Stalin

EP 285 Raw

जन गण मन की बात, एपिसोड 285: एम. करुणानिधि और राफेल सौदे पर सवाल

जन गण मन की बात की 285वीं कड़ी में विनोद दुआ एम. करुणानिधि और राफेल सौदे पर भाजपा के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा, अरुण शौरी और सुप्रीम कोर्ट अधिवक्ता प्रशांत भूषण द्वारा उठाए गए सवालों पर चर्चा कर रहे हैं.

Chennai: Dravida Munnetra Kazhagam (DMK) supporters gather outside the hospital where DMK chief M Karunanidhi is being treated, in Chennai, on Sunday, July 29, 2018. (PTI Photo/R Senthil Kumar) (PTI7_30_2018_000068B)

तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री एम. करुणानिधि का निधन, स्मारक बनाने को लेकर विवाद शुरू

पांच बार तमिलनाडु के मुख्यमंत्री रहे 94 वर्षीय करुणानिधि ने चेन्नई के कावेरी अस्पताल में मंगलवार शाम ली आख़िरी सांस. लंबे समय से थे बीमार. मरीना बीच पर स्मारक बनाने को लेकर शुरू विवाद हाईकोर्ट पहुंचा.

Chennai: Dravida Munnetra Kazhagam (DMK) supporters gather outside the hospital where DMK chief M Karunanidhi is being treated, in Chennai, on Sunday, July 29, 2018. (PTI Photo/R Senthil Kumar) (PTI7_30_2018_000068B)

करुणानिधि की बीमारी के सदमे से 21 पार्टी कार्यकर्ताओं की मृत्यु: द्रमुक

द्रमुक के कार्यकारी अध्यक्ष और करुणानिधि के पुत्र एमके स्टालिन ने पार्टी कार्यकर्ताओं की मृत्यु पर दुख जताया और अपील की कि पूर्व मुख्यमंत्री के स्वास्थ्य के मद्देनज़र कोई कठोर क़दम न उठाया जाए.

Netaji Subhash Chandra Bose 1 PTI

क्यों कुछ लोग मानते हैं कि अयोध्या में रहने वाले गुमनामी बाबा ही सुभाष चंद्र बोस थे

असाधारण जीवन की तरह असाधारण मृत्यु ने नेताजी के इर्द-गिर्द रहस्यों का जाल-सा बुन दिया है. दुखद यह है कि जांच आयोगों के भंवरजाल में नेताजी किसी जासूसी कथा के नायक बन गए हैं.

Mayawati and her brother Anand Kumar

भारतीय राजनीति और परिवारवाद

राजनीति में परिवारवाद से दूर रहने की सबसे ज़्यादा ज़रूरत दलित-पिछड़े नेतृत्व को है, लेकिन दुखद यह है कि ये ताकतें सबसे पहले अपने परिवार को ही अपनी विरासत सौंपती हैं.

Chennai: A view of Tamilnadu Assembly during the  Vote of confidence motion in Chennai on Saturday.PTI Photo  (PTI2_18_2017_000192A)

ज़ोरदार हंगामे के बीच तमिलनाडु के सीएम पलानीसामी ने जीता विश्वास मत

तमिलनाडु विधानसभा में तोड़-फोड़ और जोरदार हंगामे के बीच विपक्षी विधायकों को सदन से बाहर करने के बाद मुख्यमंत्री इदापडी के. पलानीसामी ने बहुमत साबित किया.