राजनीति

सत्ता में आने पर लखीमपुर खीरी के दोषियों और उनके संरक्षकों को जेल भेजेंगे: अखिलेश यादव

विधानसभा चुनाव राउंड-अप: बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि चुनाव में सपा के साथ ही भाजपा को भी सत्ता में आने से रोकना होगा, वहीं नोएडा की कांग्रेस प्रत्याशी पंखुड़ी पाठक ने उनकी छेड़छाड़ की गई तस्वीरें ऑनलाइन साझा करने का आरोप लगाया है. पंजाब में एक रैली में नरेंद्र मोदी ने आम आदमी पार्टी को कांग्रेस की ‘फोटोकॉपी’ बताते हुए कहा कि एक दूसरे के खिलाफ लड़ने का ‘नाटक’ कर रही हैं.

कन्नौज में एक चुनावी सभा में सपा प्रमुख अखिलेश यादव. (फोटो साभार: फेसबुक/@yadavakhilesh)

औरैया/सीतापुर/लखनऊ/पठानकोट/चंडीगढ़/पणजी/इम्फाल: समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने लखीमपुर मामले में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा के बेटे को जमानत मिलने को लेकर राज्य सरकार की निंदा करते हुए कहा कि वह सत्ता में आने पर यह सुनिश्चित करेंगे कि अपराधी और उसके संरक्षक जेल जाएं.

यादव ने कहा कि जिन्हें कानून व्यवस्था हाथ में लेनी है, कानून को नहीं मानना है वे समाजवादी पार्टी को वोट न दें, जिन्हें गरीब पर अन्याय करना है वे समाजवादी पार्टी को वोट न दें.

औरैया में तीसरे चरण में होने वाले मतदान से पूर्व सपा प्रत्याशियों के समर्थन में आयोजित एक जनसभा में अखिलेश यादव ने कहा, ‘मंत्री पुत्र (केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के पुत्र आशीष मिश्रा) जिसने गाड़ी से किसानों को कुचला था उसको जमानत मिल गई. जो पैरवी सरकार को करनी चाहिए थी वह पैरवी नहीं हुई.’

यादव ने आगे कहा, ‘एक अदालत से हो सकता है जमानत मिल गई हों लेकिन जनता की अदालत से जमानत मिलनी चाहिए थी या नहीं मिलनी चाहिए थी? जिसे जमानत दिलवा दी है, हम समाजवादी लोग भरोसा दिलाते हैं कि सरकार बनने वाली है. ऐसी पैरवी होगी जिसने किसानों की जान ली वह तो जेल जायेंगे ही साथ ही उनको पालने-पोसने वालों को जेल भेजने का काम आने वाले समय में होगा.’

उन्होंने कहा कि जिन्होंने किसी अपराधी को जमानत पर निकाला है उसकी जमानत जब्त कराएं. उन्होंने कहा, ‘हमारे बाबा जी (योगी आदित्यनाथ) सबसे ज्यादा आरोप लगा रहे हैं. जबकि लखीमपुर जैसी घटना दुनिया में नहीं हुई होगी. किसान शांतिपूर्ण ढंग से अपना आंदोलन कर रहे हों और जीप आकर उन्हें कुचल जाए. किसानों की जान ही नहीं गई बल्कि उनके साथ अन्याय भी हुआ है.’

सपा प्रमुख ने आगे जोड़ा, ‘हमारे मुख्यमंत्री कानून व्यवस्था की इसलिए बात करते हैं कि जब वह सुबह उठते हैं और शीशे में उन्हें जो दिखाई देता है उसी के बारे में सुबह से लेकर शाम तक चर्चा करते हैं. देश में कोई मुख्यमंत्री हैं जिसके ऊपर इतने मुकदमे हों? यह पहले मुख्यमंत्री हैं जिन्होंने अपने मुकदमे वापस लिए हैं.’

गौरतलब है कि पिछले वर्ष लखीमपुर खीरी जिले के तिकुनिया थानाक्षेत्र में किसान आंदोलन के दौरान भड़की हिंसा में चार किसानों समेत आठ लोगों की मौत हो गई थी.

किसानों की मौत के मामले में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के पुत्र आशीष मिश्रा और उसके सहयोगियों को आरोपी बनाया गया और वे पिछले साल अक्टूबर से ही जेल में बंद था. 10 फरवरी को मिली जमानत के बाद आशीष को मंगलवार को लखीमपुर खीरी जेल से रिहा कर दिया गया.

उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार होने का मतलब ‘गुंडाराज पर नियंत्रण’: मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कहा कि उत्तर प्रदेश में भाजपा सरकार होने का मतलब ‘दंगा राज, माफिया राज और गुंडाराज पर नियंत्रण’ है.
प्रधानमंत्री मोदी ने सीतापुर जिले की महोली, सीतापुर, हरगांव, लहरपुर, बिसवां, सेवता, महमूदाबाद, सिधौली और मिश्रिख विधानसभा क्षेत्रों के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) उम्मीदवारों के समर्थन में सीतापुर के मिलिट्री ग्राउंड में आयोजित एक जनसभा को संबोधित किया.

मोदी ने कहा, ‘यूपी में भाजपा सरकार का मतलब है कि पूजा के दिन हों, पर्व के दिन हों, पूजा पर्वों को मनाने की खुली स्‍वतंत्रता. यूपी में भाजपा सरकार का मतलब है बहन-बेटियों की मनचलों से सुरक्षा, यूपी में भाजपा सरकार का मतलब है गरीब के कल्‍याण के लिए निरंतर काम, यूपी में भाजपा सरकार का मतलब है केंद्र की योजनाओं पर ‘डबल स्पीड’ (दोगुनी गति) से काम.’

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘आज यूपी में संत रविदास की जयंती है और उनके मंदिरों में अनेकों भक्‍त जुटे हैं. मुझे भी दिल्‍ली में संत शिरोमणि श्री गुरु रविदास जी विश्राम धाम मंदिर में जाने का सौभाग्य मिला. मान्‍यता है कि जब एक बार गुरु रविदास जी राजस्‍थान जा रहे थे तो दिल्‍ली में उसी स्थान पर उन्होंने विश्राम किया था और मेरे लिए दोहरी खुशी ये भी है कि मैं उस काशी का सांसद हूं जहां संत रविदास जी का जन्म हुआ था.’

चुनाव में सपा के साथ ही भाजपा को भी सत्ता में आने से जरूर रोकना होगा: मायावती

उरई में बसपा की एक जनसभा में मायावती. (फोटो साभार: फेसबुक/@satishchandramisra.official)

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) अध्यक्ष एवं उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने बुधवार को उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी, समाजवादी पार्टी और कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा और मतदाताओं से इन दलों को वोट न देने की अपील की.

मायावती ने आरोप लगाया कि सपा की तरह भाजपा सरकार की भी दलितों, एवं अन्‍य पिछड़े वर्गों संतों, गुरुओं और इनके महापुरुषों के प्रति जातिवादी मानसिकता साफ झलकती है, इसलिए चुनाव में सपा के साथ साथ भाजपा को भी सत्ता में आने से जरूर रोकना होगा.

बुधवार को संत शिरोमणि रविदास की जयंती पर उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के स्मृति उपवन में लखनऊ मंडल के बसपा उम्मीदवारों के समर्थन में आयोजित जनसभा में बसपा प्रमुख मायावती ने संत रविदास को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि संत रविदास ऐसा शासन चाहते थे जिसमें सबको रोटी, कपड़ा और मकान मिल सके लेकिन संत की जयंती पर हर साल अपनी राजनीतिक रोटी सेंकने वालों ने कभी भी उनकी बात को गंभीरता से नहीं लिया.

पूर्व मुख्यमंत्री ने कांग्रेस, सपा और भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा, ‘मैं सोच रही थी कि शायद सपा की सरकार हटने के बाद भाजपा के लोग बदलाव लाएंगे लेकिन सपा की तरह भाजपा सरकार की भी दलितों, एवं अन्‍य पिछड़े वर्गों संतों, गुरुओं और इनके महापुरुषों के प्रति जातिवादी मानसिकता साफ झलकती है, इसलिए चुनाव में सपा के साथ-साथ भाजपा को भी सत्ता में आने से जरूर रोकना होगा.’

उन्होंने कहा, ‘भाजपा सरकार की नीतियां और कार्यशैली जातिवादी, पूंजीवादी एवं आरएसएस की संकीर्ण एजेंडे को ही लागू करने पर दिख रही है.’

उन्होंने बसपा की सरकार बनने पर सभी समस्याओं के समाधान का भरोसा दिया और कहा कि अराजक तत्वों को जेल के अंदर भेजा जाएगा. मायावती ने कहा कि धरना-प्रदर्शन के नाम पर जिन लोगों के खिलाफ गलत मुकदमे दर्ज कराए गए हैं उनकी सही से जांच कराकर मामलों को खत्म किया जाएगा और कर्मचारियों की पुरानी पेंशन योजना लागू करने के साथ ही आयोग बनाकर समस्याओं का समाधान किया जाएगा.

मायावती ने आरोप लगाया कि सत्ता में लंबे समय तक रही कांग्रेस ने बाबा साहब को पात्र रहते हुए भी भारत रत्‍न से सम्‍मानित नहीं किया और उनके आंदोलन को आगे बढ़ाने वाले कांशीराम साहब के देहांत होने पर भी केंद्र में सत्ता में रही कांग्रेस पार्टी ने उनके सम्मान में एक दिन के लिए भी राष्ट्रीय शोक घोषित नहीं किया था.

उन्होंने कहा कि इस पार्टी ने आरक्षण संबंधी मंडल आयोग की रिपोर्ट को भी लागू नहीं किया जिसे बसपा ने अपने कड़े संघर्ष व अथक प्रयासों से केंद्र में रही वीपी सिंह की सरकार से लागू कराया था और वीपी सिंह की सरकार ने ही बाबा साहब भीमराव आंबेडकर को भारत रत्न की उपाधि से सम्मानित किया था.

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, ‘केंद्र और अधिकांश राज्यों से सत्‍ता से बाहर होने पर कांग्रेस पार्टी खासकर दलितों और आदिवासियों व अन्य पिछड़े वर्गों के वोटों के खातिर तरह तरह नाटकबाजी करती रहती है जबकि इस पार्टी की सच्चाई तो यह है कि यह जब सत्ता में आसीन होती तो तब इन वर्गों का विकास और उत्थान याद नहीं रहता, न ही उन्हें महिलाओं की भागीदारी याद रहती है.’

भाजपा ने तीन और उम्मीदवार घोषित किए

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए बुधवार को तीन और उम्मीदवारों की सूची जारी की है.

इसमें दो उम्मीदवारों के नाम सोनभद्र जिले के विधानसभा क्षेत्रों और एक उम्मीदवार का नाम वाराणसी जिले की विधानसभा सीट के लिए घोषित किया गया है. सोनभद्र और वाराणसी में सातवें चरण में सात मार्च को मतदान होगा.

भाजपा द्वारा बुधवार को जारी सूची के मुताबिक, वाराणसी जिले के सेवापुरी विधानसभा क्षेत्र से नील रतन सिंह पटेल और सोनभद्र जिले के राबर्ट्सगंज विधानसभा क्षेत्र से भूपेश चौबे एवं दुद्धी (अनुसूचित जनजाति) से राम दुलार गौड़ को उम्मीदवार बनाया गया है.

उल्लेखनीय है कि सेवापुरी से नील रतन सिंह पटेल ने 2017 में भारतीय जनता पार्टी के सहयोगी ‘अपना दल’ (एस) की टिकट से चुनाव जीता था. इस बार वह भाजपा के चुनाव चिह्न पर मैदान में हैं.

इसके अलावा राबर्ट्सगंज में भाजपा ने अपने मौजूदा विधायक भूपेश चौबे को मौका दिया है. उधर, पिछली बार दुद्धी विधानसभा सीट पर अपना दल (एस) के हरिराम चुनाव जीते थे, लेकिन इस बार भाजपा ने यह सीट भी अपना दल (एस) को न देकर अपने पास रखी है और राम दुलार गौड़ को मैदान में उतारा है.

कांग्रेस प्रत्याशी पंखुड़ी पाठक ने उनकी तस्वीरों से छेड़छाड़ कर ऑनलाइन साझा करने का आरोप लगाया

कांग्रेस की स्टार प्रचारक व नोएडा विधानसभा सीट से पार्टी की प्रत्याशी पंखुड़ी पाठक ने उनकी तस्वीरों से छेड़छाड़ कर उसे सोशल मीडिया पर साझा कर ब्लैकमेल करने के प्रयास का आरोप लगाया है.

उन्होंने बताया कि आरोपी ने रविकिशन के नाम से फर्जी सोशल मीडिया आईडी बनाकर एक लाख रुपये मांगे हैं. इस संबंध में उनके पति अनिल यादव ने साइबर अपराध थाने में शिकायत दी है.

अनिल यादव ने बताया कि ट्विटर पर रविकिशन के नाम का व्यक्ति उनकी पत्नी की फर्जी अश्लील फोटो अपलोड कर रहा है. उन्होंने दावा किया कि आरोपी ने पीड़िता से एक लाख रुपये की मांग की है.

यादव ने कहा कि ऐसा नहीं करने पर आरोपी लगातार अश्लील फोटो अपलोड करने की धमकी दे रहा है. पंखुड़ी पाठक कांग्रेस की स्टार प्रचारक हैं. फिलहाल वह फिरोजाबाद में प्रचार कर रही हैं. पाठक नोएडा विधानसभा सीट से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ रही हैं.

पाठक का आरोप है कि उन्हें ट्विटर और अन्य सोशल मीडिया मंचों के माध्यम से परेशान किया जा रहा है. पाठक ने एक राजनीतिक पार्टी के आईटी सेल पर उन्हे बदनाम करने का आरोप लगाया है.

पुलिस उपायुक्त महिला सुरक्षा वृंदा शुक्ला ने बताया कि पुलिस ने शिकायत के आधार पर मामले की जांच शुरू कर दी है. उन्होंने कहा कि साइबर पुलिस आरोपी के ट्विटर एकाउंट के आधार पर उसकी पहचान करने का प्रयास कर रही है.

समाजवादी पार्टी की शिकायत पर तिलहर सीट से भाजपा प्रत्याशी के खिलाफ केस दर्ज

(फोटो: पीटीआई)

उत्तर प्रदेश चुनाव में शाहजहांपुर जिले के तिलहर विधानसभा क्षेत्र से सपा उम्मीदवार रोशन लाल वर्मा के आवास पर कथित रूप से गोलीबारी किए जाने के मामले में भाजपा प्रत्याशी सलोना कुशवाहा और उनके समर्थकों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई है.

पुलिस ने बताया कि मतदान के पश्चात भाजपा और सपा समर्थकों के बीच हुए झगड़े के बाद सपा प्रत्याशी एवं मौजूदा विधायक रोशन लाल वर्मा के आवास पर हुई गोलीबारी के मामले में भाजपा प्रत्याशी समेत 26 नामजद तथा 250 अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.

पुलिस अधीक्षक एस. आनंद ने बुधवार को बताया कि तिलहर विधानसभा में सोमवार को हुए बवाल के बाद वर्मा के बेटे की शिकायत पर प्राथमिकी दर्ज की गई.

आनंद ने बताया कि शिकायत में आरोप लगाया गया है कि भाजपा उम्मीदवार सलोना कुशवाहा ने चुनाव में पिछड़ने की वजह से भाजपा समर्थकों को भड़काया, जिसके बाद सलोना कुशवाहा, राघवेंद्र कुशवाहा उर्फ मुन्ना समेत 26 नामजद तथा 250 अज्ञात लोगों ने लाइसेंसी हथियारों से सोमवार रात को सपा प्रत्याशी के आवास में घुसकर गोलीबारी की और पथराव किया.

इस बीच, सलोना कुशवाहा के समर्थक आकाश तिवारी ने आरोप लगाया कि वह सोमवार शाम अपने समर्थकों के साथ जा रहे थे कि तभी रोशनलाल वर्मा अपने समर्थकों के साथ वहां आ गए और उनकी तथा समर्थकों की बुरी तरह पिटाई की, जिसमें आधा दर्जन लोग घायल हो गए.

पुलिस ने तिवारी की शिकायत पर रोशनलाल वर्मा और उनके 60 से अधिक समर्थकों के विरुद्ध हत्या के प्रयास एवं अन्य आरोपों के तहत मामला दर्ज किया है.

आनंद ने बताया कि दोनों मामलों की गहन जांच के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी. इसी विधानसभा क्षेत्र में मंगलवार को समाजवादी पार्टी के बूथ एजेंट की गोली मारकर हत्या किए जाने का मामला सामने आया था.

पुलिस अधीक्षक का कहना है कि आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने छह दल गठित किए हैं. उन्होंने बताया कि आरोपी घटना के बाद से फरार हैं और उनकी तलाश की जा रही है.


पंजाब विधानसभा चुनाव


प्रधानमंत्री मोदी बोले- आम आदमी पार्टी कांग्रेस की ‘फोटोकॉपी’

पठानकोट में हुई चुनावी रैली में नरेंद्र मोदी. (फोटो: पीटीआई)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आम आदमी पार्टी (आप) को कांग्रेस की ‘फोटोकॉपी’ बताते हुए आरोप लगाया कि पंजाब विधानसभा चुनाव में दोनों पार्टियां एक दूसरे के खिलाफ लड़ने का ‘नाटक’ कर रही हैं.

पंजाब में 20 फरवरी को होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले पठानकोट में एक रैली को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि कांग्रेस बंटवारे के समय करतारपुर साहिब को भारतीय क्षेत्र में रखने में नाकाम रही. करतारपुर साहिब में गुरु नानक देव ने अपना अंतिम समय गुजारा था.

उन्होंने मतदाताओं से राज्य के सर्वांगीण विकास के लिए पंजाब में भाजपा के नेतृत्व वाले गठबंधन को सत्ता में लाने का आग्रह किया.

कांग्रेस और आम आदमी पार्टी पर निशाना साधते हुए मोदी ने कहा, ‘ये दोनों पार्टियां ‘एक थाली के चट्टे बट्टे’ होने के बावजूद अब पंजाब में ‘नूरा कुश्ती’ कर रही हैं. क्या आपने डब्ल्यूडब्ल्यूएफ देखा है? वे यही कर रहे हैं. वे प्रतिद्वंद्वी होने का नाटक कर रहे हैं.’

उन्होंने आप का जिक्र करते हुए कहा, ‘यह कांग्रेस की जेरॉक्स कॉपी है. सब कुछ एक जैसा है. सच्चाई यह है कि अगर कांग्रेस ‘ओरीजनल’ है, तो दूसरी पार्टी (आप) उसकी फोटोकॉपी है.’

प्रधानमंत्री ने आरोप लगाया कि एक पार्टी ने युवाओं को नशे के जाल में धकेला तो दूसरी पार्टी दिल्ली के युवाओं को शराब की लत लगाने में लगी है. एक ने पंजाब को लूटा और दूसरी दिल्ली में एक के बाद एक घोटाले कर रही है.

पंजाब के मतदाता कांग्रेस को स्पष्ट बहुमत देंगे: हरीश रावत

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने पंजाब में खंडित जनादेश की संभावना से इनकार करते हुए बुधवार को कहा कि लोग राज्य में कांग्रेस को स्पष्ट बहुमत के साथ वापस लाएंगे क्योंकि यह एकमात्र पार्टी है जो समाज के सभी तबकों को साथ लेकर प्रदेश को विकास के पथ पर आगे ले जा सकती है.

पिछले साल सितंबर में पंजाब के मुख्यमंत्री पद से अमरिंदर सिंह को हटाए जाने के समय रावत कांग्रेस के पंजाब मामलों के प्रभारी थे. उसके बाद अक्टूबर में, हरीश चौधरी को रावत के स्थान पर नियुक्त किया गया था.

रावत ने विश्वास व्यक्ति किया कि कांग्रेस उत्तराखंड में भी सत्ता में आएगी और राज्य की 70 में से करीब 48 सीटों पर जीत हासिल करेगी. उत्तराखंड में 14 फरवरी को मतदान हुआ.

पंजाब के बारे में वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘पंजाब खंडित जनादेश नहीं देगा. पंजाब प्रयोग नहीं करेगा और कांग्रेस के पक्ष में स्पष्ट जनादेश देगा, हम स्पष्ट बहुमत के साथ जीतेंगे.’

रावत ने आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी का एजेंडा विभाजनकारी है जबकि आम आदमी पार्टी शासन के दिल्ली मॉडल को लागू करना चाहती है, जो नाकाम साबित हुआ है. उन्होंने कहा कि शिरोमणि अकाली दल को पिछली बार की ही तरह जनता नकार देगी.

भाजपा नीत गठबंधन के सत्ता में आने पर मादक पदार्थों की समस्या को दूर करने के वादे के संबंध में रावत ने सवाल किया कि जब वे शिअद के साथ गठबंधन में सरकार चला रहे थे तो इस संकट से निपटने के लिए दस साल तक वे क्या कर रहे थे. उन्होंने कहा कि इसलिए, लोग उनके दावों पर विश्वास नहीं करेंगे.

शिअद-बसपा का नौकरियों में 75 फीसदी स्थानीय कोटा, एमएसपी बढ़ाने का वादा

‘पंजाबियों का पंजाब’ की पुरजोर वकालत करते हुए शिरोमणि अकाली दल (शिअद) और  बसपा गठबंधन की ओर से मंगलवार को घोषणापत्र जारी किया गया.

इसमें गठबंधन के सरकार में आने पर सरकारी और निजी नौकरियों में स्थानीय युवाओं को 75 फीसदी आरक्षण देने, न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) का दायरा बढ़ाकर फलों, सब्जियों और दूध को इसमें शामिल करने और कई अन्य चीजें मुफ्त में देने का वादा किया गया है.

गठबंधन की ओर से सभी घरों को 400 यूनिट बिजली प्रतिमाह मुफ्त में देने, 10 लाख का सालाना स्वास्थ्य बीमा और बीपीएल परिवार की हर महिला प्रमुख को प्रतिमाह 2000 हजार रुपये और हर भूमिहीन को पांच मरला जमीन देने का वादा किया गया है.

इसके नेताओं ने कहा कि गठबंधन नदी जल, क्षेत्रीय, राजनीतिक और धार्मिक मामलों में राज्य के लिए न्याय सुरक्षित करने के लिए संघर्ष करना जारी रखेगा. उन्होंने शिक्षा, स्वास्थ्य, कृषि और सामाजिक कल्याण सहित विभिन्न क्षेत्रों के लिए छूट की घोषणा की.

घोषणापत्र में कहा गया है कि वृद्धावस्था पेंशन 1,500 रुपये से बढ़ाकर 3,100 रुपये, शगुन योजना की राशि बढ़ाकर 75,000 रुपये की जाएगी.

पंजाब सरकार की शगुन योजना के तहत वर्तमान में अनुसूचित जाति और पिछड़ा वर्ग की महिलाओं की शादी के लिए 51,000 रुपये की राशि दी जाती है. पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए 20 फरवरी को मतदान होना है.


गोवा विधानसभा चुनाव


पणजी के लोगों और मनोहर पर्रिकर के बीच प्रेम को महसूस किया: उत्पल

उत्पल पर्रिकर. (फोटो साभार: एएनआई)

गोवा विधानसभा चुनाव में पणजी निर्वाचन क्षेत्र से निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर किस्मत आजमा रहे उत्पल पर्रिकर ने कहा कि उन्होंने स्थानीय लोगों और उनके पिता मनोहर पर्रिकर के बीच प्रेम का अटूट रिश्ता महसूस किया है.

उत्पल पर्रिकर गोवा के पूर्व मुख्यमंत्री तथा भारतीय जनता पार्टी के नेता मनोहर पर्रिकर के पुत्र हैं जिनका 2019 में निधन हो गया था. गोवा में 14 फरवरी को एक चरण में मतदान हुआ.

पणजी सीट इस विधानसभा चुनाव की सबसे महत्वपूर्ण सीटों में से एक है. सत्तारूढ़ भाजपा द्वारा टिकट देने से इनकार किए जाने के बाद उत्पल ने निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ा. पार्टी ने वर्तमान विधायक और कांग्रेस से भाजपा में आए अतानासियो मोंसेरेट को पणजी सीट से अपना उम्मीदवार बनाया है.

मतदान के बाद मंगलवार को सोशल मीडिया मंचों के माध्यम से दिए गए अपने संदेश में उत्पल ने कहा, ‘मैंने पिछले एक महीने में पणजी और आसपास का दौरा किया तथा कई लोगों से मिला. मैं यह महसूस कर सकता हूं कि मेरे दिवंगत पिता मनोहर पर्रिकर का पणजी और यहां के निवासियों के साथ प्रेम और गर्व का ऐसा जुड़ाव क्यों था.’

मनोहर पर्रिकर ने 1994 से छह बार पणजी निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व किया था. उत्पल ने कहा कि चुनाव में पणजी से मिले अपार समर्थन के लिए वह जनता के आभारी हैं.

कांग्रेस को पूर्ण बहुमत सीटों के साथ अगली सरकार का सपना नहीं देखना चाहिए: भाजपा

भाजपा नेता सदानंद शेट तनवडे ने बुधवार को यह कहते हुए कांग्रेस पर कटाक्ष किया कि पार्टी को गोवा में पूर्ण बहुमत सीटों के साथ अगली सरकार का गठन करने का ‘दिन में सपना देखना’ बंद करना चाहिए.

कांग्रेस ने मंगलवार को दावा किया था कि गोवा फॉरवर्ड पार्टी (जीएफपी) के साथ उसका गठबंधन 40 सदस्यीय विधानसभा में पूर्ण बहुमत हासिल करेगा और भाजपा को 10 से भी कम सीटें मिलेंगी.

गोवा में सोमवार को 78.94 फीसद मतदान हुआ था और अब मतगणना 10 मार्च को होगी. प्रदेश भाजपा अध्यक्ष तनवडे ने कहा कि कांग्रेस के नेता घबराए हुए हैं , इसलिए वे अप्रासंगिक बयान दे रहे हैं.

उन्होंने कहा,‘मतदान के प्रति जबर्दस्त उत्साह संकेत करता है कि भाजपा गोवा में एक बार फिर सरकार बनाएगी.’

भाजपा नेता ने कहा कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गिरीश चोडनकर और विपक्ष के नेता दिगंबर कामत ‘मतदान परिदृश्य के बारे में अस्पष्ट निष्कर्ष’ पर पहुंचे हैं.

उन्होंने कहा,‘ कांग्रेस को दिन में सपना देखना बंद कर देना चाहिए. सत्ता के प्रति उनका लालच उनके बयानों से स्पष्ट है. जैसा कि मैंने पहले कहा है कि भारी मतदान दर्शाता है कि लोगों ने भाजपा के पक्ष में वोट डाला है. हमारी जीत और कांग्रेस की हार 10 मार्च को स्पष्ट हो जाएगी.’


मणिपुर विधानसभा चुनाव


भाजपा ने मणिपुर में किया जनादेश का अपमान: प्रियंका गांधी

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने बुधवार को मणिपुर में सत्तारूढ़ भाजपा पर तीखा प्रहार करते हुए उसपर जनादेश का अपमान करने तथा सरकार गठन के लिए ‘धौंसबाजी एवं रिश्वतखोरी’ का सहारा लेने का आरोप लगाया .

राज्य में 2017 में हुए पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरी थी, लेकिन भाजपा ने गठजोड़ कर सरकार बना ली.

‘विकास की राजनीति’ करने का वादा करते हुए प्रियंका ने कहा कि राज्य में पर्यटन की अपार संभावनाओं का इस्तेमाल किया जाएगा तथा अधिक नौकरियां पैदा की जाएंगी.

इंफाल में ऑनलाइन माध्यम से एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए कांग्रेस महासचिव ने इस उग्रवाद प्रभावित राज्य में ‘नागरिक स्वतंत्रताओं एवं लोकतांत्रिक अधिकारों’ की रक्षा करने का भी वादा किया.

उन्होंने कहा, ‘आपने कांग्रेस पार्टी को चुना था, लेकिन आपको अलग सरकार मिली.’

वर्ष 2017 के पिछले चुनाव के बाद राज्य में त्रिशंकु विधानसभा रही थी और न तो कांग्रेस को और न ही भाजपा को 60 सदस्यीय सदन में बहुमत मिला था. कांग्रेस 28 सीटें जीतकर 31 के जादुई आंकड़े के करीब थी, लेकिन भाजपा कोनराड संगमा की एनपीपी और नगा पीपुल्स फ्रंट जैसे छोटे दलों एवं अन्य की मदद से सत्ता पर काबिज हो गई.

गांधी ने कहा, ‘जब सत्ता में आने का मार्ग ही मौलिक रूप से गलत हो, जब वहां दबाव, धौंसबाजी एवं रिश्वतखोरी हो, तब ऐसी सरकार के कृत्य क्या हो सकते हैं? 2017 के चुनाव के जनादेश का अपमान किया गया.’

उन्होंने भाजपा पर पूर्वोत्तर के अन्य राज्यों की तरह मणिपुर की अनदेखी करने का आरोप लगाया और कहा, ‘मणिपुर की परंपराओं, रीति-रिवाजों एवं लोगों की जीवन शैली का पूरा सम्मान किया जाना चाहिए.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)