SIT Investigation

(फोटो साभार: एएनआई)

असम में ज़हरीली शराब पीने से मरने वालों की संख्या 90 हुई

असम के स्वास्थ्य मंत्री हेमंत बिस्व शर्मा ने कहा कि मौत का आंकड़ा हर मिनट बढ़ रहा है. अब तक लगभग 200 लोग अस्पताल में भर्ती हैं और कइयों की हालत गंभीर है.

(फोटो साभार: एएनआई)

असम में ज़हरीली शराब पीने से 17 चाय बागान श्रमिकों की मौत

असम के गोलाघाट ज़िले का मामला. पुलिस ने बताया कि मृतकों की संख्या और बढ़ने की संभावना है क्योंकि शराब पीने के बाद बीमार पड़ने की वजह से बीते गुरुवार की रात को कई सारे लोगों को अस्पताल लाया गया था.

Saharnapur: Family members of victims who are undergoing treatment on being poisoned after consuming a spurious liquor, at a hospital in Saharanpur, Saturday, Feb 9, 2019. The death toll in the hooch tragedy that hit two adjoining districts in Uttarakhand and Uttar Pradesh has risen to 70 with more people dying of the spurious liquor. (PTI Photo) (PTI2_9_2019_000099B)

यूपी-उत्तराखंड: ज़हरीली शराब से मरने वालों की संख्या 81 हुई, यूपी में एसआईटी करेगी जांच

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर ज़िले में 36, कुशीनगर ज़िले में नौ और उत्तराखंड के हरिद्वार में ज़हरीली शराब पीने से 36 लोगों की मौत हो चुकी है. मौतों के बाद राजनीतिक दलों में आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला शुरू.

Judge Loya

जज लोया की मौत संबंधी याचिका पर तीन दिन में तीन जजों ने किया सुनवाई से इनकार

बॉम्बे हाईकोर्ट की नागपुर पीठ में एक वकील सतीश ऊके द्वारा सीबीआई की विशेष अदालत के जज बीएच लोया की मौत की जांच के संबंध में याचिका दर्ज करवाई गई है.

Judge Loya

वकील का दावा, ज़हर देने से हुई थी जज लोया की मौत

नागपुर के एक वकील सतीश ऊके ने सीबीआई जज बीएच लोया की मौत को संदिग्ध बताते हुए बॉम्बे हाईकोर्ट की नागपुर बेंच में याचिका दायर कर कहा है कि जज लोया को ज़हर दिया गया था और इससे संबंधित सभी दस्तावेज मिटा दिए गए हैं.

EP 229 RAW

जन गण मन की बात, एपिसोड 229: लंदन में मोदी और जज लोया

जन गण मन की बात की 229वीं कड़ी में विनोद दुआ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लंदन यात्रा और जज लोया की मौत की एसआईटी जांच की याचिकाएं सुप्रीम कोर्ट द्वारा खारिज किए जाने पर चर्चा कर रहे हैं.

Judge Loya

जज लोया के परिजन बोले, अब कोई उम्मीद नहीं बची

सुप्रीम कोर्ट द्वारा जज लोया की ‘संदिग्ध’ मौत पर स्वतंत्र जांच की याचिका ख़ारिज करने के बाद परिवार ने कहा अब किसी पर विश्वास नहीं.

फोटो: द कारवां/पीटीआई

जज लोया मामला: कांग्रेस ने फ़ैसले पर उठाए सवाल, भाजपा ने कहा- याचिकाओं के पीछे राहुल का हाथ

जज लोया की मौत की एसआईटी जांच की मांग वाली याचिकाएं सुप्रीम कोर्ट द्वारा खारिज किए जाने के बाद राजनीतिक बयानबाज़ी शुरू हो गई है.

Prashant Bhushan, a senior lawyer, speaks with the media after a verdict on right to privacy outside the Supreme Court in New Delhi, India August 24, 2017. REUTERS/Adnan Abidi

जज लोया मामले पर बहुत ही ग़लत फ़ैसला, सुप्रीम कोर्ट के लिए काला दिन: प्रशांत भूषण

सोहराबुद्दीन एनकाउंटर केस से जुड़े जज बीएच लोया की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के मामले में स्वतंत्र जांच की मांग को सुप्रीम कोर्ट द्वारा ठुकराए जाने के बाद वकील प्रशांत भूषण का बयान.

फोटो: द कारवां/पीटीआई

जज बीएच लोया की मौत की एसआईटी जांच नहीं होगी: सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट की तीन सदस्यीय खंडपीठ ने याचिकाएं खारिज करते हुए कहा कि कहा कि बीएच लोया की मौत प्राकृतिक कारणों से हुई थी. याचिकाएं न्यायपालिका को बदनाम करने का प्रयास हैं.

वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण. (फोटो: पीटीआई)

जज लोया की मौत की न्यायिक या एसआईटी जांच हो: प्रशांत भूषण

एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान भूषण ने दावा किया कि जज लोया की मौत दिल का दौरा पड़ने से नहीं हुई है जैसा कि सरकारी अधिकारी दावा कर रहे हैं.