भारत

आंध्र प्रदेश में 13 नए ज़िलों का गठन किया गया, कुल ज़िलों की संख्या 26 हुई

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने कहा कि नए ज़िलों के गठन की बहुत ज़रूरत है, क्योंकि राज्य की आबादी करीब पांच करोड़ है. इससे पहले विधानसभा चुनावों के दौरान उन्होंने वादा किया था कि उनकी पार्टी की सरकार बनने पर हर लोकसभा क्षेत्र को ज़िला बनाएगी.

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री जगनमोहन रेड्डी. (फोटो साभार: पीटीआई)

अमरावती: आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी ने सोमवार को राज्य के 13 नए जिलों का औपचारिक उद्घाटन किया, जिसके बाद प्रदेश में जिलों की कुल संख्या 26 हो गई है.

तेलंगाना अलग होने के बाद राज्य में 13 जिले बचे थे. नए 13 जिलों में मान्यम, अनाकापल्ली, अल्लूरी सीताराम राजू, काकीनाडा, कोनसीमा, एलुरू, पलनाडु, बापटला, नांदयाल, श्री सत्य सांईं, श्री बालाजी, अन्नामाया और एनटी रामाराव शामिल हैं. एक आदिवासी जिले को छोड़कर अब प्रत्येक जिले में छह से आठ विधानसभा क्षेत्र होंगे.

नए जिलों का उद्घाटन गुंटूर जिले के ताडेपल्ली में उनके (मुख्यमंत्री) कार्यालय शिविर में आयोजित वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हुआ.

रेड्डी ने नए जिलों के गठन के लिए लोगों, अधिकारियों और कर्मचारियों को अपनी हार्दिक शुभकामनाएं और बधाई दी और अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने को कहा कि सरकार द्वारा घोषित योजनाओं का लोगों को लाभ मिले.

उन्होंने कहा कि लोगों ने सरकार के विकेंद्रीकृत प्रशासन के तरीके को स्वीकार किया है और उसकी सराहना की है, क्योंकि योजनाएं सीधे उनके दरवाजे तक पहुंचाई जाती हैं और अब इसे जिलों में भी लागू किया जा रहा है.

मुख्यमंत्री ने कहा, ‘हमने ग्राम और वार्ड सचिवालयों के रूप में विकेंद्रीकृत प्रशासन के माध्यम से विकास देखा है. अब हम जिला स्तर पर भी विकेंद्रीकरण कर रहे हैं. अब से आंध्र प्रदेश 26 जिलों वाला राज्य है. हमारे पास प्रति जिले में कम से कम एक संसदीय क्षेत्र है.’

उन्होंने दोहराया कि विकेंद्रीकरण और प्रशासन में आसानी के लिए नए जिले बनाए जा रहे हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि आंध्र प्रदेश के लिए जिलों के गठन की बहुत जरूरत है, क्योंकि राज्य की आबादी करीब पांच करोड़ है.

डेक्कन क्रॉनिकल की रिपोर्ट के मुताबिक, एक डिजिटल समारोह में जिलों का शुभारंभ किया गया. डिजिटल उद्घाटन समारोह में अन्य सभी जिलों के अधिकारी शामिल हुए.

सरकार के विशेष मुख्य सचिव (एफएसी) जी साई प्रसाद ने 3 अप्रैल को आंध्र प्रदेश गजट के तहत जारी एक अधिसूचना में 13 नए जिलों के गठन की पुष्टि की थी. सभी नए जिले 4 अप्रैल से प्रभाव में आ गए हैं.

न्यूज 18 के मुताबिक, 2019 के विधानसभा चुनावों में जगन रेड्डी ने जनता से वादा किया था कि उनकी पार्टी की सरकार बनने पर वह राज्य के हर लोकसभा क्षेत्र को जिला बना देंगे.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)