भारत

पंजाब: अमृतसर शिविर में बीएसएफ़ कॉन्स्टेबल ने की फायरिंग, पांच जवानों की मौत

यह घटना पंजाब के सीमावर्ती शहर अमृतसर में भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास अटारी-वाघा सीमा चौकी के क़रीब स्थित खासा इलाके में बीएसएफ़ के 144वीं बटालियन के परिसर में हुई. इस दौरान गोलीबारी करने वाले जवान की भी मौत हो गई. अधिकारियों ने बताया कि आरोपी अपने काम के घंटों को लेकर ग़ुस्से में था.

(फोटो साभार: फेसबुक)

अमृतसर: पंजाब के सीमावर्ती शहर अमृतसर में सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के शिविर में एक जवान ने रविवार को कथित रूप से गोलीबारी कर दी, जिसमें बीएसएफ के कम से कम चार जवानों की मौत हो गई तथा एक अन्य घायल हो गया. इस दौरान गोलीबारी करने वाले जवान की भी मौत हो गई. अधिकारियों ने यह जानकारी दी.

इस संबंध में एक अधिकारी ने बताया कि यह घटना सुबह 9:30 से 9:45 बजे के बीच उस समय हुई, जब कॉन्स्टेबल सतेप्पा एसके ने अपनी सर्विस राइफल से अपने पांच जवानों पर कथित रूप से गोलीबारी कर दी और इस दौरान आरोपी सतेप्पा की भी मौत हो गई.

उन्होंने बताया कि यह घटना भारत-पाकिस्तान अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास अटारी-वाघा सीमा चौकी से करीब 12-13 किलोमीटर दूर खासा इलाके में 144वीं बटालियन के परिसर में हुई.

अधिकारियों ने बताया कि आरोपी अपने काम के घंटों को लेकर स्पष्ट रूप से गुस्से में था और उसने परिसर में खड़े कमांडिंग ऑफिसर कमांडेंट सतीश मिश्रा के वाहन पर भी गोलियां चलाईं.

बहरहाल, अभी यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि आरोपी ने स्वयं को गोली मारी या वह किसी अन्य की गोलीबारी में मारा गया.

हालांकि समाचार एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, पंजाब फ्रंटियर के बीएसएफ आईजी आसिफ जलाल ने बताया​, ‘5 लोगों की मौत हो गई है और एक अस्पताल में भर्ती है. आरोपी कॉन्स्टेबल (सतेप्पा एसके) को गोली मारने वाले को भी चोटें (गोली) आईं हैं.’

बीएसएफ के एक प्रवक्ता ने बताया कि अमृतसर में बल के एक शिविर पर एक जवान की गोलीबारी में पांच बीएसएफ जवानों की मौत की दुर्भाग्यपूर्ण घटना हुई.

गोलीबारी में घायल हुए छठे जवान की स्थिति गंभीर है और वह अस्पताल में भर्ती है. गोलीबारी की चपेट में आने वालों में कॉन्स्टेबल और हेड कॉन्स्टेबल रैंक के कर्मचारी शामिल हैं.

प्रवक्ता ने बताया कि इस मामले की ‘कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी’ का आदेश दिया गया है. उन्होंने बताया कि सीमा सुरक्षा बल और पंजाब पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी घटनास्थल पर पहुंच गए हैं.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, बीएसएफ सूत्रों ने कहा कि ‘बी’ कॉय 144 बटालियन के कॉन्स्टेबल सतेप्पा ने अपने ड्यूटी हथियार का इस्तेमाल किया और खासा मुख्यालय के जीएफ और ओआरएस बैरक में अपने सहयोगियों पर फायरिंग शुरू कर दी. एक सूत्र ने कहा, ‘उन्होंने 144 बटालियन के कमांडेंट सतीश मिश्रा के वाहन पर भी फायरिंग की.’

खासा पंजाब में बीएसएफ के सबसे व्यस्त मुख्यालयों में से एक है, जिसके अधिकार क्षेत्र में भारत और पाकिस्तान के बीच एकीकृत चेक पोस्ट है और बीटिंग रिट्रीट समारोह की व्यवस्था का प्रभार है.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)