भारत

दिल्ली के मुंडका मेट्रो स्टेशन के पास इमारत में आग लगने से कम से कम 27 लोगों की मौत

राष्ट्रीय राजधानी के पश्चिमी इलाके में मुंडका मेट्रो स्टेशन के पास स्थित चार मंज़िला व्यावसायिक इमारत में शुक्रवार शाम आग लगी. पुलिस के अनुसार, आग इमारत की पहली मंज़िल से लगनी शुरू हुई जहां सीसीटीवी कैमरा और राउटर निर्माता कंपनी का कार्यालय था. कंपनी के मालिकों- हरीश गोयल और वरुण गोयल को हिरासत में ले लिया गया है और इमारत के मालिक की पहचान मनीष लाकरा के रूप में हुई है.

चार मंजिला व्यावसायिक इमारत में आग लगने से कम से कम 27 लोगों की मौत हो गई और 12 अन्य झुलस गए. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी के पश्चिमी इलाके में मुंडका मेट्रो स्टेशन के पास स्थित चार मंजिला व्यावसायिक इमारत में शुक्रवार शाम आग लगने से कम से कम 27 लोगों की मौत हो गई और 12 अन्य झुलस गए.

जिस इमारत में एक दिन पहले भयंकर आग लगी थी, उसकी दूसरी मंजिल से शनिवार को शव बरामद किए गए जो बुरी तरह जल गए हैं.

दिल्ली दमकल सेवा (डीएफएस) के निदेशक अतुल गर्ग ने बताया कि ऐसा संदेह है कि वातानुकूलित यंत्र (एसी) में धमाका होने से आग लगी होगी.

पुलिस सूत्रों ने बताया कि आग इमारत की पहली मंजिल से लगनी शुरू हुई, जहां सीसीटीवी कैमरा और राउटर निर्माता कंपनी का कार्यालय था. उन्होंने कहा कि आग बुझाने के काम में 30 से अधिक दमकल वाहनों को लगाया गया.

पुलिस उपायुक्त (बाहरी) समीर शर्मा ने बताया कि कंपनी के मालिक हरीश गोयल और उसके भाई वरुण गोयल को गिरफ्तार कर लिया गया है. पहले उन्हें हिरासत में लिया गया था.

इमारत के मालिक की पहचान मनीष लाकरा के रूप में हुई है.

गर्ग ने बताया, ‘हमारे दमकलकर्मियों के तलाश अभियान के दौरान दूसरी मंजिल से जले हुए शव मिले हैं, लेकिन हम यह कह नहीं सकते कि एक शव है या कई शव हैं. हालांकि आग पर काबू पा लिया गया है, लेकिन और खोज अभियान चल रहा है.’

उन्होंने बताया कि अभी घटनास्थल पर दो अग्निशमन गाड़ियां मौजूद हैं.

पुलिस ने कहा कि वह इमारत के सबसे ऊपर वाले तल पर रहता था और उसके खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धाराओं के तहत मामला दर्ज किया जा रहा है.

पुलिस उपायुक्त (बाहरी) समीर शर्मा ने बताया कि कंपनी के मालिक हरीश गोयल और विजय गोयल को घटना के संबंध में गिरफ्तार कर लिया गया है.

उन्होंने बताया कि उनके खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 304 (गैर इरादतन हत्या), 308 (गैर इरादतन हत्या का प्रयास), 120 (दंडनीय अपराध को अंजाम देने की योजना छिपाने) और 34 (साझा मंशा) के तहत एक एफआईआर दर्ज की गयी है.

डीसीपी ने बताया कि इमारत की सभी मंजिलों का इस्तेमाल यही कंपनी कर रही है. इमारत के मालिक मनीष लाकड़ा पर भी मामला दर्ज किया गया है.

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, डीसीपी एस. शर्मा ने कहा, ‘27 लोगों की मौत हो गई है और 12 घायल हो गए हैं. हम शवों की पहचान के लिए फोरेंसिक टीम की मदद लेंगे. एफआईआर दर्ज कर ली गई है. हमने कंपनी मालिकों को हिरासत में लिया है. संभावना है कि और शव बरामद किए जा सकते हैं, क्योंकि बचाव अभियान अभी पूरा नहीं हुआ है.’

उन्होंने बताया कि तलाश अभियान चल रहा है. 12 घायलों में से एक की पहचान अभी नहीं हुई है, शेष की पहाचान हो गई है.

पश्चिमी दिल्ली के जिला मजिस्ट्रेट द्वारा जारी सूची के अनुसार, घायलों में सतीश (38), प्रदीप (36), आशु (22), हरजीत (23), नितिन (24), अविनाश (29), संध्या (22), धनवती (21), बिमला (43), आयशा (24) और ममता (52) शामिल हैं.

दिल्ली दमकल सेवा के प्रमुख अतुल गर्ग ने कहा कि इस अभियान में कोई दमकलकर्मी घायल नहीं हुआ. उन्होंने कहा कि छह दमकल वाहन अब भी घटनास्थल पर हैं और तीन-चार लोगों के फंसे होने की आशंका है.

अधिकारियों ने बताया कि घटना में झुलसे लोगों को बाहर निकाला गया और एक अस्पताल में भर्ती कराया गया.

पुलिस के अनुसार, आग लगने की सूचना शाम 4:45 बजे मिली जिसके बाद 30 से अधिक दमकल गाड़ियों को मौके पर भेजा गया. यह आग मुंडका मेट्रो स्टेशन के पिलर नंबर 544 के निकट लगी.

शुरुआती पूछताछ में पुलिस को पता चला कि चार मंजिला इमारत में कंपनियों को ऑफिस स्पेस मुहैया कराया जाता था.

उन्होंने बताया कि पहली मंजिल में एक कंपनी का कार्यालय था और उसके 50 से अधिक कर्मचारियों को सुरक्षित निकाल लिया गया, वहीं 27 लोगों के शव बरामद किए गए हैं.

दमकल विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि रात करीब 11 बजे आग पर काबू पा लिया गया.

सोशल मीडिया में वायरल वीडियो क्लिप में लोगों को टूटी खिड़कियों से लटकी रस्सी से इमारत से भागने की कोशिश करते और कई लोगों को दूसरी इमारत में कूदने की कोशिश करते देखा जा सकता है.

दिल्ली के मुख्यमंत्री ने मुआवजे की घोषणा की, जांच के आदेश

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मुंडका स्थित एक इमारत में आग लगने की घटना में मारे गए लोगों के परिजनों को शनिवार को 10-10 लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की.

केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने स्थिति का जायजा लेने के लिए घटनास्थल का दौरा किया. मुख्यमंत्री ने कहा, ‘घटना की मजिस्ट्रेटी जांच के आदेश दे दिए गए हैं. मृतकों के परिवारों को 10-10 लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये का मुआवजा दिया जाएगा.’

उन्होंने कहा कि आग भीषण थी और शव इस हद तक झुलस गए थे कि उनकी पहचान करना मुश्किल हो गया है. केजरीवाल ने कहा, ‘दिल्ली सरकार लापता लोगों और मृतकों की पहचान के लिए मदद मुहैया करा रही है.’

दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने शुक्रवार की रात घटनास्थल का दौरा किया था.

केजरीवाल ने हादसे पर शोक व्यक्त किया और कहा कि वह लगातार अधिकारियों के संपर्क में हैं.

केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘इस दुखद घटना के बारे में जानकर स्तब्ध हूं और पीड़ा में हूं. मैं अधिकारियों के लगातार संपर्क में हूं. हमारे बहादुर दमकलकर्मी आग को काबू में करने और जिंदगियों को बचाने की कोशिश में लगे हुए हैं.’

राष्ट्रपति-प्रधानमंत्री ने शोक जताया

इसी बीच, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने आग लगने से हुई लोगों की मौत पर शोक जताया.

राष्ट्रपति कोविंद ने कहा कि वह इमारत में आग लगने से कई लोगों की मौत से अत्यंत दुखी हैं. उन्होंने पीड़ित परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त की. राष्ट्रपति ने कहा, ‘मैं घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं.’

राष्ट्रपति ने ट्वीट किया, ‘दिल्ली में मुंडका मेट्रो स्टेशन के पास एक इमारत में आग लगने की घटना से अत्यंत दुखी हूं. पीड़ित परिवारों के प्रति मेरी संवेदनाएं. मैं घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं.’

मोदी ने ट्वीट कर कहा, ‘दिल्ली में भीषण आग की घटना में लोगों की मौत से बेहद दुखी हूं. शोकाकुल परिवारों के प्रति मेरी संवेदनाएं. मैं घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं.’

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से इस हादसे में जाने गंवाने वालों के आश्रितों को दो-दो लाख रुपये तथा घायलों को पचास-पचास हजार रुपये की राशि दी जाएगी.

केंद्रीय आवास एवं शहरी मामलों के मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने भी घटना पर दुख व्यक्त किया है.

पुरी ने ट्वीट किया, ‘दिल्ली के मुंडका में आग लगने की घटना में लोगों के जान गंवाने से बेहद दुखी हूं. मैं पीड़ित परिवारों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करता हूं और घायलों के शीघ्र स्वस्थ्य होने की कामना करता हूं.’

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने दिल्ली में आग लगने की घटना में कई लोगों की मौत पर शुक्रवार को दुख जताया और झुलसे हुए लोगों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की.

उन्होंने ट्वीट किया, ‘दिल्ली में मुंडका के निकट हुई अग्नि दुर्घटना में कई लोगों की मौत से दुखी हूं. पीड़ित परिवारों के प्रति गहरी संवेदना प्रकट करता हूं और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं.’

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा, ‘मुंडका आग हादसे की खबर सुनकर मन को भारी दुख पहुंचा. मृतकों के परिजनों के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं. मैं ईश्वर से प्रार्थना करती हूं कि घायलों को जल्द स्वास्थ्य लाभ मिले.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)