Moral Policing

मेरठ में लव जिहाद के नाम पर विहिप के लोगों द्वारा पीटा गया युवक. (फोटो: मोनिज़ा हफ़ीज़ी)

ख़ौफ़ के साये में जी रहे हैं मेरठ में लव जिहाद के नाम पर पीटे गए युवक-युवती

ग्राउंड रिपोर्ट: उत्तर प्रदेश के मेरठ में बीते 23 सितंबर को लव जिहाद के नाम पर पहले विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं और फिर पुलिस द्वारा प्रताड़ित किए गए युवक-युवती की प्रताड़ना का सिलसिला अब भी जारी है.

मुस्लिम छात्र को पुलिस के सामने पीटते विहिप के कार्यकर्ता (फोटो: ट्विटर)

मेरठ में लव जिहाद के नाम पर युवक-युवती पर हमला, विहिप कार्यकर्ताओं पर केस दर्ज

मेरठ में पुलिस द्वारा मेडिकल छात्रा की पिटाई का वीडियो वायरल होने के बाद अब छात्रा के मुस्लिम दोस्त की पिटाई का वीडियो वायरल हुआ है, जिसमें पुलिस के सामने विहिप के लोग छात्र को पीट रहे हैं.

केरल हाईकोर्ट (फोटो: पीटीआई)

प्रेम संबंध निजी मामला, कॉलेज को दख़ल का अधिकार नहीं: केरल हाईकोर्ट

कोल्लम के एक कॉलेज द्वारा छात्र-छात्रा को प्रेम संबंध के चलते निष्कासित करने के फैसले को ख़ारिज करते हुए अदालत ने कहा कि इसे अनुशासनहीनता मानना प्रबंधन के नैतिक मूल्यों पर आधारित है. यह किसी के लिए पाप हो सकता है, किसी अन्य के लिए नहीं.

(फोटो: गूगल मैप)

असम: नैतिकता के नाम पर युगल को रात भर पीटा, महिला का सिर मुंड़ाया

असम के नगांव ज़िले का मामला. पुलिस के अनुसार, नाजायज संबंधों के शक में ग्रामीणों ने युवक युवती से बदसलूकी की. इससे पहले गोलपाड़ा ज़िले में बाइक से जा रहे युगल के साथ मारपीट की गई थी.

Aligarh Muslim University India Visit Online 1

अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय: जो धार्मिक पाठ ही नहीं है, उसको लेकर हंगामा है क्यों बरपा…

एएमयू को एक लड़की की गुस्ताख़ी पसंद नहीं आई, इसलिए एक ऐसा नारा जो इस्लामिक भी नहीं है उस पर हायतौबा मची है. ये देखना भी कम दिलचस्प नहीं है कि यूनिवर्सिटी किसी ज़िम्मेदार शैक्षणिक संस्थान की तरह व्यवहार करने की बजाय फ़तवे की किताब खोलकर बैठ गई है.

कोलकाता के कुछ मेट्रो स्टेशनों के बाहर दो मई को ‘होक​ आलिंगन’ और ‘आई लव कोलकाता’ के पोस्टर लेकर युवाओं ने मोरल पुलिसिंग का विरोध किया. (फोटो साभार: @zeesalaamtweet)

कोलकाता मेट्रो में गले लगने वाले जोड़े की पिटाई के विरोध में प्रदर्शन

युवाओं ने कई मेट्रो स्टेशनों पर ‘होक आलिंगोन’ यानी ‘गले लगो’ का पोस्टर लेकर किया प्रदर्शन. कोलकाता मेट्रो में युवक-युवती के गले लगने पर नाराज़ लोगों ने उन्हें पीटा था.

Pahalgam Kashmir

शादी के दिन शिक्षक दंपत्ति बर्ख़ास्त, स्कूल का दावा- रोमांस से छात्र प्रभावित होंगे

जम्मू कश्मीर: स्कूल अध्यक्ष ने कहा कि ये शिक्षक शादी से पहले रोमांटिक रिलेशनशिप में थे, जिसका छात्रों पर गलत असर पड़ता. अध्यापक ने कहा पक्ष रखने का मौका नहीं दिया गया.

सत्यजित रे फिल्म एवं टेलीविज़न संस्थान (एसआरएफटीआई), कोलकाता (फोटो: पीटीआई)

कोलकाता के सत्यजित रे फिल्म संस्थान से 14 छात्राएं निष्काषित

कई हफ्तों से धरने पर बैठे सत्यजित रे फिल्म एवं टेलीविज़न संस्थान के छात्र-छात्राओं ने प्रबंधन पर तानाशाही रवैया अपनाने का आरोप लगाया.

indian women

घर के भीतर वाले ‘रोमियो’ से महिलाओं को कौन बचाएगा?

सड़क नहीं बल्कि अपने ही घर की चारदीवारी के भीतर होने वाली हिंसा महिलाओं की शारीरिक तथा मानसिक असुरक्षा और टूटन की सबसे बड़ी वजह है.

anarkali2

वेश्याओं और प्रेमिकाओं के पार

जब फिल्मी गाने लड़कियों को तंदूरी मुर्गी बता रहे हैं, तब किसी को तो उन लड़कों को वेश्याओं और प्रेमिकाओं की परिभाषाओं के पार उन ज़िंदा औरतों के बीच ले जाना होगा जो चाहे जिस्म बेचती हों या इंश्योरेंस- जब न कहें तो एक भले आदमी को चाहिए कि वह दरवाज़ा खोले और वापस लौट जाए.

बॉम्बे हाईकोर्ट (फोटो: पीटीआई)

जज ने पत्रकार से पूछा क्या कोर्ट में जींस-टीशर्ट में आना ‘बॉम्बे’ का कल्चर है?

बॉम्बे हाई कोर्ट में क़ानूनी रिपोर्टिंग करने वाले पत्रकारों ने इस सवाल से नाराज़ होकर कोर्ट से वॉक आउट कर दिया.

Anti Romeo Squad PTI 1

एंटी रोमियो स्क्वाड: स्त्री को क़ाबू में करने का नया हथियार

प्रेम समाज की सीमाओं को तोड़ता है, एक स्तर पर समानता भी लाता है. समाज और पितृसत्ता के ठेकेदार तो इसके ख़िलाफ़ रहेंगे ही, क्योंकि प्रेम के कारण न सिर्फ़ स्त्रियों, बल्कि युवा पुरुष वर्ग पर भी प्रभुत्व ख़त्म हो जाएगा, इसलिए उनके लिए वो अस्वीकार्य है.

The Union Minister for Women and Child Development, Smt. Maneka Sanjay Gandhi addressing the 63rd meeting of the Central Advisory Board Of Education (CABE), in New Delhi on August 19, 2015.

हॉस्टल में लड़कियों के लिए लक्ष्मण रेखा ज़रूरी: मेनका गांधी

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (आठ मार्च) से ​ठीक पहले महिला और बाल विकास मंत्री मेनका गांधी अपने एक बयान की वजह से विवादों में घिर गई हैं. उन्होंने लड़कियों के लिए हॉस्टल में समयसीमा तय करने के नियम को उचित ठहराया है.