिनेट मंत्रियों और दो राज्य मंत्रियों को पद और गोप​नीयता की शपथ दिलाई.