Health Department

प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई

पश्चिम बंगाल: प्रशासनिक मदद न मिलने पर परिजनों ने 48 घंटों तक फ्रीज़र में रखा कोरोना संदिग्ध का शव

मामला कोलकाता का है, जहां 29 जून को एक 71 वर्षीय व्यक्ति की मौत हो गई थी, जिन्हें कोरोना होने का संदेह था. परिजनों का कहना है कि इसी कारण उन्होंने अंतिम संस्कार की व्यवस्था के लिए पुलिस, स्थानीय पार्षद और स्वास्थ्य विभाग से संपर्क किया, लेकिन किसी ने मदद नहीं की.

(फोटोः पीटीआई)

नगालैंड: कोरोना संकट के बीच एनएचएम कर्मचारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर

राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के कर्मचारियों में एम्बुलेंस चालक, लैब टेक्नीशियन, नर्सें, डेंटिस्ट, आयुष और एलोपैथिक डॉक्टर शामिल हैं. उनकी मांग है कि एनएचएम कर्मचारियों को नियमित करते हुए राज्य स्वास्थ्यकर्मियों के समान पद के लिए समान वेतन और सभी बुनियादी सुविधाएं मुहैया दी जाएं.

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

एमपी: इंदौर में कोरोना से मरने वालों की स्वास्थ्य विभाग देरी से दे रहा जानकारी, जांच की मांग

स्वास्थ्य विभाग ने 24 दिन बाद दी कोविड-19 पीड़ित की मौत की जानकारी. इससे पहले एक अन्य मृतक की जानकारी 16 दिन बाद मीडिया को दी गई थी. एक एनजीओ ने मामले की स्वतंत्र जांच के लिए केंद्र सरकार से समिति गठित करने की मांग की है.

राजीव बिंदल. (फोटो: फेसबुक)

हिमाचल प्रदेश: स्वास्थ्य विभाग में भ्रष्टाचार के आरोपों के बीच भाजपा अध्यक्ष का इस्तीफा

हिमाचल प्रदेश में कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए चिकित्सा उपकरण खरीदने में कथित भ्रष्टाचार के मामले को लेकर स्वास्थ्य विभाग के निदेशक को 20 मई को गिरफ्तार किया गया था.

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

कोविड-19: मुंबई के निजी डॉक्टरों को सरकारी अस्पतालों में काम करने का निर्देश

निजी चिकित्सकों को भेजे गए एक नोटिस में महाराष्ट्र सरकार ने उन्हें कम से कम पंद्रह दिनों के लिए कोविड-19 का इलाज कर रहे सरकारी अस्पतालों में काम करने को कहा है. ऐसा न करने पर कार्रवाई की बात कही गई है.

(फोटोः पीटीआई)

कोरोना वायरस: इंदौर में मृतकों की संख्या 52 हुई, मृत्यु दर राष्ट्रीय औसत से अब भी ज़्यादा

गृह मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि मुंबई, कोलकाता, जयपुर, इंदौर और पुणे में हालात ‘विशेष रूप से गंभीर’ है. मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस की चपेट में आकर अब तक 70 लोग मारे जा चुके हैं, इनमें से 52 लोग सिर्फ़ इंदौर से हैं.

Migrants walk towards their native village during a nationwide lockdown, imposed in the wake of coronavirus pandemic, in Bengaluru. (PTI Photo)

कोरोना वायरस: मध्य प्रदेश में मृत्यु दर राष्ट्रीय दर के मुकाबले दोगुनी हुई

स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, मध्य प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण से मृत्यु दर 7.5 प्रतिशत हो गई है, जो राष्ट्रीय स्तर पर इस महामारी से मृत्यु दर से दोगुने से भी ज़्यादा है.

(फोटो: रॉयटर्स)

उत्तराखंड: उत्तरकाशी में बीते तीन महीनों में एक भी बेटी पैदा नहीं हुई, जांच शुरू

उत्तराखंड के स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी की गई रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि उत्तरकाशी के 132 गांवों में बीते तीन महीनों में कुल 216 बेटे पैदा हुए हैं जबकि एक भी बेटी पैदा नहीं हुई. मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इस मामले पर संज्ञान लेते हुए जिलाधिकारी से रिपोर्ट मांगी है.

(फाइल फोटो: रॉयटर्स)

दिल्ली में स्वाइन फ्लू के 1000 से अधिक मामले, एक की मौत: रिपोर्ट

दिल्ली में स्वाइन फ्लू से कम से कम 14 मौतें हुई हैं, जिनमें सफदरजंग अस्पताल में तीन, राम मनोहर लोहिया अस्पताल में 10 और एम्स में एक मौत हुई है. हालांकि, दिल्ली के ये आंकड़े केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के डाटा में प्रदर्शित नहीं किए गए हैं.

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

जयपुर में ज़ीका वायरस का प्रकोप न रोक पाने में सरकारी बदइंतज़ामी की बड़ी भूमिका है

ग्राउंड रिपोर्ट: चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग जयपुर में ज़ीका वायरस पर नियंत्रण का दावा कर रहा है, लेकिन अधिकृत आंकड़ों के मुताबिक इसकी चपेट में आने वाले लोगों की संख्या 130 से ज़्यादा हो चुकी है.

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

राजस्थान में ज़ीका वायरस से प्रभावित लोगों की संख्या बढ़कर 55 हुई

राजस्थान की राजधानी जयपुर में 13 मामले और सामने आए. ज़्यादातर मामले जयपुर के शास्त्रीनगर इलाके में दर्ज किए गए हैं. गर्भवती महिलाओं को शास्त्री नगर न जाने की सलाह. फॉगिंग एवं अन्य एहतियाती उपाय जारी.

Hospital PTI File

बिल का भुगतान न होने पर मरीज़ को रोककर रखना ग़ैरक़ानूनी: बॉम्बे हाईकोर्ट

अदालत ने कहा कि अस्पताल बकाया बिल वसूलने के लिए क़ानूनी तरीके अपना सकते हैं. साथ ही सरकार को ऐसे रोगियों को संरक्षण देने की प्रणाली बनानी चाहिए.