आईआईएमसी

IIMC Student Protest

आईआईएमसी: छात्रों की कॉलेज खोलने की मांग, ऑनलाइन क्लास का बहिष्कार किया

नई दिल्ली स्थित भारतीय जनसंचार संस्थान के छात्रों का कहना है कि पहला सेमेस्टर ऑनलाइन कर लिया है पर दूसरे सेमेस्टर से कैंपस में बुलाया जाना चाहिए क्योंकि ऑनलाइन पढ़ने की कुछ सीमाएं हैं. प्रशासन द्वारा मांगों पर ध्यान न देने की बात कहते हुए छात्रों ने सोमवार से कैंपस में धरना शुरू कर दिया है.

अनिल कुमार सौमित्र. (फोटो: फेसबुक/वीटी प्रमोद कुमार)

गांधी को ‘पाकिस्तान का राष्ट्रपिता’ कहने वाले भाजपा नेता आईआईएमसी के प्रोफेसर नियुक्त

मध्य प्रदेश भाजपा के पूर्व मीडिया सेल प्रभारी अनिल कुमार सौमित्र को आईआईएमसी में नियुक्त किया गया है. इससे पहले प्रदेश में भाजपा के मुखपत्र चरैवेती के संपादक के पद से 2013 में सौमित्र को तब निलंबित कर दिया गया था जब उन्होंने चर्च में रह रहीं ननों को लेकर एक विवादास्पद लेख लिखा था.

(फोटो साभार: फेसबुक)

‘संयोग है कि गोशाला खोलने का निर्णय तब लिया जब राजनीति गाय के इर्द​​​​-गिर्द केंद्रित है​​​​’

पत्रकारिता विश्वविद्यालयों को चढ़ा बाबागिरी का बुखार. आईआईएमसी में हवन के बाद अब माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय करेगा गोसेवा.

iimc

आईआईएमसी में अब संस्कृत में भी पढ़ाई जाएगी पत्रकारिता

भारतीय जनसंचार संस्थान उर्दू, मराठी, मलयालम, मराठी के बाद संस्कृत में पत्रकारिता का तीन महीने का शॉर्ट टर्म कोर्स शुरू करने जा रहा है.

iimc

आईआईएमसी के 11 शिक्षकों में से आठ ने महानिदेशक के ख़िलाफ़ खोला मोर्चा

शिक्षकों ने पत्र लिखकर आरोप लगाया कि केजी सुरेश की अध्यक्षता में आईआईएमसी प्रशासन काफी मनमाना, अपारदर्शी और कामचलाऊ हो गया है.

भारतीय जनसंचार संस्थान के बाहर यज्ञ कराने और बस्तर के पूर्व आईजी एसआरपी कल्लूरी को बुलाने के विरोध करते छात्र. (फोटो: पीटीआई)

मीडिया का एक वर्ग माफिया की तरह व्यवहार कर रहा है: आईआईएमसी प्रमुख

आईआईएमसी के महानिदेशक केजी सुरेश ने परिसर में यज्ञ कराने और विवादित आईजी एसआरपी कल्लूरी को आमंत्रित करने का किया बचाव.

भारतीय जनसंचार संस्थान, नई दिल्ली (फोटो: आईआईएमसी)

आईआईएमसी कराएगा यज्ञ, आईजी कल्लूरी देंगे वंचितों के सवाल पर भाषण

लगातार विवादों में घिरा सरकारी पत्रकारिता संस्थान आईआईएमसी अब परिसर के भीतर यज्ञ आयोजित कर रहा है जिसमें आरएसएस मुखपत्र पाञ्चजन्य के प्रकाशक भी शामिल होंगे.