Indian Meteorological Department

Prayagraj: A rickshaw puller ferrying passengers rides through a dust storm, in Prayagraj, Saturday, May 30, 2020. (PTI Photo)(PTI30-05-2020 000161B)

उत्तर एवं पश्चिम भारत में बारिश के चलते गर्मी से राहत; यूपी में 16 लोगों की मौत

मौसम विभाग अधिकारियों ने बताया कि उत्तर प्रदेश के उन्नाव बारिश और आंधी-तूफान से संबंधित घटनाओं में कम से कम आठ लोगों की, जबकि कन्नौज में पांच लोगों की मौत हुई है. तेज़ हवाओं के कारण ताजमहल को हल्का नुकसान पहुंचा है. आगरा ज़िले में तीन लोगों की मौत हुई है.

चक्रवाती तूफान अम्फान की वजह से कोलकाता में भारी बारिश हुई है, जिसकी वजह से कई इलाके जलमग्न हो गए हैं. (फोटो: रॉयटर्स)

पश्चिम बंगाल में चक्रवाती तूफान ‘अम्फान’ से 72 लोगों की मौत: ममता बनर्जी

भारी बारिश और 190 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार वाली हवाओं के साथ ‘अम्फान’ बुधवार दोपहर ढाई बजे पश्चिम बंगाल के दीघा तट से टकराया था. अधिकारियों ने बताया कि पश्चिम बंगाल में क़रीब पांच लाख लोगों को और ओडिशा में क़रीब 1.58 लाख लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है.

New Delhi: People warm themselves near a bonfire during a cold and foggy morning in New Delhi, Monday, Dec 30,2019. A thick blanket of fog engulfed the national capital on Monday morning affecting train and flight operations as visibility dropped drastically, with some observatories recording it at zero metres. (PTI Photo/Kamal Kishore) (PTI12_30_2019_000040B)

दिल्ली समेत उत्तर भारत में भीषण ठंड जारी, 119 सालों में सोमवार राजधानी का सबसे ठंडा दिन रहा

राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली में मंगलवार सुबह न्यूनतम तापमान 4.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो सोमवार की सुबह से दो डिग्री अधिक है. सोमवार को अधिकतम तापमान 9.4 और न्यूनतम तापमान 2.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था.

Patna: An elderly person being rescued from a flood-affected colony at Rajendra Nagar in Patna, Monday, Sept. 30, 2019. (PTI Photo)   (PTI9_30_2019_000086B)

देशभर में इस साल मानसूनी बारिश और बाढ़ से क़रीब 1,900 लोगों की मौत: सरकार

बिहार में इस साल 161 लोगों की मौत बाढ़ और बारिश से हो मौत हो चुकी है. बीते 27 से 30 सितंबर की बारिश के बाद राज्य में मरने वालों की संख्या 73 हुई. राजधानी पटना के कंकड़बाग, राजेंद्रनगर और पाटलिपुत्र में बैंक, दुकानें, निजी अस्पताल और कोचिंग संस्थान एक हफ्ते से बंद हैं.

Patna: Locals transport their belongings on a makeshift boat to a safer place from flood-affected Bahadurpur area following heavy monsoon rainfall, in Patna, Tuesday, Oct. 01, 2019. (PTI Photo) (PTI10_1_2019_000069B)

देशभर में वर्षाजनित हादसों में 148 लोगों की मौत, उत्तर प्रदेश और बिहार के कई इलाके डूबे

भारतीय मौसम विभाग ने कहा कि देश में 1994 के बाद इस मानसून में सबसे अधिक बारिश दर्ज की गई. केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने बिहार में बाढ़ के लिए हथिया नक्षत्र को ज़िम्मेदार ठहराया.

पटना में बाढ़ प्रभावित इलाकों से लोगों को निकालती नगर पालिका की टीम (फोटो: पीटीआई)

‘हमने भारी बारिश की चेतावनी दी थी, ताकि बिहार सरकार स्थिति से निपटने के लिए तैयार रहे’

विशेष रिपोर्ट: बिहार की राजधानी पटना स्थित मौसम विज्ञान केंद्र के उप निदेशक ने बताया कि 26 सितंबर से ही हम लोग वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के ज़रिये राज्य की एजेंसियों को बता रहे थे कि भीषण बारिश होगी. हमने राज्य सरकार को भी इसकी सूचना भेजी थी.

Muzaffarpur: A flooded village following incessant monsoon rains, at Mushari in Muzaffarpur district, Monday, July 15, 2019. (PTI Photo) (PTI7_15_2019_000166B)

बिहार-झारखंड में आकाशीय बिजली गिरने से 51 और असम में बाढ़ से अब तक 74 लोगों की मौत

बिहार में बाढ़ से अब तक मरने वालों की संख्या 123 पहुंची. बिहार में तकरीबन 82 लाख की आबादी और असम में करीब 39 लाख की आबादी बाढ़ से प्रभावित. उत्तर प्रदेश में बारिश से जुड़ी अलग-अलग घटनाओं में 14 लोगों की मौत.

Muzaffarpur: Flood-affected villagers use a boat to take a patient to hospital from their inundated village, at Mithan Sharay in Muzaffarpur, Tuesday, July 23, 2019. (PTI Photo) (PTI7_23_2019_000233B)

बिहार में बाढ़ से 106 और असम में 68 लोगों की मौत

बिहार के 12 ज़िलों में आई बाढ़ से 80 लाख 85 हजार से अधिक की आबादी प्रभावित हुई है, जबकि असम के 19 जिले के 28.01 लाख लोग इससे प्रभावित हुए हैं.

Sitamarhi: A man carries a child in a basket as he wades through a flooded street following incessant rainfall, in Sitamarhi, Friday, July 19, 2019. (PTI Photo)(PTI7_19_2019_000066B)

बिहार-असम में बाढ़ से 166 और उत्तर प्रदेश में आकाशीय बिजली गिरने से 34 लोगों की मौत

राजस्थान में आकाशीय बिजली गिरने से चार और केरल में बारिश से चार व्यक्तियों की मौत. बिहार में बाढ़ से 12 जिलों के 72.78 लाख लोग प्रभावित हैं जबकि असम के 33 जिलों में से 18 में रहने वाले 38.37 लाख लोग प्रभावित हैं.

Darrang: Local people stand near an embankment which was breached by the swollen Brahmaputra river at a village, in Darrang district of Assam, Saturday, July 20, 2019. (PTI Photo)(PTI7_20_2019_000050B)

बिहार और असम में बाढ़ से करीब 150 लोगों की मौत, 1.15 करोड़ लोग प्रभावित

बिहार में नवादा में बिजली गिरने से सात बच्चों समेत आठ की मौत. राज्य के 12 जिलों में 66.78 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हैं. असम के 33 में से 27 जिलों में 48.87 लाख लोग प्रभावित हैं.

Morigaon: Villagers relocate to a safer place from their flood-affected village following monsoon rains, in Morigoan, Friday, July 19, 2019. (PTI Photo) (PTI7_19_2019_000228B)

बाढ़ से असम, बिहार, मेघालय में 100 से ज़्यादा लोगों की मौत, केरल के तीन ज़िलों में रेड अलर्ट

बिहार के 12 जिलों में आई बाढ़ से अब तक 78 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 45 लाख 40 हजार से अधिक की आबादी प्रभावित हुई है. असम में 36 लोगों की मौत और करीब 54 लाख लोग विस्थापित हुए हैं.

Kamrup: People shift belongings from their submerged house at a flood-affected area, at Hatishila in Kamrup, Tuesday, July 16, 2019. (PTI Photo) (PTI7_16_2019_000096B)

बिहार में बाढ़ से 67 और असम में 28 लोगों की मौत

बिहार के 12 ज़िलों में आई बाढ़ से 46 लाख से अधिक की आबादी प्रभावित. असम में 57 लाख से अधिक लोग बाढ़ की वजह से विस्थापित हुए. मेघालय में 1.3 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित, मिज़ोरम में पांच हज़ार से ज़्यादा लोग शिविरों में रहने को मजबूर.

Kamrup: A family marooned on the top of a hut in the flood-hit locality of Panikhaiti in Kamrup district of Assam, Monday, July 15, 2019. (PTI Photo) (PTI7_15_2019_000212B)

असम और बिहार में बाढ़ से 55 और उत्तर प्रदेश में वर्षा जनित हादसों में 14 लोगों की मौत

केरल में भारी बारिश की संभावना. राज्य के छह ज़िलों में रेड अलर्ट जारी. असम का काज़ीरंगा राष्ट्रीय उद्यान का 90 प्रतिशत हिस्सा जलमग्न.

Dried Reservoir Reuters

देश के 91 बड़े जलाशयों में से 80 फीसदी में पानी सामान्य से कम, 11 जलाशय सूखे

देश में बारिश का मौसम एक जून से शुरु होकर 30 सितंबर तक चलता है, लेकिन 22 जून तक मानसून में औसतन 39 फीसदी की कमी दर्ज की गई है.

प्रतीकात्मक तस्वीर. (फोटो: रॉयटर्स)

किसान संगठन ने सरकार को सूखे को लेकर दी चेतावनी, समयपूर्व कदम उठाने की मांग की

एक प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति ने कहा कि साफ तौर पर हम एक ऐसी स्थिति देख रहे हैं जो राष्ट्रीय आपदा में बदल सकती है.