Sarbananda Sonowal

(फोटो साभार: ट्विटर/@kushaldebroy)

असम-मिज़ोरम सीमा पर फ़िर हुई हिंसा, असम के हैलाकांडी ज़िले में निषेधाज्ञा लागू

मिज़ोरम के कोलासिब और असम के हैलाकांडी ज़िले में बीते नौ फरवरी की रात हुई झड़प में कई लोग घायल हो गए. पिछले साल अक्टूबर-नवंबर में भी असम के कछार ज़िले और मिज़ोरम के कोलासिब ज़िले के लोगों के बीच हिंसक झड़प हुई थी, जिसके बाद सीमा पर तब कई दिन तक तनाव रहा था.

असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल. (फोटो साभार: फेसबुक/Sarbananda Sonowal)

असम ने कहा, पड़ोसी राज्यों ने इस साल 56 बार उसकी ज़मीन पर अतिक्रमण किया

असम सरकार ने सोमवार को विधानसभा को सूचित किया कि 2020 में अरुणाचल प्रदेश, मेघालय, नगालैंड और मिज़ोरम राज्यों द्वारा भूमि अतिक्रमण की घटनाओं का सामना करना पड़ा. कछार ज़िले से सबसे ज़्यादा 17 मामले सामने आए, जिसमें असम और मिज़ोरम के लोगों के बीच हिंसक झड़पें हुईं और एक व्यक्ति की मौत हो गई थी.

ऑयल इंडिया के कुएं में लगी आग. (फाइल फोटो: पीटीआई)

असम: क़रीब पांच महीने बाद पूरी तरह बुझाई गई ऑयल इंडिया के कुएं की आग

तिनसुकिया ज़िले के बाघजान में ऑयल इंडिया लिमिटेड के एक कुएं में 27 मई से शुरू हुए गैस रिसाव में हफ़्ते भर बाद आग लग गई थी. अब कंपनी की ओर से बताया गया है कि रविवार को विदेशी विशेषज्ञों की सहायता से क्षतिग्रस्त कुएं को सफलतापूर्वक बंद करके आग को पूरी तरह बुझा दिया गया.

(प्रतीकात्मक फोटो: पीटीआई)

असम-मिज़ोरम में सीमा पर गतिरोध बरक़रार, मिज़ोरम में कोई ट्रक प्रवेश नहीं कर पाया

बीते 17 अक्टूबर को असम के कछार ज़िले के लैलापुर गांव और मिज़ोरम के कोलासिब ज़िले के वैरेंगटे गांव के निवासियों के बीच हिंसक झड़प हुई थी, जिसके बाद से दोनों राज्यों में तनाव जारी है. इसी दौरान असम के एक व्यक्ति की मिज़ोरम में कथित तौर पर पुलिस हिरासत में मौत हो गई.

(फोटो साभार: ट्विटर/@MidageM)

मिज़ोरम में असम के व्यक्ति की हिरासत में मौत के बाद सीमा पर गतिरोध के बीच तनाव और बढ़ा

असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने एक व्यक्ति की पड़ोसी राज्य में हिरासत में मौत के बाद गृहमंत्री अमित शाह को मिज़ोरम के साथ तनाव के मुद्दे पर पत्र लिखा है. बीते 17 अक्टूबर को असम के कछार ज़िले के लैलापुर गांव और मिज़ोरम के कोलासिब ज़िले के वैरेंगटे गांव के निवासियों के बीच हिंसक झड़प हुई थी,​ जिसके बाद से दोनों राज्यों में तनाव जारी है.

(फोटो साभार: फेसबुक)

असम पुलिस भर्ती पेपर लीक मामले में मुख्य आरोपियों में से एक पूर्व डीआईजी पीके दत्ता गिरफ़्तार

असम पुलिस में उप-निरीक्षकों के 597 पदों की लिखित परीक्षा का प्रश्न पत्र 20 सितंबर को लीक हो गया था. इस मामले में अब तक एक पूर्व नेता दीबान डेका सहित 32 लोगों को गिरफ़्तार किया गया है. डेका को गिरफ़्तारी के बाद भाजपा ने पार्टी से निकाल दिया था.

​दीबान डेका. (फोटो साभार: फेसबुक)

असम: पुलिस पेपर लीक के आरोपी दीबान डेका ने किया आत्मसमर्पण, भाजपा ने पार्टी से निष्कासित किया

असम पुलिस में उपनिरीक्षकों के 597 पदों की लिखित परीक्षा का प्रश्न पत्र बीते 20 सितंबर को लीक हो गया था. इस मामले में भाजपा नेता दीबान डेका आरोपी हैं. मुख्य आरोपी पूर्व डीआईजी पीके दत्ता की अभी भी पुलिस को तलाश है.

Jabalpur: Students leave an examination centre after appearing for the JEE 2020 entrance papers, amid the ongoing coronavirus pandemic, in Jabalpur, Wednesday, Sept. 2, 2020. (PTI Photo)(PTI02-09-2020 000077B)

असम पुलिस पेपर लीक मामले में 19 गिरफ़्तार, फ़रार पूर्व डीआईजी और भाजपा नेता पर इनाम घोषित

असम पुलिस में उपनिरीक्षकों के 597 पदों की लिखित परीक्षा का प्रश्न पत्र बीते 20 सितंबर को लीक हो गया था. परीक्षा शुरू होने के कुछ मिनट के अंदर ही इसे रद्द कर दिया गया था. पुलिस मुख्य आरोपी पूर्व डीआईजी और भाजपा के एक नेता की गिरफ़्तारी के लिए छापेमारी कर रही है.

पीड़ित शख़्स शौकत अली (फोटो साभार: यूट्यूब वीडियो)

असम: गोमांस बेचने पर पीटे गए शख़्स को एक लाख रुपये का मुआवज़ा देने का एनएचआरसी का आदेश

अप्रैल 2019 में बिश्वनाथ ज़िले के 48 वर्षीय शौक़त अली को भीड़ ने उनकी दुकान पर पका हुआ गोमांस बेचने के आरोप में पीटा था और सुअर का मांस खिलाया था. एनएचआरसी ने असम सरकार को अली के मानवाधिकार उल्लंघन के लिए एक लाख रुपये मुआवज़ा देने का आदेश दिया है.

ऑयल इंडिया के कुएं में लगी आग. (फाइल फोटो: पीटीआई)

सौ दिन से हो रहे गैस रिसाव में लगी आग दो और महीने जारी रह सकती हैः असम सरकार

तिनसुकिया ज़िले के बाघजान में ऑयल इंडिया लिमिटेड के एक कुएं में 27 मई से शुरू हुए गैस रिसाव में हफ्ते भर बाद आग लग गई थी, जिसे अब तक बुझाया नहीं जा सका है. वाणिज्य और उद्योग मंत्री चंद्रमोहन पटवारी ने विधानसभा में कहा कि कनाडा से विशेषज्ञों को बुलाया गया है, जिन्हें आग बुझाने में दो और महीने लग सकते हैं.

(फोटो: पीटीआई)

असम: गैस रिस रहे क्षतिग्रस्त कुएं को 83 दिनों बाद बंद किया गया

तिनसुकिया ज़िले के बाघजान में 27 मई से ऑयल इंडिया लिमिटेड के एक तेल के कुएं में ब्लो आउट होने के बाद से लगातार गैस रिसाव हो रहा था. कंपनी के अनुसार अब कुएं के मुंह को बंद कर दिया गया है. साथ ही गैस रिसाव और उसमें लगी आग को काबू करने के प्रयास किए जा रहे हैं.

(फोटो: पीटीआई)

असम: तेल के कुएं से गैस रिसाव रोकने का दूसरा प्रयास भी असफल, जून से लगी हुई है आग

तिनसुकिया ज़िले के बाघजान गांव में ऑयल इंडिया लिमिटेड के एक तेल के कुएं में 27 मई से गैस का रिसाव हो रहा है, जिसमें नौ जून को आग लग गई थी. कंपनी के अनुसार कुएं पर ढक्कन रखने का प्रयास किया जा रहा था, लेकिन आग के कारण उसे रखने वाली केबल क्षतिग्रस्त हो गई.

AKI 21 July 2020.00_24_40_19.Still001 (1)

असम में बाढ़ और कोरोना की दोहरी मार, नाकाफ़ी सरकारी इंतज़ाम

वीडियो: असम में बाढ़ का कहर जारी है. इस मुद्दे पर पर्यावरण पत्रकार मुबीना अख़्तर और डिब्रूगढ़ यूनिवर्सिटी के असिस्टेंट प्रोफेसर कौस्तुभ डेका से द वायर की सीनियर एडिटर आरफ़ा ख़ानम शेरवानी की बातचीत.

(फोटो: पीटीआई)

असम में बाढ़ से अब तक 33 और भूस्खलन से 24 लोगों की मौत, 15 लाख प्रभावित

असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के अनुसार, राज्य के 15 ज़िलों में बनाए गए 254 राहत शिविरों में तक़रीबन 15,289 लोग शरण लिए हुए हैं. 2,197 गांव जलमग्न हैं और क़रीब 87,018.17 हेक्टेयर क्षेत्र की फसल बर्बाद हो गई है.

(फोटो: रॉयटर्स)

असम के 33 में से 25 ज़िले बाढ़ की चपेट में, अब तक 22 की मौत, 13 लाख लोग प्रभावित

असम के बरपेटा, दक्षिण सालमारा और नलबाड़ी ज़िले बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित हैं. तक़रीबन 27,500 लोग 12 ज़िलों के 273 राहत शिविरों में रह रहे हैं.