राजनीति

भाजपा कार्यकर्ता ने पूर्व केंद्रीय मंत्री के दुर्व्यवहार की ओडिशा महिला आयोग से शिकायत की

ओडिशा के सुंदरगढ़ ज़िले के बिसरा प्रखंड के जमसेरा क्षेत्र की भाजपा कार्यकर्ता गौरी मुंडारी ने महिला आयोग से शिकायत की और पंचायत चुनाव के संबंध में टेलीफोन पर चर्चा के दौरान पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं पार्टी सांसद जुआल ओराम पर चिल्लाने और आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया है.

(फोटो: पीटीआई)

भुवनेश्वर: ओडिशा में आगामी पंचायत चुनाव से पहले विपक्षी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की एक आदिवासी महिला कार्यकर्ता ने राज्य महिला आयोग का दरवाजा खटखटाया और आरोप लगाया है कि पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं पार्टी सांसद जुआल ओराम ने फोन पर उनसे दुर्व्यवहार किया.

सुंदरगढ़ जिले के बिसरा प्रखंड के जमसेरा क्षेत्र की रहने वाली 22 वर्षीय गौरी मुंडारी ने महिला संस्था से शिकायत की और पंचायत चुनाव के संबंध में टेलीफोन पर चर्चा के दौरान ओराम पर चिल्लाने और आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया.

महिला ने दावा किया कि उन्होंने 24 जनवरी को ओराम को फोन किया था, लेकिन सुंदरगढ़ के सांसद ने उन्हें डांटते हुए आपत्तिजनक टिप्पणी की. महिला पंचायत चुनाव लड़ने की इच्छुक थीं, लेकिन उन्हें पार्टी के टिकट से वंचित कर दिया गया था.

मुंडारी ने बीते 27 जनवरी को भुवनेश्वर में महिला आयोग की सदस्यों के साथ बैठक के बाद दावा किया कि उन्होंने सांसद से संपर्क किया, क्योंकि वह सुंदरगढ़ जिले में उम्मीदवारों की सूची तैयार कर रहे थे.

मुंडारी ने कहा, ‘मैंने राउरकेला के झिरपानी पुलिस थाना में सांसद के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी. लेकिन उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई. अब मैंने महिला आयोग से हस्तक्षेप की मांग की है.’

ओराम से उनकी टिप्पणी के लिए संपर्क नहीं हो सका.

कथित घटना के बारे में मीडिया में आई खबरों का संज्ञान लेते हुए, राज्य महिला आयोग, ओडिशा की अध्यक्ष मिनाती बेहरा ने राउरकेला के पुलिस अधीक्षक (एसपी) को इस संबंध में एक रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निर्देश दिया.

बेहरा ने कहा, ‘अगर जरूरत पड़ी तो महिला आयोग दोनों पक्षों को अपने सामने पेश होने के लिए नोटिस देगा.’

भाजपा ने भी मुंडारी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है. आरोप है कि उन्होंने सांसद के ‘दुर्व्यवहार’ के विरोध में 24 जनवरी को पार्टी के राउरकेला कार्यालय में कथित तौर पर तोड़फोड़ की थी.

भाजपा की पानपोश सांगठनिक जिलाध्यक्ष लतिका पटनायक ने सुंदरगढ़ के सांसद पर लगे आरोपों से इनकार किया है.

उन्होंने कहा कि मुंडारी ने बिसरा-ए जिला परिषद सीट से भाजपा का टिकट मांगा था और जब इनकार किया गया, तो उन्होंने पार्टी को बदनाम करने की साजिश रची.

पटनायक ने कहा, ‘वह भाजपा के वरिष्ठ नेता पर निराधार आरोप लगा रही हैं.’

न्यू इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, राउरकेला जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष जॉर्ज टिर्की और अन्य नेताओं के साथ उनकी तस्वीरें साझा करते हुए पटनायक ने कहा कि गौरी ने 2019 के बाद भाजपा छोड़ दी है और दूसरों के उकसाने पर भाजपा को बदनाम कर रही है.

उन्होंने कहा, ‘गौरी, कांग्रेस नेताओं के साथ मंच साझा करते हुए किसी अन्य पार्टी के सबसे वरिष्ठ नेता के खिलाफ निराधार आरोप लगा रही हैं और लोग उन पर कभी विश्वास नहीं करेंगे.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)