Red Fort Privatisation

लाल क़िला. (फोटो साभार: विकिमीडिया कॉमंस)

लाल क़िला: विपक्षी दलों ने उठाए सवाल, सरकार की सफ़ाई- सिर्फ़ देखरेख के लिए निजी हाथों में दिया

पर्यटन मंत्रालय और डालमिया समूह के बीच हुए समझौते के तहत लाल क़िला की देखरेख में पांच साल में ख़र्च होंगे 25 करोड़ रुपये. कांग्रेस ने कहा कि नरेंद्र मोदी आज़ादी के प्रतीक लाल क़िले को कॉरेपोरेट के हाथों बंधक रखने की तैयारी कर रहे हैं.