Child Kidnapping Rumours

((प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

जिन वीडियो से बच्चा चोरी की अफवाह फैली, उनमें से पांच के साथ छेड़छाड़ की गई थी: महाराष्ट्र पुलिस

जांच के बाद महाराष्ट्र पुलिस ने बताया कि पाकिस्तान के कराची शहर में बच्चा चोरी के ख़िलाफ़ जागरूकता फैलाने के लिए बनाए गए एक वीडियो को एडिट कर उसे भारत में बच्चा चोरी करने की घटना बताकर सोशल मीडिया पर प्रसारित किया गया. महाराष्ट्र में पिछले डेढ़ महीने में अफवाह के चलते भीड़ की हिंसा या पीट-पीट कर हत्या करने की 14 घटनाओं में 10 लोगों की जान जा चुकी है.

HBB ep 41

​हम भी भारत, एपिसोड 41: देश भर में बढ़ती मॉब लिंचिंग की घटनाएं

हम भी भारत की 41वीं कड़ी में आरफ़ा ख़ानम शेरवानी बीते दिनों देश के विभिन्न हिस्सों में हुई मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर जेएनयू के प्रोफेसर विवेक कुमार और लेखक पुरुषोत्तम अग्रवाल से चर्चा कर रही हैं.

((प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

मॉब लिंचिंग: एक समाज के तौर पर हम विकृत होते जा रहे हैं

वीडियो: देश भर में अफ़वाहों के चलते बढ़ रही मॉब लिंचिंग की घटनाओं पर सामाजिक कार्यकर्ता हर्ष मंदर से द वायर के कार्यकारी संपादक बृजेश सिंह की बातचीत.

Bolpur West Bengal

पश्चिम बंगाल: बोलपुर में ग्रामीणों ने एक व्यक्ति को बच्चा चोर समझकर पीटा

गांववालों का आरोप है कि इस व्यक्ति ने एक बच्ची को जबरन गाड़ी में बैठाने की कोशिश की, व्यक्ति का कहना है कि वह सिर्फ पीने का पानी मांग रहा था.

((प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

महाराष्ट्र: बच्चा चोरी के शक़ में 5 लोगों की पीट-पीटकर हत्या, 23 गिरफ़्तार

देशभर में व्हाट्सऐप से फैली बच्चे चोरी होने की अफ़वाह से बढ़ीं हिंसा की घटनाएं. तमिलनाडु में प्रवासी मजदूरों पर बच्चा चोरी के संदेह में हुआ हमला, असम में बच्चे चुराने के शक में विक्षिप्त महिला को खंबे से बांधकर पीटा.

Modi Clash

बढ़ते सामाजिक टकराव पर प्रधानमंत्री चुप क्यों?

बढ़ती जातीय और सांप्रदायिक तनाव की घटनाएं प्रधानमंत्री मोदी की विकास के उनके घोषित एजेंडे के अनुकूल नहीं रहीं, लिहाजा देश को अपेक्षा थी कि ऐसी घटनाओं पर मोदी सख्ती से पेश आएंगे, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ.

18767132_10209462417337415_1245516944_o

वीडियो: झारखंड और सहारनपुर में हुई हालिया हिंसा से उपजे सामाजिक तनाव पर चर्चा

झारखंड और सहारनपुर में हुई हालिया हिंसा से उपजे सामाजिक तनाव का जायजा लेकर लौटे द वायर के पत्रकार अजय आशीर्वाद और कृष्णकांत की बातचीत.