भारत

उत्तराखंड: यमुनोत्री जा रही श्रद्धालुओं की बस खाई में गिरने से 26 लोगों की मौत

उत्तराखंड के उत्तरकाशी ज़िले के डामटा के पास यह हादसा हुआ. हादसे में तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए. सभी यात्री मध्य प्रदेश के पन्ना ज़िले के रहने वाले थे.

उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले के डामटा में एक बस के गहरी खाई में गिर गई जिसमें सवार 26 यात्रियों की मौत हो गई. (फोटो: पीटीआई)

उत्तरकाशी: उत्तराखंड के उत्तरकाशी जिले के पुरोला क्षेत्र में रविवार को डामटा के समीप एक बस के गहरे खाई में गिरने से उसमें सवार 26 तीर्थयात्रियों की मृत्यु हो गई और तीन अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए.

उत्तरकाशी के जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेंद्र पटवाल ने बताया कि ऋषिकेश-यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 94 पर डामटा से दो किलोमीटर आगे रिखावू खड्ड में देर शाम हुई दुर्घटना के समय श्रद्धालु यमुनोत्री धाम के दर्शन के लिए जा रहे थे.

उन्होंने बताया कि श्रद्धालु मध्य प्रदेश के पन्ना जिले के रहने वाले थे. दुर्घटना के वक्त बस में पन्ना जिले के 28 लोग सवार थे.

घटना की सूचना मिलते ही पुलिस और राज्य आपदा प्रतिवादन बल (एसडीआरएफ) की टीमें मौके पर पहुंच गई, जहां युद्धस्तर पर बचाव और राहत कार्य चलाया गया.

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, उत्तरकाशी बस दुर्घटना संबंधित बचाव अभियान समाप्त हो गया, मरने वालों की संख्या बढ़कर 26 हो गई है.

पटवाल ने कहा कि हादसे में घायल तीन लोगों को डामटा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया है. बड़कोट, नगांव और नैनबाग से एंबुलेंस के अलावा पुलिस और एसडीआरएफ की टीमों को मौके पर भेजा गया.

हादसे की सूचना मिलते ही मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने तत्काल सचिवालय स्थित आपदा नियंत्रण कक्ष का दौरा किया. उन्होंने उत्तरकाशी के जिलाधिकारी से राहत एवं बचाव कार्य में तेजी लाने को कहा.

धामी ने भी हादसे पर दुख व्यक्त करते हुए दिवंगतों की आत्मा की शांति की प्रार्थना करते हुए जिला प्रशासन को पीडितों को हरसंभव मदद उपलब्ध कराने के निर्देश दिए.

धामी ने दुर्घटना में मारे गए तीर्थयात्रियों के परिजनों को एक लाख रुपये और घायलों को 50 हजार रुपये देने की घोषणा की है. इस बीच मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी धामी से बातचीत कर दुर्घटना की जानकारी ली थी.

पुष्कर सिंह धामी ने कहा, ‘बस चालक ने हमें बताया कि स्टीयरिंग व्हील फेल होने से दुर्घटना हुई, लेकिन फिर भी हमने इसकी मजिस्ट्रियल स्तर की जांच के आदेश दिए हैं.’

धामी ने एक ट्वीट कर कहा, ‘संबंधित अधिकारियों को दुर्घटना की जांच करने का निर्देश दिया गया है. ईश्वर दिवंगत आत्माओं को उनके चरणों में स्थान प्रदान करें और उनके परिवारजनों को दुख सहने की शक्ति प्रदान करें. साथ ही, मैं उन सभी घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना करता हूं.’

धामी ने कहा, ‘हादसे के घायलों को उचित उपचार के लिए देहरादून में भर्ती कराया गया है और मैं उनके जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं. माननीय मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान जी के साथ मैं घटनास्थल पर पहुंच घटना के कारणों व मौजूदा हालातों की जानकारी ले रहा हूं.’

उन्होंने कहा, ‘संकट की इस घड़ी में दोनों राज्य सरकारें पूर्ण रूप से पीड़ितों के साथ हैं और हम परिजनों को यथासंभव त्वरित सहायता उपलब्ध करवा रहे हैं. घटनास्थल पर रात भर स्थानीय प्रशासन, एसडीआरएफ  और एनडीआरएफ की ओर से साझा रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया गया जिसकी मैंने स्वयं प्रति पल समीक्षा की.’

वहीं, शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट किया, ‘अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण और दुखद हादसा है. पन्ना जिले के जो भाई-बहन चारधाम तीर्थयात्रा पर गए थे, उनकी एक बस खाई में गिर गई. कई श्रद्धालुओं की मौत हुई. मैंने तत्काल उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर धामी से बात की. उन्होंने तत्काल पूरे प्रशासनिक तंत्र को सक्रिय कर दिया है.’

चौहान ने कहा कि घायलों को स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया है. मध्य प्रदेश के मुख्य सचिव लगातार उत्तराखंड के मुख्य सचिव के संपर्क में हैं.

चौहान ने कहा कि मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख और गंभीर रूप से घायलों को 50-50 हजार रुपये सहायता राहत राशि दी जाएगी. उन्होंने कहा कि घायलों का उपचार हमारी प्राथमिकता है.

उन्होंने कहा कि ईश्वर से दिवंगत आत्माओं की शांति तथा दुर्घटना में मृत व्यक्तियों के परिजनों को यह गहन दुख सहन करने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की है. उन्होंने दुर्घटना में घायल व्यक्तियों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना भी की है.

मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ एवं प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा ने भी इस हादसे पर दुख व्यक्त किया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और उत्तराखंड के राज्यपाल गुरमीत सिंह ने हादसे में लोगों की मौत पर दुख जताया है.

गुरमीत सिंह ने कहा, ‘उत्तराखंड में बस दुर्घटना की खबर बहुत दर्दनाक है. मैं उन लोगों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं जिन्होंने अपने प्रियजनों को खो दिया है। राज्य सरकार की निगरानी में स्थानीय प्रशासन मौके पर ही हर संभव मदद में लगा हुआ है.’

साथ ही कहा, ‘प्रधानमंत्री ने उत्तराखंड में दुर्घटना में जान गंवाने वालों के परिजनों के लिए पीएमएनआरएफ से प्रत्येक को 2 लाख रुपये की अनुग्रह राशि देने की घोषणा की है. घायलों को 50-50 हजार रुपये दिए जाएंगे.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)