non-performing assets

(फोटो: रॉयटर्स)

एनपीए के चलते एसबीआई को 7,718 करोड़ रुपये का घाटा

आंकड़े बीते वित्त वर्ष 2017-18 की चौथी तिमाही के हैं. वहीं, पूरे वर्ष के दौरान बैंक को 6,547 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ. पिछले वित्त वर्ष 2016-17 में बैंक ने 10,484 करोड़ रुपये का मुनाफा कमाया था.

EP 243 Raw

जन गण मन की बात, एपिसोड 244: कर्नाटक में नई सरकार और एनपीए

जन गण मन की बात की 244वीं कड़ी में विनोद दुआ कर्नाटक में बनी नई सरकार और एनपीए को लेकर संसदीय समिति के सामने पेश हुए रिज़र्व बैंक गवर्नर उर्जित पटेल के बारे में चर्चा कर रहे हैं.

जम्मू कश्मीर के उपमुख्यमंत्री कवींद्र गुप्ता (बाएं) और जम्मू कश्मीर विधानसभा अध्यक्ष निर्मल सिंह (दाएं) (फोटो साभार: फेसबुक)

जम्मू कश्मीर भाजपा नेताओं द्वारा विवादित ज़मीन के लिए लिया गया 29 करोड़ का क़र्ज़ एनपीए घोषित

निर्मल सिंह और कुछ बड़े भाजपा नेताओं ने वर्ष 2000 में हिमगिरी इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट लिमिटेड नामक कंपनी का गठन किया था. कंपनी के पास जम्मू कश्मीर बैंक के 29.31 करोड़ रुपये ऋण के रूप में बकाया है. ज़मीन पर निर्माण होने से सेना को है आपत्ति.

अनिल अंबानी (रॉयटर्स)

अनिल अंबानी की कंपनी का 9,000 करोड़ रुपये का क़र्ज़ एनपीए घोषित

अनिल अंबानी समूह की कंपनी रिलायंस नेवल एंड इंजीनियरिंग पर आईडीबीआई की अगुवाई वाले दो दर्जन से अधिक बैंकों का क़रीब 9,000 करोड़ रुपये का क़र्ज़ बकाया है.

EP 221 RAW

जन गण मन की बात, एपिसोड 221: नाकाम मोदी सरकार और बट्टा खाता

जन गण मन की बात की 221वीं कड़ी में विनोद दुआ नरेंद्र मोदी सरकार की नाकामी और 2.41 लाख करोड़ रुपये के क़र्ज़ को बट्टे खाते में डालने पर चर्चा कर रहे हैं.

रिज़र्व बैंक आॅफ इंडिया. (फोटो: रॉयटर्स)

सरकारी बैंकों ने 2014-15 से सितंबर 2017 तक 2.41 लाख करोड़ रुपये का क़र्ज़ बट्टे खाते में डाला: सरकार

वित्त राज्यमंत्री शिवप्रताप ​शुक्ला ने राज्यसभा में रिज़र्व बैंक के हवाले से एक लिखित जवाब में यह जानकारी दी.

urjit reuters

हम बैंकों को स्वच्छ बनाने के लिए नीलकंठ बनने को तैयार हैं: उर्जित पटेल

आरबीआई गवर्नर पटेल ने पीएनबी घोटाले पर कहा, ‘मैंने आज बोलना इसलिए तय किया ताकि यह बता सकूं कि बैंकिंग क्षेत्र के घोटाले एवं अनियमितताओं से आरबीआई भी गुस्सा, तकलीफ और दर्द महसूस करता है.’

Commuters walk past a State Bank of India branch in the old quarters of Delhi November 13, 2013. State Bank of India (SBI) posted its steepest quarterly profit fall in more than two years as nonperforming loans increased, underlining the difficulties the bank's first chairwoman faces in keeping a lid on deteriorating assets. REUTERS/Mansi Thapliyal (INDIA - Tags: BUSINESS) - RTX15BLY

सार्वजनिक बैंकों ने 38 क़र्ज़दारों के 516 करोड़ रुपये बट्टे खाते में डाले

वित्त मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, 31 मार्च 2017 तक कुल 1,762 डिफाल्टरों के ऊपर भारतीय स्टेट बैंक का 25,104 करोड़ रुपये बकाया है. वहीं सार्वजनिक क्षेत्र के सभी बैंकों का 8,915 डिफाल्टरों पर 92,376 करोड़ रुपये बकाया है.

Farmers Draught India Reuters 1

किसानों के मुक़ाबले उद्योग जगत पर नौ गुना ज़्यादा एनपीए: आरटीआई

सूचना के अधिकार के तहत मिली जानकारी के अनुसार, किसानों का एनपीए 66,176 करोड़ है, तो उद्योगों का एनपीए 5,67,148 करोड़ रुपये है. कुल एनपीए में निजी बैंकों के मुक़ाबले सार्वजनिक बैंकों का एनपीए आठ गुना ज़्यादा है.

Indian Prime Minister Narendra Modi (R) listens to Finance Minister Arun Jaitley during the Global Business Summit in New Delhi, India, in this January 16, 2015 file photo. After a drubbing in a state poll in November, Modi wants to overhaul his cabinet to weed out underperformers and improve his government's image. Problem is, several sources said, he can't find the right replacements.   REUTERS/Anindito Mukherjee/Files

मोदी सरकार ने अमीरों का 1.88 लाख करोड़ रुपये का क़र्ज़ माफ़ किया: कांग्रेस

कांग्रेस ने पूछा, कोई ऋण माफ नहीं किया गया है, यह कहकर जेटली 125 करोड़ भारतीयों की समझदारी का अपमान क्यों कर रहे हैं?

प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो: पीटीआई)

गुजरात: पिछले तीन साल में एनपीए में ढाई गुना से ज़्यादा की बढ़ोतरी

राज्य स्तरीय बैंकर्स कमेटी की रिपोर्ट के अनुसार, गुजरात में एनपीए 35 हज़ार करोड़ रुपये के आंकड़े को पार कर गया है.

The Reserve Bank of India (RBI) seal is pictured on a gate outside the RBI headquarters in Mumbai July 30, 2013. India's central bank left interest rates unchanged on Tuesday as it supports a battered rupee but said it will roll back recent liquidity tightening measures when stability returns to the currency market, enabling it to resume supporting growth.  REUTERS/Vivek Prakash (INDIA - Tags: BUSINESS LOGO) - RTX124GY

एनपीए एकमात्र ऐसा घोटाला है जिसका कोई खलनायक नहीं है

10 बड़े बिजनेस समूहों पर 5 लाख करोड़ का कर्ज़ बक़ाया है. इन पांच लाख करोड़ के लोन डिफॉल्टर वालों के यहां मंत्री से लेकर मीडिया तक सब हाजिरी लगाते हैं.