Nawada

Nawada Bihar

बिहार: डायन होने का आरोप लगाकर महिला की पीट-पीटकर हत्या

बिहार के नवादा ज़िले का मामला. जुलाई में नवादा ज़िले में ही एक महिला की डायन होने के संदेश में हत्या कर दी गई थी. जुलाई में ही झारखंड के गुमला ज़िले में जादू-टोना करने के शक में दो महिलाओं समेत चार लोगों की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी.

Nawada Bihar

बिहार: डायन बताकर महिला की पीट-पीटकर हत्या

मामला बिहार के नवादा ज़िले का है. पुलिस ने बताया कि इस मामले में कुल 12 लोगों के ख़िलाफ़ प्राथमिकी दर्ज कराई गई है. मुख्य आरोपी सहित चार अन्य को गिरफ़्तार कर पूछताछ की जा रही है. वहीं, झारखंड के गिरिडीह में जादू-टोना करने के शक में दो महिलाओं सहित तीन लोगों को कथित तौर पर मानव मल खाने को मजबूर किया गया.

Summer Heat Wave Reuters

बिहार: लू की वजह से 78 लोगों की मौत, गया ज़िले में धारा 144 लागू

भीषण गर्मी को देखते हुए बिहार के सभी ज़िलों में सरकारी और गैर सरकारी स्कूलों आगामी 22 जून तक बंद रखने के निर्देश दिए गए हैं.

बिहार के गया जिले में स्थित अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कॉलेज में लू की चपेट में आने वालों का इलाज चल रहा है. (फोटो साभार: एएनआई)

बिहार: पिछले 24 घंटे में लू लगने से 48 लोगों की मौत, 100 से अधिक अस्पताल में भर्ती

पिछले 24 घंटे में बिहार के औरंगाबाद जिले में 27, गया में 17 और नवादा में चार लोगों की मौत लू लगने से हुई है. वहीं, औरंगाबाद जिले के विभिन्न अस्पतालों में 40 से अधिक लोगों का इलाज चल रहा है.

गिरिराज सिंह (फोटो: पीटीआई)

बेगुसराय से ही चुनाव लड़ेंगे गिरिराज सिंह: भाजपा अध्यक्ष अमित शाह

अमित शाह ने ट्वीट कर कहा है कि संगठन गिरिराज सिंह की सभी समस्याओं का समाधान निकालेगा. सीट बदलने पर गिरिराज सिंह ने कहा था कि इससे उनके स्वाभिमान को ठेस पहुंची है.

गिरिराज सिंह. (फोटो साभार: फेसबुक)

जयंत सिन्हा के बाद मोदी के एक और मंत्री दंगे के आरोपियों से मिलने जेल पहुंचे

केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने बिहार की नवादा जेल पहुंचकर सांप्रदायिक दंगें भड़काने के आरोपी हिंदू नेताओं से मुलाकात की. एक अन्य दंगे के आरोपी के परिवार से मिलकर रोते हुए उन्होंने कहा कि सरकार में रहकर भी कुछ नहीं कर पाने की विवशता है.

Aurangabad: A scene of arson after violent clashes between two groups during a Ramnavmi procession in Aurangabad district on Monday. PTI Photo   (PTI3_26_2018_000132B)

बिहार से ग्राउंड रिपोर्ट: क्या रामनवमी के बाद हुई हिंसा के लिए बाहरी ज़िम्मेदार थे?

रामनवमी के बाद बिहार के विभिन्न ज़िलों में फैली सांप्रदायिक हिंसा के एक महीने बाद इन इलाकों में हिंदू-मुस्लिमों के बीच किसी तरह का मनमुटाव या दुर्भावना नहीं दिखती.