Landslide

विषम मौसम के कारण देश में जून से अगस्त के बीच 400 से अधिक लोगों की मौत

भारत मौसम विज्ञान विभाग द्वारा जुटाए गए आंकड़ों के अनुसार, दक्षिण-पश्चिम मानसून के कारण विषम मौसम की घटनाओं में पिछले तीन महीने में देशभर में कम से कम 435 लोगों की मौत हो गई. इनमें आकाशीय बिजली गिरने से जान गंवाने वाले 240 लोग शामिल हैं. यह संख्या कुल हताहतों का 50 फीसदी से अधिक है. इन घटनाओं में हुई मौतों में से एक तिहाई मौत महाराष्ट्र में हुई.

हिमाचलः किन्नौर में भूस्खलन से पांच की मौत, 30 से अधिक लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका

भूस्खलन हिमाचल प्रदेश के किन्नौर ज़िले के चौरा गांव में दोपहर से ठीक पहले हुआ. किन्नौर के उपायुक्त ने बताया कि हिमाचल प्रदेश सड़क परिवहन की बस समेत अनेक वाहन भूस्खलन के मलबे में दब गए. बस किन्नौर के रेकॉन्ग प्यो से शिमला जा रही थी. बस में तकरीबन 40 लोग सवार थे. हादसे में मरने वालों की संख्या बढ़ने की आशंका है.

महाराष्ट्र में बारिश का कहर जारी, कम से कम 136 लोगों की मौत

पश्चिमी महाराष्ट्र के पुणे मंडल में भारी बारिश और नदियों के उफान पर होने के चलते 84,452 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है. इनमें 40,000 से अधिक लोग कोल्हापुर ज़िले से हैं.  पिछले दो दिनों से महाराष्ट्र में हो रही भारी बारिश के कारण रायगढ़, रत्नागिरी, पालघर, ठाणे, सिंधुदुर्ग, कोल्हापुर, सांगली और सतारा आदि ज़िले भीषण बाढ़ की चपेट में हैं. कर्नाटक में भारी बारिश में तीन लोगों की मौत और हज़ारों लोगों को सुरक्षित निकाला गया.

महाराष्ट्र: रायगढ़ ज़िले में भूस्खलन के कारण 36 लोगों की मौत

महाराष्ट्र के तटीय रायगढ़ ज़िले में यह हादसा महाड तहसील के तलाई गांव में बृहस्पतिवार शाम को हुआ. इस हादसे में मृतकों की संख्या बढ़ सकती है. मुंबई के गोवंडी में मकान ढहने से चार की मौत होने की सूचना है. पिछले दो दिनों से राज्य में हो रही भारी बारिश के कारण रायगढ़, रत्नागिरी, पालघर, ठाणे, सिंधुदुर्ग, कोल्हापुर, सांगली और सतारा ज़िलों में भीषण बाढ़ आई हुई है, जिसके कारण कई हादसे भी हो चुके हैं.

मुंबईः भारी बारिश के बाद मकान ढहने की घटनाओं में 25 लोगों की मौत

प्रधानमंत्री ने मुंबई में भारी बारिश के बाद मकान ढहने की घटनाओं में मारे गए लोगों के परिजनों को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से दो-दो लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये की आर्थिक मदद देने की घोषणा की.

उत्तर प्रदेश, राजस्थान और मध्य प्रदेश में आकाशीय बिजली गिरने से कम से कम 70 लोगों की मौत

उत्तर भारत के विभिन्न राज्यों में बीते कुछ दिनों से लगातार बारिश हो रही है. आकाशीय बिजली की चपेट में आकर उत्तर प्रदेश में कम से कम 41, राजस्थान में 23 और मध्य प्रदेश में छह लोगों की मौत के मामले सामने आए हैं. उत्तर प्रदेश में मृतक के परिजनों को चार-चार लाख रुपये की सहायता प्रदान की जाएगी. प्रधानमंत्री ने मृतकों के लिए दो-दो लाख रुपये की सहायता देने की घोषणा की है.

केरल: भूस्खलन के कारण मरने वालों की संख्या बढ़कर 43 हुई, मुआवज़े को लेकर भेदभाव का आरोप

विपक्ष ने सत्तारूढ़ सीपीएम पर निशाना साधते हुए कहा है कि भूस्खलन से पीड़ित परिवार के लिए जारी मुआवज़ा राशि पर्याप्त नहीं. आरोप है कि केरल सरकार ने कोझिकोड विमान हादसे में मारे गए लोगों के लिए प्रति परिवार 10 लाख रुपये के मुआवज़े की घोषणा की, जबकि उसी दिन भूस्खलन में मारे गए लोगों के लिए प्रति परिवार सिर्फ़ पांच लाख की घोषणा की है.

केरल में भूस्खलन वाले स्थान से 20 शव बरामद; लापता व्यक्तियों की तलाश जारी

केरल के इडुक्की ज़िले में हुई भूस्खलन की घटना के बाद से 46 लोग अब भी लापता हैं. सात अगस्त को चाय बागान में काम करने वाले श्रमिकों के 20 मकान इस भूस्खलन की चपेट में आ गए थे. शुक्रवार को ही केरल के कोझिकोड में हुए विमान हादसे में कम से कम 18 लोगों की जान चली गई थी.

केरलः इडुक्की में लगातार बारिश से भूस्खलन, 15 लोगों की मौत, 40 लापता

केरल के इडुक्की के राजमाला इलाके में कुछ दिनों से लगातार हो रही बारिश से भूस्खलन हुआ. मौसम विभाग ने पथनमथिट्टा, कोट्टायम, इडुक्की और वायनाड जिलों में रेड अलर्ट जारी किया है.

उत्तराखंड: चमोली में भूस्खलन से छह लोगों की मौत

चमोली ज़िले में लगातार हो रही भारी बारिश के बाद तीन अलग-अलग गांवों में हुए भूस्खलन में मकान ढहने से नौ माह की बच्ची समेत 6 लोगों की मौत हो गई. क्षेत्र में अलर्ट जारी.

Solan: NDRF men undertake rescue works after a building collapsed at Kumarhatti-Nahan road in Solan, Sunday, July 14, 2019. (PTI Photo) (PTI7_14_2019_000174B)

हिमाचल प्रदेश के सोलन में इमारत गिरने से सेना के 13 कर्मचारियों समेत 14 लोगों की मौत

पुलिस ने बताया कि सोलन में नाहन-कुमारहट्टी सड़क पर स्थित एक इमारत रविवार शाम भारी बारिश के बाद गिर गई. इस घटना में 28 लोग घायल हुए हैं. एनडीआरएफ की टीम राहत एवं बचाव कार्य में लगी है.

West Kameng: A view of the village after incessant rains triggered landslides and flash floods at Kaspi Nala near Nag-Mandir Tenga in West Kameng district of Arunachal Pradesh, Tuesday, July 9, 2019. (PTI Photo) (PTI7_9_2019_000154B)

असम: बाढ़ से हालात गंभीर, 500 से ज़्यादा गांव प्रभावित, चार की मौत

असम के ग्यारह ज़िलों में दो लाख से ज़्यादा लोग प्रभावित. अरुणाचल प्रदेश और मेघालय में भारी बारिश और भूस्खलन के चलते जनजीवन अस्त-व्यस्त.

इंडोनेशिया में सुनामी से 168 लोगों की मौत, 745 घायल

इंडोनेशिया की राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन एजेंसी ने कहा कि क्राकातोआ ज्वालामुखी के फटने के बाद समुद्र के नीचे हुआ भूस्खलन सुनामी का संभावित कारण हो सकता है.

नॉर्थ ईस्ट डायरी: पूर्वोत्तर के वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं ने छोड़ी पार्टी

इस हफ्ते नॉर्थ ईस्ट डायरी में मेघालय, मिजोरम, मणिपुर, अरुणाचल प्रदेश, असम और सिक्किम के प्रमुख समाचार.

Kailashahar: A woman on a bamboo raft carrying food and water through a flooded street, in Kailashahar on Friday, June 15, 2018. (PTI Photo) (PTI6_16_2018_000101B)

पूर्वोत्तर में बाढ़ से 13 लोगों की मौत, आठ लाख लोग प्रभावित, असम-मणिपुर में स्थिति बिगड़ी

केरल में 15 दिन से जारी बारिश की वजह से अब तक 45 लोगों की मौत. दिल्ली-एनसीआर में धुंध की वजह से प्रदूषण बरक़रार. पंजाब और हरियाणा में धूल भरी धुंध से थोड़ी राहत.