भारत

कर्नाटकः पाकिस्तान के गणतंत्र दिवस पर शुभकामना का वॉट्सऐप स्टेटस लगाने पर महिला गिरफ़्तार

मामला बागलकोट ज़िले का है. आरोप है कि एक महिला ने 23 मार्च को पाकिस्तान के गणतंत्र दिवस पर कथित तौर पर शुभकामना देता हुआ वॉट्सऐप स्टेटस पोस्ट किया था, जिसके बाद उन्हें एक व्यक्ति की शिकायत पर ‘वैमनस्य फैलाने’ के आरोप में गिरफ़्तार किया था. हालांकि, अब महिला को ज़मानत दे दी गई है.

(प्रतीकात्मक फोटोः पीटीआई)

नई दिल्लीः कर्नाटक के बागलकोट जिले में 25 वर्षीय एक महिला को पाकिस्तान के गणतंत्र दिवस पर कथित तौर पर शुभकामनाओं वाला वॉट्सऐप स्टेटस पोस्ट करने पर 24 मार्च को गिरफ्तार किया गया था.

पाकिस्तान का गणतंत्र दिवस 23 मार्च को होता है.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, महिला द्वारा पोस्ट किए गए वॉट्सऐप संदेश में कहा गया, ‘भगवान हर मुल्क को शांति, एकता और सौहार्द से नवाजे.’

महिला की पहचान उत्तरी कर्नाटक के बागलकोट जिले के मुधोल कस्बे की रहने वाली कुठमा शेख के रूप में हुई है. वह स्थानीय मदरसे की छात्रा है.

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि शेख को कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए गिरफ्तार किया गया है. महिला को 25 मार्च को जमानत पर रिहा किया गया था.

पुलिस ने महिला को एक व्यक्ति अरुण कुमार भजंत्री की शिकायत पर गिरफ्तार किया, जिनका आरोप था कि महिला पाकिस्तान के गणतंत्र दिवस पर शुभकामनाएं देकर दो समुदायों के बीच वैमनस्य पैदा कर रही है.

पुलिस ने आईपीसी की धारा 153 (ए) (धर्म, जाति, नस्ल के आधार पर विभिन्न समूहों में दुश्मनी पैदा करना) और 505 (2) (विभिन्न समूहों के बीच वैमनस्य को बढ़ावा देने वाले बयान देना) के तहत मामला दर्ज किया गया है.

वकील और आरटीआई कार्यकर्ता भीमानागौड़ा पारागोंडा ने स्क्रॉल को बताया कि भजंत्री द्वारा लगाए गए आरोप कानूनी पैमाने पर खरे नहीं उतरते. निर्दोष लोगों को पुलिस द्वारा प्रताड़ित किया जा रहा है.

उधर, इस मामले को लेकर कुछ ट्विटर यूजर्स ने देश के प्रत्येक नागरिक के लिए शांति, एकता और सौहार्द की कामना करने वाली महिला को गिरफ्तार करने के बागलकोट पुलिस के फैसले पर सवाल खड़ा किया है.

लोग इस बात का भी जिक्र कर रहे हैं कि पिछले साल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पाकिस्तान के राष्ट्रीय दिवस पर वहां के प्रधानमंत्री इमरान खान को बधाई देते हुए कहा था कि भारत, पाकिस्तान के लोगों के साथ सौहार्दपूर्ण संबंध चाहता है.

इससे पहले साल 2015 में भी प्रधानमंत्री मोदी ने पाकिस्तान के तत्कालीन प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को उनके गणतंत्र दिवस के मौके पर बधाई दी थी.