भारत

बंगाल: टीएमसी विधायक के बांग्लादेशियों को वोटर लिस्ट में जगह देने संबंधी बयान पर विवाद

सोशल मीडिया पर सामने आए एक वीडियो में वर्धमान दक्षिण से टीएमसी विधायक खोकन दास पार्टी कार्यकर्ताओं से कथित तौर पर यह कहते दिख रहे हैं कि वे यह सुनिश्चित करें कि राज्य में उनके दल का समर्थन करने वाले बांग्लादेशी प्रवासियों को ही मतदाता सूची में जगह मिले.

(फोटो: पीटीआई)

वर्धमान/कोलकाता: पश्चिम बंगाल के एक विधायक ने तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के कार्यकर्ताओं से कथित तौर पर यह सुनिश्चित करने के लिए कहा है कि राज्य में सत्ताधारी पार्टी का समर्थन करने वाले बांग्लादेशी प्रवासियों को ही मतदाता सूची में जगह मिले.

उनके इस बयान को लेकर विवाद छिड़ गया है. ज्ञात हो कि पश्चिम बंगाल समेत पूरे देश में इस समय मतदाता सूची में संशोधन का काम चल रहा है.

सोशल मीडिया पर सामने आए एक वीडियो में वर्धमान दक्षिण से विधायक खोकन दास टीएमसी कार्यकर्ताओं से कथित तौर पर यह कहते नजर आ रहे हैं, ‘कई नए लोग आ रहे हैं… वे बांग्लादेश से हैं. इनमें से कई लोग हिंदू भावनाओं के आधार पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को वोट देते हैं. कृपया सुनिश्चित करें कि हमारी पार्टी का समर्थन करने वालों को ही मतदाता सूची में जगह मिले.’

यह वीडियो वर्धमान में मंगलवार को आयोजित एक जनसभा का बताया जा रहा है, जिसे दास ने भी संबोधित किया था. द वायर  इस वीडियो की प्रामाणिकता की स्वतंत्र रूप से पुष्टि नहीं कर सका है.

जब संवाददाताओं ने दास से अपना बयान स्पष्ट करने को कहा तो उन्होंने कहा, ‘अवैध बांग्लादेशी प्रवासी हर रोज हमारे क्षेत्र में प्रवेश कर रहे हैं. मैंने टीएमसी कार्यकर्ताओं से कहा कि उनके नाम मतदाता सूची में शामिल नहीं होने चाहिए.’

दास के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए भाजपा के वर्धमान जिले के प्रवक्ता सौम्यराज मुखोपाध्याय ने कहा, ‘दास को मुद्दे का राजनीतिकरण करने के बजाय केंद्र और राज्य सरकार को अवैध प्रवासियों के बारे में जानकारी देनी चाहिए। यही कारण है कि हम संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) लागू करेंगे.’

वहीं, टीएमसी के पूर्व वर्धमान जिले के प्रवक्ता प्रसेनजीत दास ने दावा किया कि विधायक की टिप्पणियों का ‘गलत अर्थ’ निकाला गया है. उन्होंने आरोप लगाया कि सीएए के कार्यान्वयन के पीछे भाजपा की ‘राजनीतिक मंशा’ है.

भाजपा ने कहा- संज्ञान ले केंद्र और निर्वाचन आयोग 

इसके बाद बंगाल में भाजपा नेतृत्व ने शुक्रवार को केंद्रीय गृह मंत्रालय और निर्वाचन आयोग से खोकन दास की टिप्पणियों का संज्ञान लेने का आग्रह किया है. भाजपा ने कहा कि एक निर्वाचित प्रतिनिधि की ऐसी टिप्पणियां राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए हानिकारक हैं.

विपक्ष के नेता शुभेंदु अधिकारी ने कहा, ‘हम केंद्रीय गृह मंत्रालय से इस मामले में संज्ञान लेने का अनुरोध करते हैं. सत्तारूढ़ दल के एक विधायक की ओर से आने वाली ऐसी टिप्पणियां राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए हानिकारक हैं. ऐसे बयानों को हल्के में नहीं लिया जा सकता है.’

पश्चिम बंगाल भाजपा नेतृत्व ने भी पश्चिम बंगाल के मुख्य निर्वाचन अधिकारी को पत्र लिखकर टीएमसी विधायक के खिलाफ तत्काल कार्रवाई की मांग की है.

प्रदेश भाजपा के एक अन्य नेता ने कहा, ‘हमने चुनाव आयोग को लिखा है और उनसे टीएमसी विधायक के खिलाफ तत्काल कार्रवाई करने का अनुरोध किया है. कई जगहों पर, सत्तारूढ़ पार्टी मतदाता सूची में हेरफेर करने के लिए अपने प्रभाव का उपयोग कर रही है, और जिला प्रशासन मूकदर्शक बना हुआ है. निर्वाचन आयोग को अवश्य ही इस मामले को देखना चाहिए.’

टीएमसी नेतृत्व ने, हालांकि, भाजपा की शिकायतों को अधिक महत्व देने से इनकार कर दिया. टीएमसी के वरिष्ठ नेता सौगत रॉय ने कहा, ‘भाजपा राज्य में खत्म है. उनके पास हर मुद्दे पर रोते रहने के अलावा कुछ नहीं है. टीएमसी कहीं भी मतदाता सूची को प्रभावित करने की कोशिश नहीं कर रही है.’

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)