Eve Teasing

उत्तर प्रदेश: सुदीक्षा भाटी मौत मामले में दो गिरफ़्तार, पुलिस ने कहा- नहीं हुई छेड़खानी

यह मामला बुलंदशहर का है. दादरी की रहने वाली 20 वर्षीय छात्रा सुदीक्षा भाटी 11 अगस्त को अपने चचेरे भाई के साथ बाइक पर जा रही थीं. आरोप है कि रास्ते में दो बाइक सवारों द्वारा छेड़छाड़ के बाद उनका एक्सीडेंट हुआ, जिसमें उनकी मौत हो गई.

यूपी: कथित छेड़छाड़ के बाद छात्रा की सड़क दुर्घटना में मौत

मामला बुलंदशहर का है. दादरी की रहने वाली 20 वर्षीय छात्रा मंगलवार को अपने चाचा के साथ बाइक पर जा रही थी. आरोप है कि रास्ते में दो बाइक सवारों द्वारा छेड़छाड़ के बाद उनका एक्सीडेंट हुआ, जिसमें छात्रा की मौत हो गई. पुलिस का कहना है कि उन्हें छेड़छाड़ या उत्पीड़न के कोई सबूत नहीं मिले हैं.

छेड़खानी रोकने के लिए पश्चिम बंगाल के स्कूल का आदेश, अलग-अलग दिन स्कूल आएं लड़के-लड़कियां

शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने इस मामले में जांच के आदेश दिए हैं. उन्होंने कहा, इस तरह के फैसलों का कभी समर्थन नहीं किया जा सकता और इसे तत्काल वापस लिया जाना चाहिए.

यूपी: छेड़खानी का विरोध करने पर दो महिलाओं की कार से कुचलकर हत्या, मुख्य आरोपी गिरफ़्तार

घटना बुलंदशहर जनपद की है, जहां कुछ महिलाओं उनके घर के बाहर पेशाब कर रहे युवक को टोका, तब युवक ने घर की एक युवती से छेड़खानी की. इसके कुछ देर बाद अपने साथियों के साथ आकर बाहर खड़ी परिवार की महिलाओं पर कार चढ़ा दी, जिसमें दो की मौत हो गई.

मध्यप्रदेश में छेड़छाड़ का मामला वापस न लेने पर पत्थर से सिर कुचलकर दलित छात्रा की हत्या

मध्य प्रदेश के सिवनी ज़िले का मामला. छह माह पहले छात्रा ने आरोपी पर छेड़छाड़ का मामला दर्ज कराया था और वो ज़मानत पर बाहर था.

साल 2016 में दिल्ली में हर रोज 11 महिलाओं का अपहरण हुआ

राजधानी में पिछले साल दर्ज अपहरण के 6,707 मामलों में से 75 फीसदी से ज्यादा महिलाओं से जुड़े थे, हर रोज औसतन दो बच्चों का यौन उत्पीड़न हुआ.

कहीं आने-जाने के दौरान होती हैं छेड़छाड़ की अधिकतर घटनाएं: हरियाणा पुलिस

हरियाणा पुलिस द्वारा किए गए सर्वेक्षण में पाया गया कि अधिकतर मामलों में ऐसी घटनाएं स्कूल, कॉलेज या दफ्तर से आते-जाते वक़्त लड़कियों या महिलाओं के साथ होती हैं.

हरियाणा में छेड़छाड़ से परेशान छात्राएं स्कूल छोड़कर धरने पर

रेवाड़ी ज़िले के एक गांव की तकरीबन 80 लड़कियां गांव के स्कूल को बारहवीं कक्षा तक करने की मांग के साथ भूख हड़ताल पर बैठी हैं. पढ़ाई के लिए गांव से दूर जाने पर रास्ते में होती है छेड़छाड़.