भारत

कोरोना के ख़िलाफ़ भारत की लड़ाई प्रभावी, हमारे यहां मृतकों की संख्या कम: नरेंद्र मोदी

21 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों और उपराज्यपालों से बातचीत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि एक भारतीय की मृत्यु भी बेचैन करने वाली है लेकिन यह भी सच है कि हम उन देशों में से एक है जहां कम से कम मौतें हुई हैं. हालांकि दुनिया भर में कोविड-19 से हुई सर्वाधिक मौतों की सूची में भारत नौवें स्थान पर है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी. (फोटो: वीडियो ग्रैब/पीआईबी)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी. (फोटो: वीडियो ग्रैब/पीआईबी)

नई दिल्ली: प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कहा कि कोरोना वायरस के खिलाफ देश की लड़ाई प्रभावी रही है और भारत उन देशों में से एक है, जिनमें मृतकों की संख्या सबसे कम है.

इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, 21 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों और उपराज्यपालों के साथ मंगलवार को चर्चा करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘हमारे लिए एक भारतीय की मृत्यु भी बेचैन करने वाली है लेकिन यह भी सच है कि भारत उन देशों में से एक है जहां कम से कम मौतें हुई हैं.’

उन्होंने यह भी कहा कि जब भविष्य में कोरोना वायरस के साथ देश की लड़ाई का विश्लेषण किया जाएगा, तो इसे सहकारी संघवाद के उदाहरण के रूप में याद किया जाएगा और पेश किया जाएगा.

कोरोना वायरस महामारी के प्रकोप के बाद से यह मुख्यमंत्रियों के साथ प्रधानमंत्री की छठी बातचीत थी.

अपनी बातचीत के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने देश में आर्थिक गतिविधियों को तेजी से शुरू करने पर जोर दिया.

उन्होंने कहा, ‘हमारे छोटे कारखानों को मार्गदर्शन और सहयोग की आवश्यकता है. मुझे पता है कि उस दिशा में काम किया जा रहा है. व्यापार और उद्योग अपनी पुरानी गति से काम करें, इसके लिए हम सभी को मिलकर काम करने की जरूरत है.’

उन्होंने यह भी कहा कि लॉकडाउन और भारत के लोगों द्वारा दिखाया गया अनुशासन दुनिया के विशेषज्ञों के बीच चर्चा का विषय है.

उन्होंने कहा, ‘पिछले कुछ हफ्तों में हजारों भारतीय विदेश से भारत लौट आए और सैकड़ों प्रवासी श्रमिक अपने गृनगर में पहुंच गए. परिवहन के लगभग सभी तरीकों ने संचालन फिर से शुरू कर दिया है, फिर भी कोविड-19 का प्रभाव भारत में दुनिया के अन्य हिस्सों की तरह व्यापक नहीं है.’

प्रधानमंत्री ने लोगों से बिना मास्क या बिना मुंह ढंके घर के बाहर कदम नहीं रखने का भी आग्रह किया.

उन्होंने कहा, ‘मास्क या फेस कवर के बिना बाहर निकलने के बारे में सोचना भी सही नहीं है. ‘दो गज की दूरी’, हाथ धोना और सैनिटाइजर्स का इस्तेमाल बेहद आवश्यक है. बाजार खुलने और लोगों के बाहर निकलने के साथ ये सावधानियां और भी महत्वपूर्ण हैं.’

भारत में लगातार पांचवें दिन कोविड-19 के दस हजार से अधिक मामले सामने आए हैं जिससे मंगलवार को कुल संक्रमितों की संख्या तीन लाख 43 हजार 91 हो गई. वहीं, 380 नई मौतों के साथ मरने वालों की कुल संख्या 9,900 हो गई है.

कोरोना संक्रमण से मौत के मामले में भारत दुनियाभर में नौवें स्थान पर है. दुनियाभर में महामारी से संक्रमितों की संख्या 80 लाख के पार पहुंच गई है.

मोदी बुधवार को 15 राज्यों के मुख्यमंत्रियों और जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल के साथ वार्ता करेंगे. इनमें वे राज्य शामिल हैं जहां कोरोना वायरस के ज्यादा मामले हैं. इनमें महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, दिल्ली, कर्नाटक, गुजरात, बिहार और उत्तर प्रदेश शामिल हैं.

 

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)