Indigo

(फाइल फोटो: पीटीआई)

भारत में डूब रहा नकद, निवेश की कर रहे समीक्षा: एयर एशिया

मलेशिया के एयर एशिया समूह ने संकेत दिया है कि वह भारत में साझे में चल रही अपनी विमानन सेवा कंपनी से निकल सकता है. एयर एशिया इंडिया में टाटा समूह स्थानीय हिस्सेदार है. छह साल से अधिक समय से चल रही इस कंपनी के लिए कोविड-19 और लॉकडाउन के बाद से कारोबार में चुनौती बढ़ गई है.

(फोटोः पीटीआई)

कंगना रनौत की हवाई यात्रा में नियमों का उल्लंघन करने वाले नौ मीडियाकर्मियों पर प्रतिबंध

नौ सितंबर को इंडिगो की चंडीगढ़-मुंबई फ्लाइट में अभिनेत्री कंगना रनौत सवार थीं. इस दौरान मीडियाकर्मियों द्वारा नियमों की अनदेखी करते हुए फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी करने के आरोप हैं. इसके बाद डीजीसीए ने विमानन कंपनियों को चेताया है कि अगर आगे ऐसा हुआ तो दो हफ़्तों के लिए फ्लाइट सस्पेंड कर दी जाएगी.

(फोटो: रॉयटर्स)

कोरोना वायरस: चार प्रमुख घरेलू एयरलाइंस पर एयरपोर्ट अथॉरिटी का बकाया दोगुने से अधिक हुआ

भारत में छह प्रमुख घरेलू विमानन कंपनियां- इंडिगो, स्पाइसजेट, गोएयर, एयर एशिया इंडिया, एयर इंडिया और विस्तारा हैं, जिन पर एक अगस्त तक एएआई का कुल 2,562.04 करोड़ रुपये बकाया है. यह एक फरवरी के स्तर से लगभग 10 प्रतिशत अधिक है.

(फोटोः पीटीआई)

कंगना रनौत की हवाई यात्रा में सुरक्षा नियमों के उल्लंघन पर डीजीसीए ने इंडिगो से रिपोर्ट मांगी

9 सितंबर को इंडिगो की चंडीगढ़-मुंबई फ्लाइट में अभिनेत्री कंगना रनौत सवार थीं. इस दौरान मीडियाकर्मियों द्वारा नियमों की अनदेखी करते हुए फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी करने के आरोप हैं. इसके बाद डीजीसीए ने विमानन कंपनियों को चेताया है कि अगर आगे ऐसा हुआ तो दो हफ़्तों के लिए फ्लाइट सस्पेंड कर दी जाएगी.

(फोटो: रॉयटर्स)

कोरोना के चलते विमानन उद्योग सबसे कमज़ोर स्थिति में, कुछ कंपनियां बंद होने के कगार पर: सीएपीए

विमानन क्षेत्र में परामर्श देने वाली कंपनी सेंटर फॉर एशिया पैसिफिक एविएशन ने कहा कि कोरोना संकट के चलते पूरे विमानन उद्योग को मिलाकर इस वित्त वर्ष में छह से साढ़े छह अरब डॉलर का घाटा हो सकता है.

(फोटोः पीटीआई)

कोरोना संकटः इंडिगो एयरलाइंस 10 फीसदी कर्मचारियों की छंटनी करेगी

एयर इंडिया ने इससे पहले अपनी वित्तीय स्थिति का हवाला देकर अपने कर्मचारियों को पांच साल के लिए बिना वेतन अवकाश पर भेजने का फैसला किया है.

(फोटो: पीटीआई)

लॉकडाउन: निजी विमानन कंपनी इंडिगो कर्मचारियों के वेतन में करेगी 25 प्रतिशत तक कटौती

वित्तीय संकट से जूझ रही एयर इंडिया के पायलटों की यूनियनों ने सरकार से राष्ट्रीय विमानन कंपनी को वित्तीय मदद देने की मांग की है.

(फोटो: रॉयटर्स)

कोरोना: एयर इंडिया ने रद्द किए 200 अस्थायी कर्मचारियों के अनुबंध

एयर इंडिया के एक अधिकारी ने बताया कि सभी विमानों का संचालन बंद होने से पिछले कुछ सप्ताह में एयरलाइन के राजस्व में बड़ी गिरावट आई है, जिसे देखते हुए एयरलाइन ने कुछ पायलटों समेत 200 कर्मचारियों के अनुबंध निलंबित कर दिए गए हैं जिन्हें सेवानिवृत्ति के बाद नियुक्ति दी गई थीं.

(फोटो: पीटीआई)

कोरोना: सभी कर्मचारियों के मार्च के वेतन में कटौती करेगा गो एयर

गो एयर ने कहा है कि कोरोना वायरस महामारी ने विमानन क्षेत्र के राजस्व पर भारी असर डाला है और इसलिए सभी कर्मचारियों के मार्च के वेतन में कटौती की जाएगी. इससे पहले शीर्ष नेतृत्व के वेतन में 50 प्रतिशत तक की कटौती की बात कही गई थी.

कुणाल कामरा. (फोटो साभार: फेसबुक/@kunalkamra88)

दिल्ली हाईकोर्ट का कुणाल कामरा की याचिका सुनने से इनकार, कहा- उचित प्राधिकरण में जाएं

स्टैंड-अप कॉमेडियन कुणाल कामरा विभिन्न एयरलाइन्स द्वारा उन पर प्रतिबंध लगाए जाने के ख़िलाफ़ अदालत पहुंचे थे. अदालत ने उनकी याचिका सुनने से मना करते हुए कहा कि वे अपनी शिकायत के साथ ‘उचित प्राधिकरण’ से संपर्क करें.

कॉमेडियन कुणाल कामरा (फोटो साभारः ट्विटर)

एयरलाइंस से कुणाल कामरा को प्रतिबंधित करने को कहने पर दिल्ली हाईकोर्ट ने डीजीसीए को फटकार लगाई

स्टैंड-अप कॉमेडियन कुणाल कामरा ने दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दाखिल कर डीजीसीए को प्रतिबंध हटाने के लिए एयरलाइंस को निर्देश दिए जाने का अनुरोध किया है.

अर्णब गोस्वामी और कुणाल कामरा. (फोटो साभार: ​फेसबुक)

अर्णब गोस्वामी से उलझने के बाद स्टैंड-अप कॉमेडियन पर चार एयरलाइनों ने यात्रा प्रतिबंध लगाया

स्टैंड अप कॉमेडियन कुणाल कामरा ने मुंबई से लखनऊ जा रहे इंडिगो विमान में पत्रकार अर्णब गोस्वामी को कथित तौर पर परेशान किया था. इंडिगो ने कामरा पर यात्रा प्रतिबंध लगा दिया था. इसके बाद केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने ट्वीट कर अन्य एयरलाइनों से कामरा पर ऐसा ही प्रतिबंध लगाने की अपील की थी.

Champaranfeatured

चम्पारन शताब्दी समारोह से नील की ​खेती करने वाला किसान गायब क्यों है?

चम्पारन सत्याग्रह शताब्दी समारोह के शोर के बीच मन में सवाल उठता है कि नील की खेती करने वाले हाड़-मांस के असली किसान, उनका परिवार, उनसे जुड़े लोग आज कहां हैं?