भारत

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार के कार्यकाल में 3,000 से अधिक मुठभेड़ों में 78 की मौत

उत्तर प्रदेश सरकार ने मुठभेड़ों, अपराधियों की हत्याओं और गिरफ्तारियों के आंकड़ों को उपलब्धियों की सूची में शामिल किया है जिसे गणतंत्र दिवस के अवसर पर प्रचारित किया जाएगा. मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडेय ने गणतंत्र दिवस से पहले सरकार की उपलब्धियों को पत्र के माध्यम से सभी जिलाधिकारियों को भेजा है.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ. (फोटो: पीटीआई)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ. (फोटो: पीटीआई)

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार के 16 महीने के कार्यकाल में राज्य पुलिस ने 3000 से अधिक मुठभेड़ को अंजाम दिया जिसमें कम से कम 78 अपराधियों को मार गिराया गया. योगी आदित्यनाथ ने 19 फरवरी, 2017 को मुख्य़मंत्री का कार्यभार संभाला था. पुलिस महानिदेशक कार्यालय के एक अधिकारी ने कहा कि ये आंकड़े मार्च, 2017 से जुलाई, 2018 के बीच के हैं.

इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, मुठभेड़ों, अपराधियों की हत्याओं और गिरफ्तारियों के आंकड़ों को सरकार की उपलब्धियों की सूची में शामिल किया गया है जिसे गणतंत्र दिवस के अवसर पर राज्य में प्रचारित किया जाएगा. उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव अनूप चंद्र पाण्डेय ने गणतंत्र दिवस से पहले सरकार की उपलब्धियों को पत्र के माध्यम से सभी जिलाधिकारियों को भेजा है.

पत्र में कहा गया है कि अपराधों पर प्रभावी नियंत्रण के लिए राज्यभर में वांटेड अपराधियों की गिरफ्तारियों के लिए अभियान चलाया गया. पत्र के अनुसार, जुलाई 2018 तक प्रदेश में कुल 3,028 मुठभेड़ हुए. इन मुठभेड़ों में 69 अपराधियों को मार गिराया गया, 7043 अपराधियों को गिरफ्तार किया गया और 838 अपराधी घायल हुए. पत्र में दावा किया गया है कि इस दौरान, 11981 अपराधियों ने अपनी जमानत रद्द कराई और अदालत अदालत में आत्मसमर्पण कर दिया.

पत्र में कहा गया है कि स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने नौ अन्य अपराधियों को मार गिराया जबकि 139 को गिरफ्तार किया.

इन आंकड़ों के विश्लेषण से पता चलता है कि इस दौरान प्रतिदिन औसतन छह मुठभेड़ को अंजाम दिया गया जिसमें 14 अपराधी गिरफ्तार हुए. इसके साथ ही, हर महीने कम से कम चार अपराधियों को मार गिराया गया. अपनी सरकार के पहले नौ महीने में 15 दिसंबर, 2017 तक 17 अपराधियों को मार गिराया गया यानी औसतन 1.8 अपराधी हर महीने मारे गए. हालांकि अगले सात महीने में इन आंकड़ों में तेजी से बढ़ोतरी हुई. जनवरी 2018 से जुलाई 2018 तक मुठभेड़ों में 61 अपराधियों को मार गिराया गया यानी की औसतन 8.71 अपराधी हर महीने मारे गए.

पिछले साल इसी तरह से सरकार ने 2018 के गणतंत्र दिवस कार्यक्रम में उपलब्धियां गिनाने वाली एक सूची सभी जिलाधिकारियों को भेजी थी. उस अधिसूचना के अनुसार, 15 दिसंबर, 2017 को सरकार बनने के बाद आत्मरक्षा में की गई कार्रवाई में 17 अपराधी मार गिराए गए थे और 109 को गिरफ्तार किया गया था.

पिछले साल के पत्र में एंटी-रोमियो दस्ते द्वारा लोगों पर दर्ज किए गए मामलों को प्रमुखता दी गई थी. हालांकि इस साल के पत्र में इन आंकड़ों की कोई जानकारी नहीं है. एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि एंटी रोमियो दस्ता काम कर रहा है. उसके तहत की गई कार्रवाई की जानकारी भेजी गई थी लेकिन अज्ञात कारणों से उसे पत्र से हटा दिया गया.

पत्र में सरकार ने इस दौरान किसान कर्ज माफी और इस साल गन्ना किसानों को किए गए भुगतान जैसे उन कामों को भी प्रमुखता दी है जिसे उसने किसानों के लिए शुरू करने का दावा किया है.