भारत

उत्तर प्रदेश: जन्माष्टमी पर वृंदावन स्थित बांके बिहारी मंदिर में भगदड़, दो श्रद्धालुओं की मौत

उत्तर प्रदेश के मथुरा ज़िले के वृंदावन स्थित बांके बिहारी मंदिर में मची भगदड़ में जिन दो लोगों की मौत हुई है, उनकी पहचान नोएडा सेक्टर-99 की रहने वाली निर्मला देवी और राम प्रसाद विश्वकर्मा के रूप में हुई है. हादसे में सात अन्य घायल हो गए हैं.

जन्माष्टमी पर बांके बिहारी मंदिर में उमड़ी भीड़. (फोटो साभार: एएनआई)

मथुरा: उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले में वृंदावन स्थित बांके बिहारी मंदिर में शुक्रवार देर रात जन्माष्टमी के अवसर पर ठाकुर जी के महाभिषेक के बाद मंगला आरती के समय भगवान की एक झलक पाने के लिए मची भगदड़ में दो श्रद्धालुओं की दबकर मौत हो गई, जबकि सात अन्य घायल हो गए. अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी.

सिटी मजिस्ट्रेट सौरभ दुबे ने बताया कि हादसे में मारे गए लोगों की पहचान नोएडा सेक्टर-99 की रहने वाली निर्मला देवी और रुक्मणि बिहार कॉलोनी निवासी राम प्रसाद विश्वकर्मा के रूप में हुई है.

उन्होंने बताया कि परिजनों ने शवों का पोस्टमॉर्टम कराने से इनकार कर दिया और शनिवार सुबह शवों को लेकर घर चले गए.

दुबे के मुताबिक, मंदिर में जिस समय भगदड़ मची, उस समय जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव और नगर आयुक्त अनुनय झा सहित भारी पुलिस बल वहां मौजूद था.

उन्होंने बताया कि भगदड़ मचते ही पुलिस और निजी सुरक्षाकर्मियों ने श्रद्धालुओं को मंदिर से बाहर निकालना शुरू कर दिया. इस हादसे में घायल हुए श्रद्धालुओं को वृंदावन के रामकृष्ण सेवा मिशन, ब्रज हेल्थ केयर और 100 शैय्या अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

दुबे के अनुसार, मंदिर में स्थिति अब पूरी तरह से सामान्य है और श्रद्धालु सुचारु रूप से दर्शन कर रहे हैं.

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार, कोरोना संक्रमण काल के बाद बांके बिहारी मंदिर में श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर्व पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु उमड़े थे. मंदिर प्रांगण में क्षमता से अधिक लोगों के जमा होने के कारण आधी रात के बाद लोगों का दम घुटने लगा, जिसमें भगदड़ से दो लोगों की मौत हो गई.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस हादसे पर गहरा दुख व्यक्त किया है.

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से ट्वीट कर कहा गया, ‘मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मथुरा जिले के बांके बिहारी मंदिर हादसे में हुई जनहानि पर गहरा शोक प्रकट किया है. मुख्यमंत्री जी ने दिवंगतों की आत्मा की शांति की कामना करते हुए शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त की है.’

एक अन्य ट्वीट में कहा गया, ‘मुख्यमंत्री जी ने जिला प्रशासन के अधिकारियों को घायलों का समुचित उपचार कराने के निर्देश दिए हैं.मुख्यमंत्री जी ने गृह विभाग को निर्देश देते हुए कहा कि त्योहारों पर मंदिरों में भीड़ को देखते हुए और कड़े इंतजाम किए जाएं, ताकि किसी भी अनहोनी को रोका जा सके.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)