दुनिया

यूएन के रूस में मानवाधिकार उल्लंघन पर निगरानी संबंधी प्रस्ताव पर भारत ने वोट नहीं दिया

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में यूरोपीय संघ के देशों द्वारा लाए गए प्रस्ताव में रूस में मानवाधिकार उल्लंघनों पर निगरानी रखने के लिए एक स्वतंत्र विशेषज्ञ की नियुक्ति की बात कही गई थी.

देश में फैली सांप्रदायिकता का वायरस अब अप्रवासी भारतीयों तक पहुंच गया है

भारतीय अप्रवासी राजनीति अब भारत के ही सूरत-ए-हाल का अक्स है. वही ध्रुवीकरण, वही सोशल मीडिया अभियान, वही राजनीतिक और आधिकारिक संरक्षण और वैसी ही हिंसा. असहमति तो दूर की बात है, एक भिन्न नज़रिये को भी बर्दाश्त नहीं किया जा रहा है.

बेलारूस के अधिकार कार्यकर्ता, रूसी समूह और यूक्रेनी संगठन को नोबेल शांति पुरस्कार

साल 2022 के नोबेल शांति पुरस्कार के लिए जेल में बंद बेलारूस के अधिकार कार्यकर्ता एलेस बियालियात्स्की, रूसी मानवाधिकार संगठन ‘मेमोरियल’ और यूक्रेन के संगठन ‘सेंटर फॉर सिविल लिबर्टीज़’ को संयुक्त रूप से चुना गया है.

चीन के उइगर क्षेत्र में मानवाधिकार की स्थिति पर मसौदा प्रस्ताव पर मतदान से भारत ने किया परहेज

मानवाधिकार समूहों का आरोप है कि जिनजियांग क्षेत्र में चीन ने 10 लाख से अधिक उइगरों को उनकी इच्छा के विरुद्ध कथित ‘पुनर्शिक्षा शिविरों’ में हिरासत में रखा है. चीन ने आरोपों का खंडन करता रहा है.

फ्रांसीसी लेखक एनी एरनॉक्स ने जीता साहित्य में नोबेल पुरस्कार

नोबेल पुरस्कार समिति ने कहा कि 82 वर्षीय एनी एरनॉक्स लगातार और विभिन्न एंगलों से लिंग, भाषा और वर्ग के संबंध में मजबूत असमानताओं द्वारा चिह्नित जीवन की पड़ताल कर रही हैं. वह साहित्य का नोबेल जीतने वाली पहली फ्रांसीसी महिला हैं.

यूएनएचआरसी ने श्रीलंका के ख़िलाफ़ प्रस्ताव स्वीकार किया, भारत ने मतदान में भाग नहीं लिया

संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद ने श्रीलंका में सुलह, जवाबदेही और मानवाधिकारों को बढ़ावा देने के लिए एक मसौदा प्रस्ताव को स्वीकार किया. इस प्रस्ताव में महत्वपूर्ण यह है कि इसमें श्रीलंका के मौजूदा आर्थिक संकट की जांच करने और ज़िम्मेदार लोगों पर मुक़दमा चलाने की मांग की गई है. 

भारत निर्मित कफ सीरप पीने से गांबिया में 66 बच्चों की मौत, डब्ल्यूएचओ की चेतावनी के बाद जांच शुरू

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने बताया कि हरियाणा की मेडन फार्मास्युटिकल्स लिमिटेड द्वारा बनाई गईं खांसी की चार दवाओं में डायथिलिन ग्लाइकॉल और एथिलीन ग्लाइकॉल नामक पदार्थ पाए हैं, जो मनुष्यों के लिए ज़हरीले माने जाते हैं. 

थाईलैंड: पूर्व पुलिसकर्मी ने चाइल्ड केयर सेंटर में गोलीबारी की, 22 बच्चों समेत 38 की मौत

पुलिस के मुताबिक़, हमलावर एक पूर्व पुलिसकर्मी है जिसे बीते वर्ष ड्रग्स के आरोप में पद से बर्ख़ास्त किया गया था. चाइल्ड केयर सेंटर में ख़ून-ख़राबा करने के बाद वह कार से सड़क पर गोलीबारी करता हुआ अपने घर पहुंचा, जहां अपनी पत्नी-बच्चे की हत्या करके आत्महत्या कर ली.

कोविड-19: देश में संक्रमण के 2,468 नए मामले सामने आए, 17 लोगों की मौत

भारत में कोविड-19 संक्रमण के कुल मामलों की संख्या 4,46,01,934 है और इस महामारी से जान गंवाने वालों का आंकड़ा 5,28,733 है. विश्व में संक्रमण के 61.92 करोड़ से ज़्यादा मामले दर्ज किए गए हैं और अब तक 65.50 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है.

मेक्सिको: राष्ट्रपति के पेगासस इस्तेमाल न करने के वादे के बाद भी पत्रकार-कार्यकर्ता बने निशाना

मेक्सिको के राष्ट्रपति एंड्रेस मैनुअल लोपेज़ ओब्राडोर ने 2018 में सत्ता संभालने के बाद घोषणा की थी कि उनकी सरकार में पेगासस स्पायवेयर का दुरुपयोग नहीं होगा, लेकिन सिटिज़न लैब की हालिया रिपोर्ट बताती है कि दो पत्रकारों और एक मानवाधिकार कार्यकर्ता को उनके कार्यकाल में स्पायवेयर से निशाना बनाया गया.

इंडोनेशिया में फुटबॉल मैच के दौरान मची भगदड़ में 174 लोगों की मौत

इंडोनेशिया में इंडोनेशियाई प्रीमियर लीग के एक मैच में अपनी टीम की हार के बाद स्थानीय प्रशंसक मैदान के अंदर घुस गए, जिन्हें नियंत्रित करने के लिए पुलिस द्वारा आंसू गैस के गोले छोड़े गए. इससे भगदड़ मच गई और निकासी द्वार से बाहर निकलने के प्रयास में दम घुटने और कुचलने से लोगों की मौत हो गई.

अमेरिकी ह्विसिलब्लोअर एडवर्ड स्नोडेन को रूस की नागरिकता मिली

अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी से जुड़ी कुछ ख़ुफ़िया फाइल लीक करने के आरोपों का सामना कर रहे एजेंसी के पूर्व कर्मचारी एडवर्ड स्नोडेन 2013 से रूस में रह रहे हैं. 2020 में रूस ने उन्हें स्थायी निवासी का अधिकार दिया था.

ईरान: पुलिस हिरासत में महिला की मौत को लेकर प्रदर्शन तेज़, सरकारी टीवी ने मृतक संख्या 26 बताई

ईरान की मोरलिटी पुलिस ने पिछले हफ्ते 22 वर्षीय युवती महसा अमीनी को सख़्ती से लागू किए गए ड्रेस कोड का कथित रूप से उल्लंघन करने के लिए गिरफ़्तार किया गया था. हिरासत के दौरान तीन दिन बाद अमीनी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी, जिसके बाद से ईरान में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए हैं.

कनाडा में तथाकथित ख़ालिस्तानी जनमत संग्रह से नाराज़ भारत ने कहा- सतर्क रहें भारतीय नागरिक

कनाडा में हुए ‘तथाकथित ख़ालिस्तानी जनमत संग्रह’ को आपत्तिजनक बताने के बाद भारत ने कनाडा में बढ़ते हेट क्राइम और भारत विरोधी गतिविधियों से जुड़ी घटनाओं में तीव्र वृद्धि का हवाला देते हुए वहां रह रहे भारतीय नागरिकों और छात्रों को सचेत रहने की सलाह दी है.