भारत

लखीमपुर खीरी हिंसाः किसानों को कुचलने वाली एसयूवी का कथित ड्राइवर गिरफ़्तार

बीते तीन अक्टूबर को लखीमपुर खीरी ज़िले में प्रदर्शन कर रहे किसानों के समूह पर कथित तौर पर वाहन चढ़ने के बाद हुई हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई थी. बताया गया है कि मंगलवार को गिरफ़्तार शख़्स उन तीन एसयूवी में से एक चला रहे थे, जिसने कथित तौर पर किसानों को कुचला था. इस मामले में अब तक गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा समेत तीन लोगों को गिरफ़्तार किया गया है.

आशीष मिश्रा. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्लीः उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के मामले में पुलिस ने मंगलवार को एक और शख्स को गिरफ्तार किया है.

हिंसा मामले में गिरफ्तार किए गए शेखर भारती नामक शख्स को मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (सीजेएम) की अदालत में पेश किया गया, जहां से उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया.

मालूम हो कि लखीमपुर में हुई हिंसा में एक पत्रकार, चार किसानों सहित कुल आठ लोगों की मौत हो गई थी.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, मामले में गिरफ्तार किए गए शेखर भारती उन तीन एसयूवी में से एक चला रहे थे, जिसने तीन अक्टूबर को प्रदर्शन कर रहे किसानों को कथित तौर पर रौंद दिया था.

वे कथित तौर पर केंद्रीय गृहराज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा के करीबी अंकित दास की काले रंग की फॉर्च्यूनर कार चला रहे थे.

भारती  इस मामले में गिरफ्तार किए गए चौथे शख्स हैं. इससे पहले पुलिस ने आशीष मिश्रा, लवकुश और आशीष पांडेय को गिरफ्तार किया था.

एक अन्य घटनाक्रम में अंकित दास और लतीफ नाम के दो लोगों ने आत्मसमर्पण के लिए मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत के समक्ष याचिका दायर की. बता दें कि अंकित पूर्व मंत्री दिवंगत अखिलेश दास के भतीजे हैं.

वरिष्ठ अभियोजन अधिकारी एसपी यादव ने बताया कि अभियोजन पक्ष ने तिकोनिया हिंसा एफआईआर के संबंध में इन व्यक्तियों की स्थिति के संबंध में पुलिस थाने से स्टेटस रिपोर्ट मांगी थी.

उन्होंने कहा कि पुलिस रिपोर्ट में उनकी (आरोपी) संलिप्तता के बारे में बताएंगी.

बता दें कि आशीष मिश्रा को 12 घंटे की पूछताछ के बाद शनिवार रात को गिरफ्तार किया गया था. उन्हें मंगलवार सुबह पूछताछ के लिए लखीमपुर खीरी के क्राइम ब्रांच ऑफिस में ले जाया गया था.

उनकी गिरफ्तारी से पहले विपक्षी दलों और किसान नेताओं ने यूपी सरकार पर आरोप लगाया था कि आशीष मिश्रा के पिता के भाजपा में कद को देखते हुए प्रशासन मामले पर निष्क्रिय रहा है.

इन्होंने केंद्रीय गृहराज्य मंत्री अजय मिश्रा को भी मंत्रालय से हटाने की मांग की थी.

बता दें कि केंद्र के तीन नए कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहा किसानों का एक समूह उत्तर प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य की यात्रा के खिलाफ तीन अक्टूबर को प्रदर्शन कर रहा था, जब कथित तौर पर लखीमपुर खीरी में एक एसयूवी गाड़ी ने चार किसानों को कुचल दिया गया था.

लखीमपुर खीरी के सांसद और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय कुमार मिश्रा ‘टेनी’ के विरोध में बीते तीन अक्टूबर को वहां के आंदोलित किसानों ने उनके (टेनी) पैतृक गांव बनबीरपुर में आयोजित एक समारोह में उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के जाने का विरोध किया था. इसके बाद भड़की हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई.

(समाचार एजेंसी पीटीआई से इनपुट के साथ)