Corona

Ghaziabad: Migrant labourers made to sit under a flyover on the Hapur Road at a safe social distance by the district administration, during complete lockdown in the view coronavirus pandemic, in Ghaziabad, Thursday, March 26, 2020. (PTI Photo/Arun Sharma)

कोरोना लॉकडाउन: ग़रीब और कमज़ोर तबके की मदद के लिए क्या उपाय किया जा सकते हैं

देशभर में कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए लागू लॉकडाउन से उत्पन्न आर्थिक स्थितियां उन लोगों को बुरी तरह प्रभावित करेंगी, जो इस महामारी से तो शायद बच जाएंगे, लेकिन रोज़मर्रा की आवश्यक ज़रूरतों का पूरा न होना उनके लिए अलग मुश्किलें खड़ी करेगा.

New Delhi : A group of migrant workers walk to their native places amid the nationwide complete lockdown, on the NH24 near Delhi-UP border in New Delhi, Friday, March 27, 2020. (PTI Photo/Ravi Choudhary)(PTI27-03-2020 000194B)

कृतज्ञता का भाव ग़ैर-बराबरी और नाइंसाफी की स्थिति से जुड़ा हो, तो हिंसा पैदा होती है

कृतज्ञता के साथ जब अपनी लाचारी का एहसास जुड़ जाए तो मनुष्य उससे मुक्त होना चाहता है. एक समुदाय ही रहम, कृपा, राहत का पात्र बनता रहे यह वह कबूल नहीं कर सकता. वह बराबरी हासिल करना चाहता है.

People waiting to buy medicine during the 21-day nationwide lockdown, in Kolkata, on March 26, 2020. (Photo: Reuters)

60 से अधिक उम्र के केंद्रीय स्वास्थ्य योजना के लाभार्थियों के घर पर दवाएं पहुंचाने का आदेश

कोरोना वायरस के मद्देनज़र देश में लागू लॉकडाउन के चलते ज़रूरी दवाओं की भी घर पर आपूर्ति की अनुमति दी गई है. सरकारी आदेश के अनुसार, ऐसी दवाएं जिन्हें लोगों के घरों तक पहुंचाया जाएगा, उन्हें किसी योग्य डॉक्टर के पर्चे के बिना नहीं ख़रीदा जा सकेगा.

New Delhi: Medics screen patients as part of a precautionary measure for novel coronavirus (COVID-19) outbreak, at a government run hospital in New Delhi, Saturday, March 14, 2020. India has more than 80 positive coronavirus cases so far. (PTI Photo)(PTI14-03-2020_000031B)

कोरोना: बिहार में 83 डॉक्टरों ने संक्रमण के डर से सेल्फ क्वारंटाइन की मांग की

पटना के नालंदा मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल के जूनियर डॉक्टरों ने एक पत्र में कहा है कि सभी तरह के आवश्यक मेडिकल किट और मास्क के बिना हम ड्यूटी पर हैं. हमारे कई डॉक्टरों में वायरस के लक्षण है, लेकिन यहां कोई सुन ही नहीं रहा है.

Mumbai: Dadar to Parle road wears a deserted look during 'Janata curfew' in the wake of coronavirus pandemic, in Mumbai. (PTI Photo)

महाराष्ट्र: लॉकडाउन के दौरान घर से बाहर निकलने पर शख़्स ने की भाई की हत्या

घटना मुंबई के उपनगर कांदिवली की है. पुलिस के अनुसार मृतक के भाई ने उसे लॉकडाउन के चलते घर से बाहर जाने को मना किया था. उसके बाहर से लौटने पर दोनों के बीच बहस के बाद आरोपी ने उस पर किसी धारदार वस्तु से हमला किया.

(फोटोः ट्विटर)

दिल्ली: ‘कोरोना’ कहकर मणिपुर की छात्रा पर थूकने वाला गिरफ्तार

यह घटना रविवार रात मुखर्जी नगर के विजय नगर इलाके में हुई थी. आरोपी की पहचान 40 वर्षीय गौरव वोहरा के रूप में हुई है.

Ayodhya: UP Chief Minister Yogi Adityanath, accompanied by District Magistrate Anuj Jha and priests, shifts the idol of Ramlala from the makeshift temple to a new structure near Manas Bhawan, in Ayodhya, early Wednesday, March 25, 2020. Social distancing was observed, and there was no participation of the public due to the complete lockdown imposed to contain the spread of the novel coronavirus. (PTI Photo) (PTI25-03-2020 000027B)

कोरोना: देशव्यापी लॉकडाउन के बीच अयोध्या के मंदिर पहुंचे योगी आदित्यनाथ, हुई आलोचना

कोरोना संक्रमण के मद्देनज़र प्रधानमंत्री द्वारा घोषित 21 दिनों के देशव्यापी बंद शुरू होने के चंद घंटों बाद ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दर्जनों अधिकारियों के साथ अयोध्या में रामलला की मूर्ति को एक अस्थायी मंदिर में रखने के कार्यक्रम में पहुंचे थे, जिस कारण विपक्ष ने उन पर निशाना साधा है.

Mumbai: Aeroplanes on runway as all the domestic and international flights were cancelled after lockdown following the coronavirus pandemic in Mumbai, Tuesday, March 24, 2020. (PTI Photo/Mitesh Bhuvad)(PTI24-03-2020 000101B)

कोरोना: सभी कर्मचारियों के मार्च के वेतन में कटौती करेगा गो एयर

गो एयर ने कहा है कि कोरोना वायरस महामारी ने विमानन क्षेत्र के राजस्व पर भारी असर डाला है और इसलिए सभी कर्मचारियों के मार्च के वेतन में कटौती की जाएगी. इससे पहले शीर्ष नेतृत्व के वेतन में 50 प्रतिशत तक की कटौती की बात कही गई थी.

(फोटोः ट्विटर)

दिल्ली: मणिपुरी छात्रा को कथित तौर पर कोरोना कहकर उस पर पान थूका, केस दर्ज

दिल्ली विश्वविद्यालय से एमफिल कर रही हैं छात्रा. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली पुलिस से आरोपी के ख़िलाफ़ कड़ी कार्रवाई करने को कहा.

HBB 23 March.00_32_42_16.Still002

कोरोना वायरस: ‘लोगों के हाथ में घंटा पकड़ा दिया, जनता कर्फ्यू का मक़सद फेल हो गया’

वीडियो: कोरोना वायरस की रोकथाम को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनता कर्फ्यू की अपील की थी, लेकिन कुछ जगहों पर इसका उलटा असर देखने को मिला. लोग समूह बनाकर सड़कों पर निकल गए थे. इस मुद्दे पर जेएनयू के एसोसिएट प्रोफेसर विकास बाजपेयी से चर्चा कर रही हैं द वायर की सीनियर एडिटर आरफ़ा ख़ानम शेरवानी.

नई दिल्ली स्थित एम्स. (फोटो: पीटीआई)

कोरोनाः एम्स की सभी ओपीडी सेवाएं अस्थाई तौर पर बंद

दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ने कहा है कि ओपीडी के लिए नियमित पंजीकरण की प्रक्रिया भी रोक दी गई है. अब सिर्फ आपातकालीन सर्जरी ही की जा रही हैं.

मुंबई लोकल ट्रेन. (फोटो: पीटीआई)

कोरोना: शिवसेना ने कहा- मुंबई लोकल बंद करने में देरी के कारण महाराष्ट्र में बढ़ा संक्रमण

शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ के संपादकीय में लिखा कि मुंबई में लोकल ट्रेनों समेत रेल सेवाओं पर अगर पहले ही रोक लगा दी गई होती तो कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या में इतनी वृद्धि नहीं होती. मुंबई में उपनगरीय ट्रेनों को प्राथमिकता से रोका जाना चाहिए था लेकिन भारतीय रेलवे के अधिकारी ‘इसके लिए इच्छुक नहीं’ थे.

(फोटोः पीटीआई)

कोरोना वायरस से निपटने के लिए लॉकडाउन पर्याप्त नहींः डब्ल्यूएचओ

विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि कोरोना की वैक्सीन को बाजार में आने में कम से कम एक साल का समय लग सकता है. लॉकडाउन हटने के बाद वायरस तेजी से न फैले इसके लिए सार्वजनिक स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर और दुरुस्त करने की जरूरत है.

Chennai: Hospital staff is seen outside the Special Isolation Ward set up to provide treatment to any suspected case of the coronavirus (CoV) at  the Rajiv Gandhi Government General Hospital, in Chennai, Tuesday, Jan. 28, 2020. (PTI Photo)(PTI1_28_2020_000138B)

महाराष्ट्रः कोरोना के डर के चलते चार अस्पतालों ने नहीं किया बीमार डॉक्टर को भर्ती, हालत गंभीर

मामला महाराष्ट्र के जलगांव का है. तेज़ बुखार से जूझ रहे डॉक्टर को अस्पतालों द्वारा समय पर भर्ती न किए जाने से उनकी तबियत बिगड़ गई और अब वे एक सरकारी अस्पाल में वेंटिलेटर पर हैं.

Photo: ESA/Hubble, NASA, M. Kornmesser

150 साल पहले आज ही भारत बना था हीलियम की ऐतिहासिक खोज का गवाह

हीलियम से भरे गुब्बारे आज भले ही आम हो गए हैं, लेकिन डेढ़ सौ साल पहले इस गैस की मौजूदगी से जुड़े संकेत किसी रसायन विज्ञान की प्रयोगशाला के बजाय सूर्य ग्रहण के दौरान सूरज की बाहरी परत को देखने के दौरान मिले थे.