राजनीति

भगवंत मान ने पंजाब के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली

पंजाब के 18वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने वाले आम आदमी पार्टी के नेता भगवंत मान ने लोगों से देश न छोड़ने की अपील करते हुए कहा कि बेरोज़गारी से लेकर खेती तक, व्यवसाय से लेकर स्कूल तक से जुड़ीं सभी समस्याओं का समाधान मिल जाएगा.

शहीद भगत सिंह नगर जिले में स्थित शहीद भगत सिंह के पैतृक गांव खटकड़ कलां में आयोजित समारोह में भगवंत मान ने पद और गोपनीयता की शपथ ली. (फोटो साभार: ट्विटर/@AAPPunjab)

एसबीएस नगर: आम आदमी पार्टी के नेता भगवंत मान ने बुधवार को पंजाब के 18वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली. पंजाब के राज्यपाल बनवारी लाल पुरोहित ने राज्य के एसबीएस (शहीद भगत सिंह) नगर जिले में स्थित शहीद भगत सिंह के पैतृक गांव खटकड़ कलां में आयोजित समारोह में मान को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई.

शपथ ग्रहण समारोह में सिर्फ मान ने ही शपथ ली. समारोह को दोपहर 12:30 शुरू होना था, लेकिन वह कुछ देरी से अपराह्न करीब 1:25 पर शुरू हुआ.

समारोह में आम आदमी पार्टी (आप) के नवनिर्वाचित विधायकों, दिल्ली के मुख्यमंत्री व आप के संयोजक अरविंद केजरीवाल, दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, दिल्ली सरकार में मंत्री सत्येन्द्र जैन और अन्य लोग मौजूद थे. सभी ने पीले रंग की पगड़ी पहनी हुई थी.

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, ‘पंजाब का मुख्यमंत्री बनने पर भगवंत मान को बहुत बहुत बधाई और शुभकामनाएं. मुझे विश्वास है कि आपके नेतृत्व में पंजाब में खुशहाली लौटेगी, खूब तरक्की होगी और लोगों की समस्याओं का समाधान होगा. भगवान आपके साथ है.’

समारोह के बाद 48 वर्षीय मान ने कहा कि उनकी सरकार बेरोजगारी, भ्रष्टाचार और किसानों की तकलीफों को दूर करेगी. उन्होंने कहा, ‘सारा काम आज से ही शुरू हो जाएगा.’

यह वादा करते हुए कि एक दिन बर्बाद नहीं होगा और काम आज से ही शुरू हो जाएगा, उन्होंने कहा कि जैसा कि दिल्ली में आप सरकार ने किया है, राज्य में स्कूलों और अस्पतालों की हालत में सुधार किया जाएगा.

शपथ ग्रहण समारोह में गुरदास मान, करमजीत अनमोल, गायक-राजनेता व कांग्रेस से सांसद मोहम्मद सदिकी और अमर नूरी सहित तमाम गायक और कलाकार मौजूद थे.

पंजाब के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने पर आम आदमी पार्टी (आप) के नेता भगवंत मान को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को बधाई दी साथ ही आश्वस्त किया कि केंद्र सरकार राज्य के विकास के लिए उनकी सरकार के साथ मिलकर काम करेगी.

मोदी ने एक ट्वीट में कहा, ‘पंजाब के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने पर भगवंत मान को बहुत बधाइयां. पंजाब के विकास और राज्य की जनता के कल्याण के लिए हम साथ मिलकर काम करेंगे.’

कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने पंजाब के मनोनीत मुख्यमंत्री भगवंत मान के शपथ ग्रहण समारोह के लिए उन्हें भेजे गए निमंत्रण की एक तस्वीर पोस्ट की.

तिवारी ने निवर्तमान मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी के शपथ ग्रहण समारोह में उन्हें आमंत्रित नहीं करने के लिए कांग्रेस पर भी निशाना साधा. उनकी यह टिप्पणी ऐसे समय में आई है जब राज्य में पार्टी को मिली करारी हार के बाद नेतृत्व में दरार देख रही है.

कार्यक्रम के लिए व्यापक व्यवस्था की गई थी जिसमें राज्यभर से आए आप समर्थकों ने हिस्सा लिया. पुरुषों ने पीली पगड़ी बांधी थी और महिलाओं ने पीला दुपट्टा ओढ़ा था.

समारोह में भगवंत मान ने कहा कि लोग वैसे ही पंजाब आएंगे जैसे वे दिल्ली के स्कूलों और मोहल्ला क्लीनिकों को देखने जाते हैं.

‘इंकलाब जिंदाबाद’ और ‘जो बोले सो निहाल’ के साथ अपना भाषण समाप्त करने से पहले मान ने एक कोट उद्धृत किया, ‘हुकूमत वो करते हैं, जिनका दिलों पर राज होता है, यूं तो कहने को मुर्गे के सर पे भी ताज होता है.’

राज्य के लोगों को अपने शपथ ग्रहण समारोह में आने का न्योता देते हुए 48 वर्षीय मान ने कहा था कि उनके साथ पंजाब की तीन करोड़ जनता भी शपथ लेगी.

हाल ही में संपन्न पंजाब विधानसभा चुनाव में आप को 117 में से 92 सीटें मिली हैं.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के अनुसार, पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने कहा कि भगत सिंह को न केवल भारत की आजादी की चिंता थी, बल्कि यह भी कि आजाद होने के बाद वह किन हाथों में जाएगा.

उन्होंने कहा, ‘उनकी चिंताएं वाजिब थीं. हम उनके पास विदेश जा रहे हैं जिनसे हमने आजादी ली. हम अपने देश में रहेंगे और इसकी बेहतरी के लिए काम करेंगे.’

लोगों से देश न छोड़ने की अपील करते हुए मान ने कहा कि बेरोजगारी से लेकर खेती तक, व्यवसाय से लेकर स्कूल तक सभी समस्याओं का समाधान मिल जाएगा.

भगत सिंह के एक श्लोक का पाठ करते हुए मान ने कहा, ‘प्यार करना हर किसी का जन्मसिद्ध अधिकार है, मेरे देश की मिट्टी को अपना प्रेमी क्यों न बनाएं?’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)