दुनिया

बांग्लादेश ने भारत के पूर्वोत्तर राज्यों के मुख्यमंत्रियों को देश में आने का आमंत्रण भेजा

बांग्लादेश के विदेश राज्य मंत्री शहरयार आलम ने बताया कि भारत के पूर्वोत्तर राज्यों से संबंधित कई परियोजनाएं हैं जिन पर चर्चा की जानी है.

बांग्लादेश के विदेश राज्य मंत्री शहरयार आलम. (फोटो साभार: prothomalo.com)

नई दिल्ली: बांग्लादेश के विदेश राज्य मंत्री शहरयार आलम ने शनिवार को ढाका में कहा कि बांग्लादेश ने भारत के सभी पूर्वोत्तर राज्यों के मुख्यमंत्रियों को देश के दौरे के लिए आमंत्रित किया है.

द हिंदू की खबर के अनुसार, बांग्लादेश के एडिटर्स गिल्ड द्वारा आयोजित एक मीडिया कार्यक्रम में बोलते हुए आलम ने कहा कि पूर्वोत्तर से संबंधित कई परियोजनाएं हैं जिन पर प्रधानमंत्री शेख हसीना की भारत यात्रा के दौरान चर्चा की गई थी. उन्होंने यह भी कि दोनों पक्ष अपने संबंधों को आगे ले जाने के लिए दृढ़ हैं.

आलम ने कहा, ‘हमने पूर्वोत्तर क्षेत्र के विकास मंत्री जी. किशन रेड्डी से पूर्वोत्तर के सभी मुख्यमंत्रियों के साथ बांग्लादेश का दौरा करने का अनुरोध किया. उनके साथ हाई प्रोफाइल अधिकारी और व्यापार प्रतिनिधि भी आ सकते हैं.’

मंत्री ने कहा कि रेड्डी द्वारा प्रधानमंत्री हसीना की हालिया दिल्ली यात्रा के दौरान द्विपक्षीय वार्ता के दौरान कई पहल की गईं और हसीना ने इनमें से कुछ योजनाओं को लागू करने के लिए अपनी सहमति दी है.

यह आमंत्रण बांग्लादेश के विदेश मंत्री डॉ. एके अब्दुल मोमेन के करीब दो महीने पहले असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा शर्मा को आमंत्रित करने के बाद आया है. हिमंता बिस्वा शर्मा कई बार असम में बांग्लादेशी नागरिकों की कथित घुसपैठ के बारे में बात कर चुके हैं.

आलम ने यह भी कहा, ‘उस यात्रा के दौरान हम मेघालय और असम के मुख्यमंत्रियों को शामिल कर सकते हैं जिन्होंने चुनाव से पहले कभी बांग्लादेश के बारे में टिप्पणी की थी. तीन महीने जब हमारे विदेश मंत्री ने असम की यात्रा की थी, तो उन्होंने (शर्मा) ने कहा था कि असम में आज शांति है तो शेख हसीना की वजह से है. उस संदर्भ में हमें यह देखना होगा कि किन परिस्थितियों में ये टिप्पणियां की जाती हैं ताकि संबंधों में किसी तरह के भ्रम से बचा जा सके.’

उल्लेखनीय है कि शेख हसीना इस महीने की शुरुआत में दोनों देशों के बीच समग्र संबंधों का विस्तार करने के लिए चार दिवसीय दौरे पर नई दिल्ली पहुंची थीं.

इसके बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शेख हसीना की भारत यात्रा का हिस्सा बनाने के लिए उन्हें आमंत्रित न करने को लेकर केंद्र की आलोचना की थी. तृणमूल कांग्रेस के एक विशेष सत्र को संबोधित करते हुए बनर्जी ने कहा था कि उनके शेख हसीना से बहुत अच्छे संबंध हैं लेकिन केंद्र ने उनकी यात्रा का हिस्सा बनने के लिए उन्हें आमंत्रित नहीं किया.

बनर्जी ने कहा था, ‘मैं विदेश मामलों या द्विपक्षीय संबंधों के बारे में बात करना नहीं चाहती लेकिन मैंने देखा है कि जब भी मुझे किसी देश में आमंत्रित किया जाता है तो केंद्र मुझे रोकने की कोशिश करता है. मैं यह जानना चाहती हूं कि केंद्र सरकार मेरे किसी विदेशी गणमान्य अतिथि से मुलाकात करने को लेकर चिंतित क्यों हैं. मुझे बाहर जाने की जरूरत नहीं है, क्योंकि बंगाल में यात्रा करना पूरी दुनिया को कवर करने जैसा है.’