नॉर्थ ईस्ट

मणिपुर: बीएसएफ जवान ने दूसरे जवान पर गोली चलाई, फिर गोली मारकर ख़ुदकुशी की

मणिपुर के चूराचांदपुर ज़िले का मामला. घटना में घायल कॉन्स्टेबल को अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

(फोटो साभार: फेसबुक)

(फोटो साभार: फेसबुक)

नई दिल्ली: मणिपुर के चुराचांदपुर जिले के एक शिविर में तैनात सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के एक कर्मचारी ने सोमवार को दूसरे कर्मचारी पर गोली चला दी और फिर खुद को भी गोली मार ली.

इस घटना में एक कर्मचारी की मौत हो गई जबकि दूसरा घायल हो गया. अधिकारियों ने यह जानकारी दी.

उन्होंने बताया कि जिले में स्थित बल के सहायक प्रशिक्षण केंद्र (एसटीसी) में तैनात बीएसएफ के हेड कांस्टेबल ने सुबह करीब 10 बजे अपनी सर्विस राइफल से कांस्टेबल स्तर के एक दूसरे जवान पर गोली चला दी.

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि बाद में हेड कांस्टेबल ने खुद को भी गोली मार ली. इस घटना में हेड कांस्टेबल की मौत हो गई जबकि कांस्टेबल को अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

समाचार एजेंसी एएनआई से बातचीत में बीएसएफ की ओर से कहा गया है, ‘11 जनवरी 2020 को सुबह 9:40 बजे हेड कॉन्स्टेबल बाल कृष्ण ने कॉन्स्टेबल राजकुमार पर एक राउंड फायरिंग की. राजकुमार के पेटे में गोली लगी. इसके बाद बालकृष्ण आईजी (आईजी बीएसएफ डीके त्रिपाठी) निवास की ओर भागा और आईजी के सुरक्षा सहायक पर फायरिंग की, जो आईजी कोठी के अंदर भाग गया. फायरिंग की आवाज के बाद आईजी और उनके सुरक्षा सहायकों ने खुद को बाथरूम में बंद कर लिया था.’

बयान में कहा गया है, ‘बालकृष्ण ने एक राउंड फायरिंग बाथरूम के दरवाजे पर की. तब आईजी ने फोन कर सहायता मांगी, जिसके बाद उनके निवास को सुरक्षाकर्मियों ने घेर लिया. इसे देख बालकृष्ण ने घर के बरामदे में खुद को गोली मारकर खुदकुशी कर ली.’

स्थानीय पुलिस मामले की जांच कर रही है. मणिपुर में भारत-बांग्लादेश अंतरराष्ट्रीय सीमा की सुरक्षा के लिए बीएसएफ की तैनाती है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)