अवॉर्ड वापसी

सुरजीत पातर. (फोटो: विकिपीडिया)

किसान आंदोलन: मशहूर पंजाबी कवि सुरजीत पातर ने भी पद्मश्री पुरस्कार लौटाने की घोषणा की

सुरजीत पातर पंजाब के चौथे व्यक्ति हैं, जिन्होंने किसान आंदोलन के समर्थन में पद्म पुरस्कार लौटाने की घोषणा की है. पंजाब के कई खेल हस्तियों ने भी अपने अवार्ड लौटाने की बात कही है.

बॉक्सर विजेंदर सिंह नए कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली के सिंघू बॉर्डर पर किसान आंदोलन में शामिल हुए. (फोटो: पीटीआई)

मुक्केबाज़ विजेंदर सिंह ने कहा, कृषि क़ानून रद्द नहीं हुए तो खेलरत्न अवॉर्ड लौटा दूंगा

पूर्व राष्ट्रीय बॉक्सिंग कोच गुरबक्स सिंह संधू ने भी द्रोणाचार्य पुरस्कार वापस करने की बात कही थी. इसके अलावा पद्मश्री और अर्जुन अवॉर्ड से सम्मानित कुछ खिलाड़ियों ने भी अपने सम्मान लौटाने की बात कही है. पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने नए कृषि क़ानूनों के विरोध में बीते दूसरे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म विभूषण को लौटा दिया है.

प्रकाश सिंह बादल. (फोटो: पीटीआई)

पंजाब: पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने कृषि क़ानूनों के विरोध में पद्म पुरस्कार लौटाया

इससे पहले पद्मश्री और अर्जुन अवॉर्ड सम्मानित सहित कई पूर्व खिलाड़ियों ने भी अपने सम्मान लौटाने की बात कही है. केंद्र सरकार द्वारा पारित किए गए विवादित कृषि क़ानूनों के ख़िलाफ़ किसान बीते 26 नवंबर से दिल्ली की विभिन्न सीमाओं पर प्रदर्शन कर रहे हैं.

New Delhi: Farmers stage a protest at Singhu border during their Delhi Chalo march against the Centres new farm laws, in New Delhi, Tuesday, Dec. 1, 2020. (PTI Photo/Ravi Choudhary)(PTI01-12-2020 000073B)

किसानों के समर्थन में पद्मश्री और अर्जुन पुरस्कार विजेता खिलाड़ियों ने सम्मान लौटाने को कहा

जिन खिलाड़ियों ने ये घोषणा की है, उनमें पद्मश्री और अर्जुन अवॉर्ड विजेता पहलवान करतार सिंह, अर्जुन अवॉर्ड से सम्मानित खिलाड़ी सज्जन सिंह चीमा और अर्जुन अवॉर्ड से ही सम्मानित हॉकी खिलाड़ी राजबीर कौर शामिल हैं.

साहित्यकार नयनतारा सहगल (फाइल फोटो: Wikimedia Commons)

हमें आज़ादी और फासीवाद के बीच चुनाव करने की जरूरत है: नयनतारा सहगल

लेखिका नयनतारा सहगल ने कहा कि आज हम एक ऐसी स्थिति में हैं जो कि संवैधानिक तौर पर एक लोकतंत्र है लेकिन उसमें तानाशाही के सभी गुण मौजूद हैं.

साहित्यकार नयनतारा सहगल (फाइल फोटो: Wikimedia Commons)

मराठी साहित्य सभा: आयोजकों ने साहित्यकार नयनतारा सहगल को कार्यक्रम में आने से मना किया

यवतमाल में 11 जनवरी से शुरू होने वाले इस कार्यक्रम का उद्घाटन अंग्रेज़ी की प्रख्यात लेखिका नयनतारा सहगल को करना था. रविवार को आयोजकों ने ‘अपरिहार्य कारणों’ का हवाला देते हुए उनका आमंत्रण वापस ले लिया.

(फोटो: रॉयटर्स)

क्या जनता के रूप में आपने बिल्कुल सोचना बंद कर दिया है?

एक केंद्रीय मंत्री जिसे इस वक़्त पेट्रोल-डीज़ल के बढ़ते दामों को कम करने के लिए प्रयासरत होना चाहिए था तो वह विरोधी पक्ष के एक नेता के ज़मानत के दिन गिन रहा है. उनकी भाषा ट्रोल की तरह हो गई है.

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह (फोटो: twitter/@AmitShah)

‘अख़लाक़’ हुआ तब जीते, ‘अवॉर्ड वापसी’ हुई तब भी जीते, अब कुछ करेंगे तो भी जीतेंगे: अमित शाह

राजस्थान की राजधानी जयपुर में हुई सभा में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि भाजपा का संकल्प है कि एक भी बांग्लादेशी घुसपैठिये को भारत में रहने नहीं देंगे, चुन-चुन कर निकाल देंगे.

Prakash Raj Facebook

मोदी मुझसे बड़े अभिनेता, मैं अपने राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार उन्हें देना चाहता हूं: प्रकाश राज

बाद में अभिनेता ने कहा, ‘मैं मूर्ख नहीं हूं कि ख़ुद को मिले राष्ट्रीय पुरस्कार लौटा दूं. यह मुझे मेरे काम की वजह से मिला है और मुझे इस पर गर्व है.’

sahitya-akadami-purshakar

साहित्य अकादमी सम्मान पाने वाले इसे लौटा नहीं सकते: उच्च न्यायालय

दिल्ली उच्च न्यायालय ने कहा कि साहित्य अकादमी के संविधान में एक बार दिया सम्मान वापस लौटाने का प्रावधान ही नहीं है.