राजनीति

दिल्ली नगर निगम में भाजपा का 15 साल का राज ख़त्म, आम आदमी पार्टी ने 134 सीटें जीतीं

दिल्ली नगर निगम के 250 वॉर्ड के चुनावों में आम आदमी पार्टी ने 134, भाजपा ने 104 और कांग्रेस ने 9 सीटों पर जीत दर्ज की. तीन सीटों पर निर्दलीय उम्मीदवार जीते हैं.

दिल्ली स्थित पार्टी मुख्यालय में जीत का जश्न मनाते आम आदमी पार्टी के नेता. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) चुनाव में आम आदमी पार्टी (आप) ने बहुमत के आंकड़े को पार करते हुए 134 सीटों पर जीत दर्ज की है, जबकि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने 104 सीट व कांग्रेस ने 9 सीटों पर विजय हासिल की है. तीन निर्दलीय भी निर्वाचित हुए हैं.

राज्य निर्वाचन आयोग ने बुधवार को दोपहर तीन बजे के बाद सभी 250 सीटों पर मतगणना संपन्न होने का ऐलान किया.

वहीं, इससे पहले एमसीडी चुनाव मतगणना के नतीजों में आम आदमी पार्टी को सफलता मिलने के साथ ही पार्टी दफ्तर पर जश्न शुरू हो गया. आप के दफ्तर पर जुटे कार्यकर्ताओं-समर्थकों ने पार्टी के झंडे लहराए. पार्टी नेता गोपाल राय, आतिशी और दुर्गेश पाठक सहित समर्थक और अन्य नेता भी पार्टी कार्यालय में जश्न में शामिल हुए.

सुबह करीब नौ बजे शुरुआती रुझानों में भाजपा 66 सीटों पर और ‘आप’ 30 सीटों पर आगे चल रही थी. मतगणना आगे बढ़ने के साथ ‘आप’ और भाजपा के बीच का अंतर कम होता गया.

चुनाव परिणाम के अनुसार, एमसीडी के कुल 250 वॉर्ड में से आप ने 134, भाजपा ने 104 और कांग्रेस ने 9 वॉर्ड में जीत दर्ज की है. उत्तर पूर्वी दिल्ली के सीलमपुर वॉर्ड से शकीला बेगम समेत तीन निर्दलीय उम्मीदवार भी विजयी रहे हैं.

दिल्ली नगर निगम के लिए चार दिसंबर को मतदान हुआ था.

भाजपा ने दिल्ली में अपनी पार्टी का महापौर बनाने का दावा किया

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने बुधवार को संकेत दिया कि महापौर का चुनाव अब भी बाकी है और चंडीगढ़ में उसके विरोधियों के पास सबसे अधिक सीटें होने के बावजूद महापौर भाजपा का है.

भाजपा के आईटी विभाग के प्रमुख अमित मालवीय ने ट्वीट किया, ‘अब बारी दिल्ली के महापौर के चुनाव की है. यह इस पर निर्भर करेगा कि करीबी मुकाबले में कौन संख्याबल जुटा सकता है, नामांकित पार्षद किस तरीके से वोट करते हैं आदि. उदाहरण के लिए चंडीगढ़ में भाजपा का महापौर है.’

‘आप’ चंडीगढ़ नगर निकाय के 35 वार्ड के चुनाव में 14 सीटें जीतकर सबसे बड़ी पार्टी बनी थी लेकिन उसे बहुमत नहीं मिला था. भाजपा की दिल्ली इकाई के प्रवक्ता तजिंदर पाल सिंह बग्गा ने दावा किया कि शहर में एक बार फिर उनकी पार्टी का महापौर बनेगा.

जीत को ‘आप’ ने बताया बड़ी जिम्मेदारी, भाजपा ने 100 सीटें जिताने पर जताया आभार

आम आदमी पार्टी ने जीत को जनता की जीत और बड़ी जिम्मेदारी बताया है, जबकि भाजपा ने 100 से ज्यादा वॉर्ड में जीत दिलाने के लिए मतदाताओं के प्रति आभार व्यक्त किया है.

दिल्ली के मुख्यमंत्री और ‘आप’ के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने आप की जीत पर दिल्लीवासियों का आभार व्यक्त किया.

केजरीवाल ने पार्टी कार्यालय में समर्थकों को संबोधित करते हुए कहा कि वह लोगों की उम्मीदों पर खरा उतरने की कोशिश करेंगे और दिल्ली को बेहतर बनाने के लिए सभी दलों से एक साथ आने का आग्रह करेंगे.

उन्होंने कहा, ‘हमें दिल्ली की स्थिति में सुधार करना है और भाजपा, कांग्रेस के सहयोग तथा केंद्र व प्रधानमंत्री के आशीर्वाद की भी जरूरत है.’

दीनदयाल उपाध्याय मार्ग स्थित ‘आप’ के मुख्यालय में पार्टी की जीत के बाद अपने संबोधन में केजरीवाल ने कहा, ‘हम सभी को दिल्ली की हालत सुधारनी है और मुझे भाजपा और कांग्रेस सहित सभी के सहयोग की आवश्यकता है. हमें ऐसा करने के लिए सभी के सहयोग की जरूरत है, खासकर केंद्र और प्रधानमंत्री की मदद और आशीर्वाद की.’

‘आप’ के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने कहा कि महज 10 साल पुरानी पार्टी ने देश की सबसे बड़ी पार्टी (भाजपा) को उसी के गढ़ में मात दे दी. उन्होंने कहा, ‘परिणाम ने एक बार फिर साबित कर दिया है कि ‘आप’ एक बेहद ईमानदार पार्टी है.’

सिंह ने कहा कि नतीजे उल्लेखनीय हैं क्योंकि भाजपा ने चुनाव प्रचार के लिए 17 केंद्रीय मंत्रियों सहित कई शीर्ष नेताओं को मैदान में उतारा था.

उन्होंने कहा, ‘भाजपा हमेशा कहती थी कि ‘आप’ ने केवल कांग्रेस को हराया है. आज (दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद) केजरीवाल ने उन्हें जवाब दे दिया है.’

‘आप’ के नेता और दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि उनकी कट्टर ईमानदार पार्टी ने दुनिया की सबसे बड़ी और नकारात्मक पार्टी को हरा दिया.

उन्होंने ट्वीट किया, ‘दिल्ली एमसीडी में आम आदमी पार्टी पर भरोसा करने के लिए दिल्ली की जनता का दिल से आभार. दुनिया की सबसे बड़ी और सबसे ‘नेगेटिव’ पार्टी को हराकर दिल्ली की जनता ने कट्टर ईमानदार और काम करने वाले अरविंद केजरीवाल जी को जिताया है. हमारे लिए ये सिर्फ़ जीत नहीं, बड़ी ज़िम्मेदारी है.’

दूसरी ओर, उत्तर-पूर्वी दिल्ली से भाजपा के सांसद मनोज तिवारी ने ट्वीट किया, ‘लगातार चौथी बार भी इतनी सीटें भाजपा को देकर जो दिल्ली की जनता ने विश्वास दिखाया है, सभी भाई बहनों को धन्यवाद और कार्यकर्ताओं का आभार.’

दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष आदेश गुप्ता ने कहा, ’15 साल की सत्ता विरोधी लहर के बावजूद हमारा प्रदर्शन बेहतर है. हमने नगर निगमों में दिल्ली के लोगों के लिए काम किया लेकिन शायद कुछ लोग खुश नहीं थे. हालांकि भाजपा के खिलाफ कोई गुस्सा नहीं था.’