Mob Lynching in Rajasthan

endorse-letter-The Wire

मॉब लिंचिंग पर मोदी को पत्र लिखने वाले लोगों के समर्थन में उतरीं 185 हस्तियां

तीन अक्टूबर को बिहार की एक अदालत के आदेश पर फिल्म निर्देशक श्याम बेनेगल, निर्देशक अडूर गोपालकृष्णन, मणिरत्नम, इतिहासकार रामचंद्र गुहा, गायिका शुभा मुद्गल, अभिनेत्री और निर्देशक अपर्णा सेन सहित 49 हस्तियों के ख़िलाफ़ एफआईआर दर्ज की गई थी. इन लोगों ने मॉब लिंचिंग की घटनाओं को लेकर चिंता जताते हुए प्रधानमंत्री को पत्र लिखा था.

श्याम बेनेगल, रामचंद्र गुहा, अनुराग कश्यप और अपर्णा सेन.

बिहार: लिंचिंग और घृणा अपराध पर मोदी को पत्र लिखने वाली हस्तियों के ख़िलाफ़ याचिका दायर

देश में मॉब लिंचिंग और घृणा अपराध की बढ़ती संख्या को देख चिंता व्यक्त करते हुए बीते मंगलवार को श्याम बेनेगल सहित 49 हस्तियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर कहा था कि मुस्लिमों, दलितों और अन्य अल्पसंख्यकों के साथ हो रही लिंचिंग की घटनाएं तुरंत रुकनी चाहिए.

New Delhi: Prime Minister Narendra Modi at the silver jubilee celebration of National Human Right Commission, in New Delhi, Friday, Oct 12, 2018. (PTI Photo/Atul Yadav) (PTI10_12_2018_100098B)

49 हस्तियों ने मॉब लिंचिंग पर प्रधानमंत्री को लिखा पत्र, दोषियों के ख़िलाफ़ सख़्त सज़ा की मांग

गायिका शुभा मुद्गल, अभिनेत्री कोंकणा सेन शर्मा, फिल्मकार श्याम बेनेगल, अनुराग कश्यप, अपर्णा सेन और मणि रत्नम सहित विभिन्न क्षेत्रों की कम से कम 49 हस्तियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर कहा है कि मुस्लिमों, दलितों और अन्य अल्पसंख्यकों के साथ हो रही लिंचिंग की घटनाएं तुरंत रुकनी चाहिए.

किशनगढ़बास के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पुलिस के साथ मोहम्मद सगीर. (फोटो: द वायर/विजय सिंह)

राजस्थान के अलवर में फिर मॉब लिंचिंग, कथित गोरक्षकों ने पीट-पीटकर किया अधमरा

अलवर ज़िले के किशनगढ़बास थाना क्षेत्र के बघेरी खुर्द गांव में रविवार सुबह मोहम्मद सगीर को कथित गोरक्षकों ने बेरहमी से पीटा. गंभीर रूप से घायल सगीर ज़िला अस्पताल के आईसीयू में ज़िंदगी और मौत के बीच संघर्ष कर रहे हैं.

37952722_490642658015031_2837327194705887232_n

राजस्थान: सहेली का मोबाइल नंबर न देने पर 10वीं की छात्रा की पीट-पीटकर हत्या

राजस्थान के दौसा में हुई घटना के संबंध में पुलिस ने चार युवकों के ख़िलाफ़ हत्या का मामला दर्ज किया है. अभी तक किसी की भी गिरफ़्तारी नहीं हो सकी है.

अलवर ज़िले में जहां अकबर ख़ान को पीटा गया वहां का मुआयना करती पुलिस और रामगढ़ से भाजपा विधायक ज्ञानदेव आहूजा. (फोटो साभार: एएनआई/राज्यसभा)

भाजपा विधायक का आरोप: अलवर में भीड़ की नहीं, पुलिस की पिटाई से हुई रकबर की मौत

भाजपा के स्थानीय विधायक ज्ञानदेव आहूजा व घटना की सूचना देने वाले शख़्स के मुताबिक पुलिस अकबर ख़ान को अस्पताल ले जाने की बजाय थाने ले गई, जहां उसके साथ बेरहमी से मारपीट हुई. पुलिस ने आरोपों को खारिज किया. वहीं पूर्व विधायक जुबेर ख़ान ने भाजपा विधायक के आरोप को आरोपियों को बचाने की साज़िश बताया.