राजनीति

भारत सबसे अधिक बेरोज़गार और दुनिया के सबसे अधिक अमीर लोगों वाला देश: राहुल गांधी

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम ने भी बेरोज़गारी को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि आठ वर्षों बाद मोदी सरकार की विरासत यह है कि ‘नौकरियां नहीं हैं.’

तेलंगाना में भारत जोड़ो यात्रा के दौरान राहुल गांधी. (फोटो: ट्विटर)

महबूबनगर (तेलंगाना): कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी ने शनिवार को कहा कि भारत को सबसे ज्यादा बेरोजगार और दुनिया के सबसे अमीर व्यक्तियों वाला देश होने का ‘दुर्लभ’ गौरव प्राप्त है.

राहुल गांधी के नेतृत्व वाली ‘भारत जोड़ो यात्रा’ शनिवार को तेलंगाना के महबूबनगर जिले के धर्मपुर से फिर से शुरू हुई.

इस दौरान गांधी ने एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि अगर कांग्रेस तेलंगाना में सत्ता में आती है, तो बुनकरों द्वारा हथकरघा उत्पादों पर जो भी वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) का भुगतान किया जा रहा है, उसकी प्रतिपूर्ति की जाएगी.

कांग्रेस नेता ने दावा किया, ‘पिछले 35 वर्षों की तुलना में आज भारत में सबसे ज्यादा लोग बेरोजगार हैं. साथ ही, भारत में दुनिया के सबसे अमीर लोग भी हैं. वे (अमीर लोग) जो चाहें, कर सकते हैं. इधर मुख्यमंत्री (के. चंद्रशेखर राव) और वहां (प्रधानमंत्री) मोदी उनका पूरा समर्थन करते हैं. ये राजनीतिक दल नहीं, बल्कि व्यावसायिक प्रतिष्ठान हैं.’

उन्होंने केंद्र में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और राज्य में तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) सरकारों पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया कि मोदी सरकार द्वारा जो भी जनविरोधी नीतियां लागू की जा रही हैं, केसीआर उनका समर्थन करते हैं.

कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि देश के किसान अपने प्रयासों के बावजूद फसलों का उचित दाम प्राप्त नहीं कर पा रहे हैं.

भाजपा पर देश में नफरत और हिंसा फैलाने का आरोप लगाते हुए गांधी ने कहा कि उनका मार्च बिना किसी नफरत के नदी की तरह प्रवाहित हो रहा है.

उन्होंने कहा, ‘यह सच्चा भारत है. यह हमारा इतिहास है. भाजपा और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) जो भी कर रहे हैं, देश के खिलाफ कर रहे हैं.’

उन्होंने कहा कि टीआरएस ने केंद्र के उन तीन विवादित कृषि कानूनों का भी समर्थन किया था. हालांकि, किसान आंदोलन के बाद उन कानूनों को वापस ले लिया गया.

गांधी ने कहा कि अगर उनकी पार्टी तेलंगाना में सत्ता में आती है तो शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र को और बजट आवंटित किया जाएगा.

बेरोजगारी के मुद्दे को लेकर चिदंबरम ने भी केंद्र सरकार पर निशाना साधा

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी. चिदंबरम ने बेरोजगारी के मुद्दे को लेकर शनिवार को केंद्र सरकार पर निशाना साधा और कहा कि आठ वर्षों बाद मोदी सरकार की विरासत है कि ‘नौकरियां नहीं हैं.’

पूर्व वित्त मंत्री ने ट्वीट किया, ‘उत्तर प्रदेश में सी श्रेणी की नौकरियों के लिए 37 लाख लोगों ने आवेदन किए. इसके बाद 40 हजार ‘अग्निवीरों’ की नौकरी के लिए 35 लाख लोगों ने आवेदन किए. क्या सरकार युवाओं की आवाज सुन रही है.’

चिदंबरम ने आरोप लगाया, ‘आठ साल में मोदी सरकार की विरासत: नौकरियां नहीं.’

उन्होंने कहा कि बेरोजगारी दर आठ प्रतिशत तक पहुंच गई है. वित्त मंत्रालय की सितंबर मासिक समीक्षा में बेरोजगारी पर एक शब्द भी नहीं कहा गया है!