Indo-China border dispute

विदेश मंत्री एस. जयशंकर. (फोटो: पीटीआई)

गलवान झड़प के बाद भारत-चीन के रिश्ते गंभीर रूप से प्रभावित हुए हैं: एस.जयशंकर

न्यूयॉर्क में हुए एक कार्यक्रम में भारत के विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने कहा कि पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर बड़ी संख्या में हथियारों से लैस चीनी सैनिकों की मौजूदगी भारत के समक्ष ‘बहुत गंभीर’ सुरक्षा चुनौती है.

अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो. (फोटो: रॉयटर्स)

चीन ने भारत की उत्तरी सीमा पर 60,000 सैनिकों को तैनात किया: अमेरिकी विदेश मंत्री

अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने यह टिप्पणी हिंद-प्रशांत क्षेत्र, दक्षिण चीन सागर और पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर चीन के आक्रामक सैन्य बर्ताव को लेकर अमेरिका, जापान, भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच हुई बैठक के बाद की. जापान में हुई बैठक में पोम्पिओ ने विदेश मंत्री एस. जयशंकर से मुलाकात की थी.

भारत-चीन तनाव के बीच सैन्य सामग्री लेकर लद्दाख जाती सेना की गाड़ियां. (फोटो: पीटीआई)

सीमावर्ती क्षेत्रों में सैनिकों की संख्या और न बढ़ाने पर सहमत हुए भारत और चीन

सीनियर कमांडर स्तर की छठे दौर की बातचीत के एक दिन बाद भारत और चीन ने एक संयुक्त बयान जारी कर कहा कि वे सीमा पर सैनिकों की और अधिक संख्या न बढ़ाने और ज़मीन पर स्थिति में एकतरफ़ा बदलाव करने से बचने पर सहमत हुए हैं.

1109 TWBR.00_35_32_12.Still012

भारत-चीन सीमा विवाद: पांच मुद्दों पर बनी सहमति

वीडियो: भारत-चीन सीमा पर जारी तनाव को लेकर 10 सितंबर को भारत के विदेश मंत्री एस. जयशंकर और चीनी विदेश मंत्री वांग यी के बीच बैठक हुई. इस पूरे मुद्दे को लेकर वरिष्ठ पत्रकार प्रवीण साहनी की नज़रिया.

(फोटो: पीटीआई)

कश्मीर के लोगों से दो महीने का एलपीजी स्टॉक रखने का आदेश, घाटी में चिंता बढ़ी

ऐसा माना जा रहा है कि वास्तविक नियंत्रण रेखा पर भारत और चीन के बीच चल रहे गतिरोध के मद्देनज़र य​ह आदेश दिया गया है, हालांकि सरकार का कहना है कि आने वाले समय में राष्ट्रीय राजमार्ग बंद होने और भूस्खलन जैसी संभावनाओं को ध्यान में रखते हुए लोगों से सिलेंडर का स्टॉक रखने के लिए कहा गया है.

सोनिया गांधी. (फोटो: पीटीआई)

एलएसी पर चीन के साथ गतिरोध का मुख्य कारण सरकार का कुप्रबंधन: सोनिया गांधी

कांग्रेस कार्य समिति की बैठक में राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि चीन ने हमारी ज़मीन ले ली और कहा कि यह भारत की ज़मीन नहीं है और प्रधानमंत्री ने सार्वजनिक रूप से चीन के दावे का समर्थन किया है.

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह. (फोटो: पीटीआई)

प्रधानमंत्री को अपने कहे गए शब्दों के असर के प्रति सचेत होना चाहिए: मनमोहन सिंह

लद्दाख में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में शहीद हुए 20 भारतीय सैनिक के संबंध में जारी एक बयान में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा है कि आज हम इतिहास के एक नाज़ुक मोड़ पर खड़े हैं. हमारी सरकार के निर्णय एवं उसके द्वारा उठाए गए क़दम तय करेंगे कि भविष्य की पीढ़ियां हमारा आकलन कैसे करेंगी.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह. (फोटो: ट्विटर/@rajnathsingh)

राजनाथ सिंह ने कहा- भारत अब कमज़ोर देश नहीं रहा, समझौता नहीं करेगा

जम्मू कश्मीर के लिए एक वर्चुअल रैली को संबोधित करते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि सरकार आने वाले वर्षों में इस क्षेत्र में इतना विकास करेगी कि पाकिस्तान के क़ब्ज़े वाले कश्मीर के लोग भी भारत का हिस्सा बनने की मांग करेंगे. इससे पीओके को भारत का अभिन्न हिस्सा बताने वाला हमारा संसदीय संकल्प भी पूरा हो जाएगा.

10 June AKI .00_20_27_12.Still002

क्या है चीनी सैनिकों के भारतीय ज़मीन पर क़ब्ज़े की सच्चाई?

वीडियो: भारत-चीन सीमा क्षेत्र में हजारों चीनी सैनिकों की तैनाती के बाद उत्पन्न हुए संकट पर चर्चा करने के लिए बीते 6 जून को भारतीय और चीनी सैन्य कमांडरों ने लद्दाख के चुशुल में मुलाकत की. इस मुद्दे पर द वायर की सीनियर एडिटर आरफ़ा ख़ानम शेरवानी की अजय शुक्ला से बातचीत.