Section 144

गाजियाबाद से भाजपा विधायक नंद किशोर गुर्जर. (फोटो: फेसबुक/उमेश गर्ग)

लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले ‘देशद्रोही’, ऐसे लोगों को गोली मारे पुलिस: भाजपा विधायक

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद से भाजपा विधायक नंद किशोर गुर्जर ने लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों को गोली मारने वाले हर पुलिसवाले को 5,100 रुपये का नकद इनाम देने की भी घोषणा की है.

Hyderabad: A medic looks on at a patient who has shown positive symptoms for coronavirus (COVID -19) at an isolation ward in Hyderabad, Tuesday, March 10, 2020. (Credit: PTI)

राजस्थान: कोरोना के चलते कम आवश्यक सरकारी, अर्धसरकारी और स्वायत्त संस्थान 31 मार्च तक बंद

कोरोना पॉजिटिव की संख्या बढ़ने के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्य में धारा 144 लगा दी थी. मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि जिन व्यक्तियों में इस बीमारी के लक्षण पाए गए हैं, अगर वे होम आइसोलेशन के निर्देशों को न मानें, तो उन परआईपीसी की धारा 188 के तहत कार्रवाई की जाए.

Lucknow: Uttar Pradesh Chief Minister Yogi Adityanath during a BJP Sikh Samaj Sammelan, in Lucknow, Monday, Oct 29, 2018. (PTI Photo)(PTI10_29_2018_000208B)

कोरोना को लेकर भीड़ न जुटने की सलाह के बीच अयोध्या में रामनवमी मेला कराएगी योगी सरकार

कोरोना वायरस के ख़तरे के मद्देनज़र अयोध्या के मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार से राम नवमी मेला कार्यक्रम को रद्द करने का अनुरोध किया था.

Chennai: Workers wear masks to protect themselves in the wake of deadly coronavirus, at Chennai airport, Tuesday, March 17, 2020. (PTI Photo/R Senthil Kumar)(PTI17-03-2020_000203B)

कोरोना वायरस: 24 घंटे के भीतर तीन नए मामले सामने आने के बाद राजस्थान में धारा 144 लागू

राजस्थान के झुंझुनू में एक ही परिवार के तीन लोगों में कोरोना वायरस का संक्रमण पाया गया. तीनों बीते आठ मार्च को इटली से लौटे थे. मुख्यमंत्री ने मरीज़ों के घर के एक किलोमीटर के दायरे में दो दिन तक कर्फ्यू लगाने का निर्देश दिया.

भारतीय सुप्रीम कोर्ट (फोटो: रायटर्स)

सीएए विरोध: 22 लोगों को जमानत देने के कर्नाटक हाईकोर्ट के आदेश पर सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक

पिछले साल 19 दिसंबर को सीएए विरोधी प्रदर्शनों के दौरान हिंसा और पुलिस पर हमले के आरोप में मैंगलोर पुलिस ने 22 लोगों को आरोपी बनाया था. बीते 17 फरवरी को कर्नाटक हाईकोर्ट ने ठोस सबूत नहीं होने की बात कहते हुए सभी 22 लोगों को जमानत दे दी थी.

New Delhi: Protestors hold placards during a  protest march from Mandi House to Jantar Mantar against the amended Citizenship Act, NRC and NPR, in New Delhi, Monday, Feb. 10, 2020. (PTI Photo/Kamal Singh) (PTI2_10_2020_000064B)

सीएए विरोधी शांतिपूर्ण आंदोलन करने वाले राष्ट्रद्रोही और गद्दार नहीं: बॉम्बे हाईकोर्ट

बॉम्बे हाईकोर्ट की औरंगाबाद बेंच ने नागरिकता क़ानून के ख़िलाफ़ होने वाले एक प्रदर्शन पर धारा 144 के तहत रोक लगाने वाले आदेश को रद्द करते हुए कहा कि देश को ब्रिटिश शासन से स्वतंत्रता विरोध प्रदर्शनों के ज़रिये ही मिली थी.

Betul

मध्य प्रदेश: प्रेम विवाह से बैतूल ज़िले के गांव में तनाव, धारा 144 लागू, सात गिरफ़्तार

पुलिस ने बताया कि युवती से विवाह करने वाले दलित युवक की दुकान में आग लगा दी गई. 23 लोगों के ख़िलाफ़ एससी/एसटी एक्ट के तहत केस दर्ज.

Jabalpur: Protestors take part in a rally against the Citizenship (Amendment) Act, in Jabalpur, Friday, Dec. 20, 2019. (PTI Photo)(PTI12_20_2019_000226B)

नागरिकता क़ानून: जबलपुर में कर्फ्यू, एमपी के बाकी ज़िलों में शांतिपूर्ण प्रदर्शन

मध्य प्रदेश के 52 ज़िलों में से 44 में धारा 144 लागू. इन ज़िलों में 18 फरवरी तक निषेधाज्ञा आदेश लागू है और धरना, रैली एवं सभाएं करने की मनाही है.

Sabarimala: Devotees arrive to pay obeisance at Lord Ayyappa Temple in Sabarimala, Thursday, October 18, 2018. (PTI Photo) (PTI10_18_2018_000031B)

केरल: सबरीमाला मंदिर के कपाट खोले गए, 10 महिलाओं को वापस भेजा गया

पुलिस ने बताया कि आंध्रप्रदेश से आए समूह में शामिल लोगों के पहचानपत्र की जांच की गई और प्रतिबंधित उम्र सीमा में होने की वजह से सबरीमाला में मौजूदा स्थिति की जानकारी देकर 10 युवा महिलाओं को वापस भेज दिया गया.

Sabarimala: Devotees enter the Sabarimala temple as it opens amid tight security, in Sabarimala, Friday, Nov. 16, 2018. (PTI Photo) (Story no. MDS18) (PTI11_16_2018_000138B)

केरल: आज खुलेगा सबरीमाला मंदिर, सरकार ने महिलाओं को सुरक्षा उपलब्ध कराने से किया इनकार

केरल में स्थित सबरीमाला मंदिर के कपाट आज शाम 5 बजे के आसपास खोले जाएंगे. सुरक्षा की दृष्टि से भगवान अयप्पा के मंदिर में और उसके आस-पास 10 हजार से अधिक सुरक्षाबलों की तैनाती की गई है.

दमन में सरकारी जमीन से बेदखल किए जाने के बाद प्रदर्शन करते लोग. (फोटो: ट्विटर)

दमन: सरकारी ज़मीन से बेदख़ल किए जाने पर प्रदर्शन कर रहे 70 लोग हिरासत में लिए गए

दमन के ज़िलाधिकारी द्वारा जारी आदेश के बाद पूरे दमण में धारा 144 लागू कर दी गई है और दो सरकारी स्कूलों को अस्थायी जेलों में तब्दील कर दिया गया है.

Srinagar Public The Wire

‘कश्मीर पर संसद में बिल पास करना भाजपा की गुंडागर्दी है’

वीडियो: जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने और राज्य को दो केंद्रशासित प्रदेशों में बांटने के केंद्र सरकार के फैसले पर श्रीनगर के लोगों से बातचीत.

Indian security personnel stand guard along a deserted street during restrictions in Jammu, August 5, 2019. REUTERS/Mukesh Gupta

‘दुर्भाग्य से 370 के होने और जाने पर ठीक से चर्चा न तो संसद के अंदर हुई और न ही बाहर’

वीडियो: केंद्र की मोदी सरकार द्वारा जम्मू कश्मीर के विशेष दर्जे को ख़त्म करने और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने के फैसले पर जम्मू कश्मीर अध्ययन केंद्र के निदेशक आशुतोष भटनागर से विशाल जायसवाल की बातचीत.

Jammu: A Rapid Action Force (RAF) personnel stand guard during restrictions in Jammu, Friday, Aug 9, 2019. Restrictions have been imposed in several districts of Jammu and Kashmir as a precautionary measure after the state lost its special status and was bifurcated on Tuesday as Parliament approved a resolution scrapping Article 370 of the Constitution and passed a bill to split the state into two Union Territories. (PTI Photo)(PTI8_9_2019_000056A)(PTI8_9_2019_000161B)

जम्मू से धारा 144 हटाई गई, जुमे की नमाज़ के लिए कश्मीर में प्रतिबंधों में दी गई ढील

श्रीनगर में लोगों ने मस्जिदों में नमाज़ अदा की. जम्मू ज़िले के सभी स्कूल और कॉलेज 10 अगस्त से खुलेंगे.

पलक्कड़ में प्रदर्शन करते भाजपा कार्यकर्ता, (फोटो साभार: पीटीआई)

सबरीमाला विवाद: केरल में दो दिनों में 1,369 लोग गिरफ़्तार, 100 से ज़्यादा लोग घायल

विरोध प्रदर्शन के चलते 1,369 लोगों की गिरफ़्तारी के अलावा 717 लोगों को हिरासत में लिया गया और 801 केस भी दर्ज किए जा चुके हैं.

Aurangabad: A scene of arson after violent clashes between two groups during a Ramnavmi procession in Aurangabad district on Monday. PTI Photo   (PTI3_26_2018_000132B)

औरंगाबाद: दंगा पीड़ित दुकानदारों को क्यों लग रहा है कि नीतीश सरकार उन्हें ठग रही है?

ग्राउंड रिपोर्ट: बिहार के औरंगाबाद में मार्च महीने में रामनवमी के समय हुई सांप्रदायिक हिंसा में कई दुकानों में लूटपाट कर आग लगा दी गई थी. उस समय नीतीश सरकार ने पीड़ित दुकानदारों को मुआवज़ा देने की बात कही थी, लेकिन चार महीने बाद भी ज़्यादातर दुकानदारों को एक रुपया भी मुआवज़ा नहीं मिला है.

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

यह पेशेवर प्रदर्शनकारियों का ज़माना है: केंद्र सरकार

मध्य दिल्ली में विरोध प्रदर्शन रोकने के लिए लगी धारा 144 के ख़िलाफ़ जनहित याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई के दौरान अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल ने केंद्र सरकार की पैरवी करते हुए यह टिप्पणी की.

PTI3_29_2018_000099B

पश्चिम बंगाल: पुलिस ने बाबुल सुप्रियो को हिंसाग्रस्त इलाके में जाने से रोका

आसनसोल के मेयर ने केंद्रीय मंत्री और आसनसोल से सांसद सुप्रियो पर इलाके में शांति भंग करने का आरोप लगाया है.